ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRनोएडा में यूनिटेक के 6 हजार फ्लैट और प्लॉट बनने का रास्ता साफ, इन सेक्टरों में फिर शुरू होंगे 10 प्रोजेक्ट

नोएडा में यूनिटेक के 6 हजार फ्लैट और प्लॉट बनने का रास्ता साफ, इन सेक्टरों में फिर शुरू होंगे 10 प्रोजेक्ट

नोएडा प्राधिकरण ने यूनिटेक बिल्डर को बीते सालों में अलग-अलग जगहों पर करीब 179 हेक्टेयर जमीन आवंटित की थी। खास बात यह कि इसमें से करीब 90 हेक्टेयर जमीन अभी खाली पड़ी हुई है।

नोएडा में यूनिटेक के 6 हजार फ्लैट और प्लॉट बनने का रास्ता साफ, इन सेक्टरों में फिर शुरू होंगे 10 प्रोजेक्ट
Praveen Sharmaनोएडा। हिन्दुस्तानTue, 11 Jun 2024 06:47 AM
ऐप पर पढ़ें

नोएडा में यूनिटेक बिल्डर की आधा दर्जन सेक्टरों में स्थित करीब 10 परियोजनाओं में छह हजार फ्लैट और प्लॉट बनने का रास्ता साफ हो गया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर नोएडा प्राधिकरण ने बिल्डर से बिना बकाया लिए परियोजनाओं के संशोधित नक्शे पास कर दिए हैं। अब इन परियोजनाओं में काम शुरू हो जाएगा, ताकि जल्द लोगों को अपने फ्लैट मिल सकेंगे।

परियोजनाओं में करीब 8-9 साल से काम बंद पड़ा था। करीब 16 साल से लोग फ्लैट पाने का इंतजार कर रहे हैं। वर्ष 2006-07 में नोएडा प्राधिकरण ने यूनिटेक को जमीन आवंटित करनी शुरू की थी। प्राधिकरण ने सेक्टर-96, 97, 98, 113 और 117 में अलग-अलग परियोजनाओं के लिए जमीन आवंटित की। जमीन आवंटन होने के कुछ साल बाद बिल्डर ने प्राधिकरण को जमीन की कीमत देनी बंद कर दी। इससे बिल्डर पर बकाया बढ़ता गया। इस बीच कुछ साल किसी मामले में वर्ष यूनिटेक के चेयरमैन सहित अन्य लोग जेल चले गए।

कुछ साल से मामला बिल्डर व नोएडा प्राधिकरण के बीच सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन था। कोर्ट ने कुछ बिंदुओं पर बिल्डर के पक्ष में फैसला सुनाया। इसके बाद प्राधिकरण ने पुनर्विचार याचिका दायर की, उसमें भी प्राधिकरण के पक्ष में फैसला नहीं आया। ऐसे में अब नोएडा प्राधिकरण ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए बिल्डर की परियोजनाओं के नक्शे पास करने शुरू कर दिए हैं। अधिकारियों ने बताया कि बिल्डर ने परियोजना लॉन्च करते समय पहले नक्शे पास करा लिए थे, लेकिन इनकी समय सीमा पांच साल होती है। यह समय बीत चुका है। ऐसे में बिल्डर से नए तरीके से नक्शे के लिए आवेदन लेकर मंजूरी दी गई है।

प्राधिकरण अधिकारियों ने बताया कि सेक्टर-96, 97, 98 में ग्रुप हाउसिंग के अलावा विलोज 1 और 2 के नाम से भूखंड की स्कीम भी है। इन सेक्टर में मुख्य रूप से यूनिटेक गोल्फ एंड कंट्री क्लब, अंबर, बरगंडी आदि परियोजना में 897 फ्लैट और प्लॉट शामिल हैं। सेक्टर-113 में 6 ग्रुप हाउसिंग परियोजनाएं हैं जिनमें 1621 फ्लैट हैं। सेक्टर-117 में अलग-अलग परियोजना में 3327 फ्लैट बनने प्रस्तावित हैं।

179 में से 90 हेक्टेयर जमीन खाली पड़ी

प्राधिकरण ने बिल्डर को बीते सालों में अलग-अलग जगह करीब 179 हेक्टेयर जमीन आवंटित की थी। खास बात यह कि इसमें से करीब 90 हेक्टेयर जमीन अभी खाली पड़ी हुई है। महत्वपूर्ण यह है कि प्राधिकरण ने अपना बकाया लेने के लिए सुप्रीम कोर्ट में खाली पड़ी जमीन का आवंटन निरस्त कर अपने कब्जे में लेने की भी तर्क दिया था, लेकिन बात नहीं बनी।