DA Image
6 जून, 2020|8:04|IST

अगली स्टोरी

कोरोना का खौफ : बीमारी के डर से दो डॉक्टर बिन बताए ड्यूटी छोड़कर भागे

coronavirus  ht file photo

कोरोनावायरस (COVID-19) को देश और दुनियाभर में महामारी घोषित किए जाने के बाद हर कोई अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित है, फिर वो मरीज हों या डॉक्टर। हर व्यक्ति संक्रमित लोगों से दूर रहकर इस बीमारी से बचना चाहता है। इसको लेकर सरकार की ओर से जहां डॉक्टरों को विशेष रूप से निगरानी रखने और सतर्कता बरतने के लिए कहा गया है। वहीं, लोगों से भी बिना जरूरी कारण घरों से नहीं निकलने की अपील की गई है। 

वैश्विक आपदा के इस दौर में गाजियाबाद के कुछ सरकारी डॉक्टर इस घातक बीमारी से अपना अपना बचाव करते हुए ड्यूटी छोड़कर ही चले गए। इसकी जानकारी मिलते ही अस्पताल में हड़कंप मच गया। 

दरअसल, स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना को लेकर गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल और संयुक्त जिला चिकित्सालय में हेल्प डेस्क तैयार की गई है। इसमें मरीज या अन्य व्यक्ति डॉक्टर से संपर्क कर अपनी बीमारियों के लक्षण साझा कर सकते हैं। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत डॉक्टरों को तैनात किया गया था।

हाथ धोए बिना खाना देने पर रेस्टोरेंट्स और होटल का लाइसेंस होगा रद्द

एमएमजी अस्पताल में हेल्प डेस्क पर सीनियर पैथोलॉजिस्ट को तैनात किया गया था। लैब प्रभारी को अस्पताल के आइसोलेशन में भर्ती मरीज का सैंपल लेने को कहा गया था, जिसके बाद वह बिना सूचना दिए अस्पताल से नदारद हो गईं। इसके बाद संक्रामक रोग विभाग से टीम बुलाकर मरीजों के सैंपल लिए जा सके। वहीं, कोरोना हेल्प डेस्क पर तैनात सीनियर डॉक्टर की ओर से बीमार होने की बात कहते हुए बुधवार को ड्यूटी पर आने से इनकार कर दिया गया।

HCL के कर्मचारी में भी कोरोना की पुष्टि, विदेश से लौटा था व्यक्ति

एमएमजी अस्पताल के सीएमएस डॉ. रविंद्र राणा ने बताया कि दोनों डॉक्टरों के संबंध में सीएमओ को सूचना दे दी गई है। सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता ने कहा कि मेडिकल स्टाफ की छुट्टियों पर रोक लगाई गई है। यदि कोई इस तरह से छुट्टी लेता है तो उसकी सूचना शासन को भेजी जाएगी।

युवती की रिपोर्ट निगेटिव आई

गाजियाबाद। संयुक्त जिला अस्पताल में सोमवार को संदिग्ध मरीजों के साथ भर्ती हुई युवती मंगलवार को चिकित्सक को बिना बताए अपने घर चली गई थी, जिसके बाद अस्पताल में काफी हंगामा हो गया। हालांकि दोपहर बाद पुलिस की मदद से उसको अस्पताल लेकर आया गया। वहीं बुधवार को युवती की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उसको डिस्चार्ज कर दिया गया। यूएसए से लौटने के बाद सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से युवती को संयुक्त जिला अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। जहां युवती का ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। मंगलवार को युवती चिकित्सक को बिना बताए अस्पताल परिसर छोड़कर भाग गई थी, जिसके बाद अस्पताल में हंगामा मच गया था। थी, जिसके संबंध में पुलिस को सूचना दी गई थी।

भारत में कोरोना वायरस से 169 लोग संक्रमित

देश के विभिन्न हिस्सों से कोरोना वायरस के 18 नए मामले सामने आने के बाद भारत में इससे संक्रमित लोगों की संख्या गुरुवार को 169 हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इन लोगों में 25 विदेश नागारिक भी शामिल हैं, जिनमें से 17 इटली, तीन फिलीपीन, दो ब्रिटेन और कनाडा, इंडोनेशिया तथा सिंगापुर के एक-एक नागरिक हैं। इन आंकड़ों में दिल्ली, कर्नाटक और महाराष्ट्र में वायरस से मारे गए तीन लोग भी शामिल हैं। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि भारत में कोविड-19 से अभी 151 लोग संक्रमित हैं। उन्होंने बताया कि अन्य 15 लोग वे हैं, जो ठीक हो गए हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है, जबकि तीन लोगों की मौत हो गई है।

दिल्ली में अभी तक एक विदेशी सहित 12 लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं। वहीं उत्तर प्रदेश में भी एक विदेशी सहित 17 मामले सामने आए हैं। महाराष्ट्र में तीन विदेशियों समेत 45 मामले सामने आए हैं जबकि केरल में दो विदेशी नागरिकों समेत 27 मामले दर्ज किए गए हैं। कर्नाटक में कोरोना वायरस के 14 मरीज हैं। लद्दाख में संक्रमण के मामले बढ़कर आठ हो गए हैं और जम्मू-कश्मीर में इसकी संख्या बढ़कर चार हो गई है। तेलंगाना में दो विदेशियों समेत छह मामले सामने आए हैं। 

राजस्थान में दो विदेशियों समेत सात लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। तमिलनाडु में दो मामले सामने आए हैं। वहीं आंध्र प्रदेश, ओडिशा, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, पुडुचेरी, चंडीगढ़ और पंजाब में एक-एक मामला सामने आया है। हरियाणा में 14 विदेशियों समेत 17 लोग संक्रमित हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Two doctors of ghaziabad hospital ran away from duty without information due to fear of coronavirus