Transport Strike in Delhi : Patients requesting outside the hospital auto drivers refuses - चक्का जाम : अस्पताल के बाहर अनुरोध करते मरीज, ऑटो वालों ने किया इनकार DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चक्का जाम : अस्पताल के बाहर अनुरोध करते मरीज, ऑटो वालों ने किया इनकार

auto strike in delhi ncr

बढ़े जुर्माने के खिलाफ ऑटो और टैक्सी वालों की हड़ताल का असर नई दिल्ली क्षेत्र में भी दिखाई दिया। इस इलाके में ऑटो तो चलते रहे लेकिन यहां से बाहर के क्षेत्रों में जाने के लिए ऑटो चालकों ने लोगों से साफ इनकार कर दिया। केंद्र सरकार के राम मनोहर लोहिया अस्पताल के बाहर लगभग एक दर्जन ऑटो खड़े थे लेकिन इनमें से कोई भी मरीजों या अन्य लोगों को दूर के इलाकों में ले जाने के लिए तैयार नहीं था। 

कंधे में चोट लगी लेकिन नहीं मिला ऑटो
राम मनोहर लोहिया अस्पताल, समय 1:40 बजे
पीरागढ़ी के रहने वाले अशोक के कंधे में चोट लगी है। उनके कंधे में डॉक्टरों ने तार डाला है और हाथ पर प्लास्टर चढ़ा है। वे गुरुवार को डॉक्टरों के दिखाने अस्पताल आए थे लेकिन जाते वक्त उन्होंने सभी ऑटो वालों से अनुरोध किया कि उन्हें पीरागढ़ी छोड़ दें लेकिन सभी ने इनकार कर दिया। उन्हें बताया गया कि वे नजदीकी मेट्रो स्टेशन छोड़ सकते हैं। अगर पीरागढ़ी या किसी अन्य दूर के इलाके गए तो यूनियन के लोग उनके ऑटो पर हमला कर सकते हैं। इस वजह से वे बाहर नहीं जा रहे। स्वाति को भी अपनी बीमार मां को ले जाने के लिए ऑटो नहीं मिला। 


मिंटो रोड पर एक एक घंटे तक खड़े रहे
समय, 12 बजे
जामिया नगर के रहने वाले मोहम्मद कासिम मिंटो रोड से अपने घर वापस जाना चाहते थे। उन्हें न तो बस मिली और न ही कोई ऑटो वाला जाने के लिए तैयार हुआ। उन्होंने बताया कि पिछले एक घंटे से खड़े हुए हैं लेकिन कोई जाने के लिए तैयार नहीं है। कासिम ने बताया कि ऑटो वालों को कहते हैं कि जामिया चलो तो वे कहते हैं कि रास्ते में निजामुद्दीन पर यूनियन के लोग और अन्य ऑटो वाले खड़े हैं जो हड़ताल में ऑटो चलाने की वजह से उनके ऑटो को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

कनॉट प्लेस से कैब भी नहीं मिलीं 
सुशांत कनॉट प्लेस में अपने मित्र से मिलने आए थे। उन्होंने मयूर विहार जाने के लिए करीब 11 बजे कैब बुक की लेकिन ओला एप पर काफी देर तक कैब नहीं मिल सकीं। इसी तरह राम मनोहर लोहिया अस्पताल के बाहर भी कई लोगों ने बताया कि यहां भी एप पर कैब बुक नहीं हो पा रही है। कनॉट प्लेस से 11 बजे, तीन बजे और शाम पांच बजे कैब बुक करने पर कोई वाहन नहीं मिला। 

लुटियंस दिल्ली में चलते रहे ऑटो
कनॉट प्लेस और इसके आसपास के क्षेत्रों में ऑटो चलते रहे। इन इलाकों में मौजूद ऑटो चालक आसपास के क्षेत्रों की सवारी ही ले रहे थे। बाराखंभा रोड पर खड़े ऑटो चालकों ने कहा कि हम कनॉट प्लेस और इसके आसपास के इलाकों में ही सवारी ले जा सकते हैं। इस क्षेत्र से बाहर निकलने पर ऑटो यूनियन के लोग उनके ऑटो को नुकसान पहुंचा सकते हैं। एक ऑटोचालक ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि उन्हें ऐसी सूचनाएं मिल रही हैं कि यूनियन के लोग और अन्य ऑटो चालक हड़ताल का पालन न करने वाले ऑटो को नुकसान पहुंचा रहे हैं। कहीं ऑटो नाले में गिराने की सूचना तो कहीं ब्लेड से ऑटो की छत फाड़ने की सूचना से ऑटो चालक घबराए हुए थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Transport Strike in Delhi : Patients requesting outside the hospital auto drivers refuses