ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR...तो 5 जून को तिहाड़ से बाहर आ जाऊंगा, पार्षदों से क्यों बोले अरविंद केजरीवाल

...तो 5 जून को तिहाड़ से बाहर आ जाऊंगा, पार्षदों से क्यों बोले अरविंद केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि जेल में उन्हें तोड़ने और अपमानित करने की कोसिश की गई। केजरीवाल ने दावा किया, 'तिहाड़ जेल में मेरे सेल में 2 सीसीटीवी कैमरे थे और 13 अधिकारी फीड को मॉनिटर कर रहे थे

...तो 5 जून को तिहाड़ से बाहर आ जाऊंगा, पार्षदों से क्यों बोले अरविंद केजरीवाल
Nishant Nandanपीटीआई,नई दिल्लीMon, 13 May 2024 02:17 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल' (Arvind Kejriwal)  ने सोमवार को कहा कि चुनाव नतीजों के ऐलान के बाद अगर INDIA bloc की सरकार सत्ता में आती है तो वो 5 जून को तिहाड़ जेल से बाहर आ जाएगे। अरविंद केजरीवाल को दिल्ली के कथित आबकारी नीति घोटाले (Excise Policy Scam) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के केस में गिरफ्तार किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल को लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए 1 जून तक अंतरिम जमानत दी है। केजरीवाल को 2 तारीख को सरेंडर करना होगा और जेल वापस जाा होगा। 1 तारीख को लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का मतदान है और वोटों की गिनती 4 जून को होगी। 

आम आदमी पार्टी के पार्षदों को संबोधित करते हुए हुए केजरीवाल ने कहा कि तिहाड़ जेल में उन्हें तोड़ने और अपमानित करने की कोसिश की गई। केजरीवाल ने दावा किया, 'तिहाड़ जेल में मेरे सेल में 2 सीसीटीवी कैमरे थे और 13 अधिकारी फीड को मॉनिटर कर रहे थे। यह भी बताया गया कि सीसीटीवी फीड को PMO द्वारा मॉनिटर किया जा रहा था। मोदी जी मुझे मॉनिटर कर रहे थे। मुझे नहीं पता है कि मोदी जी को मुझसे क्या शिकायत है।'

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि  AAP नेताओं को जनता सम्मान औऱ प्यार दे रही है और हमारे काम से बीजेपी डरी हुई है। केजरीवाल ने कहा, 'मुझे 2 जून को वापस जेल जाना है। मैं जेल के अंदर ही 4 जून को चुनाव के नतीजों को देखूंगा। अगर INDIA bloc सत्ता में आती है तो मैं 5 जून को वापस आ जाऊंगा।'

केजरीवाल ने कहा, 'BJP वालों ने मुझे यह सोचकर जेल भेजा था कि इससे आम आदमी पार्टी के विधायकों, पार्षदों और कार्यकर्ताओं को तोड़ देंगे। दिल्ली और MCD में सरकार गिरा देंगे। इनकी मंशा नाकाम हो गई और इससे हमारी पार्टी और भी संगठित और मजबूत हो गई। AAP केवल एक पार्टी ही नहीं बल्कि एक परिवार और विचार है, जिसे तोड़ना असम्भव है।

आपको बता दें कि इससे पहले अऱविंद केजरीवाल ने रविवार को आम आदमी पार्टा के विधायकों संग बैठक की थी। इस बैठक में सीएम ने पार्टी विधायकों का इस बात के लिए शुक्रिया अदा किया था कि मुश्किल वक्त में भी वो टूटे नहीं।