ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRतिहाड़ प्रशासन का दावा, केजरीवाल ने AIIMS के विशेषज्ञों से नहीं की इंसुलिन की जरूरत पर बात

तिहाड़ प्रशासन का दावा, केजरीवाल ने AIIMS के विशेषज्ञों से नहीं की इंसुलिन की जरूरत पर बात

तिहाड़ जेल प्रशासन का एक ताजा बयान सामने आया है। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने बताया कि सीएम अरविंद केजरीवाल ने एम्स के वरिष्ठ डॉक्टरों के साथ बातचीत में इंसुलिन का मुद्दा नहीं उठाया है।

तिहाड़ प्रशासन का दावा, केजरीवाल ने AIIMS के विशेषज्ञों से नहीं की इंसुलिन की जरूरत पर बात
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 22 Apr 2024 12:43 AM
ऐप पर पढ़ें

जेल में केजरीवाल को इंसुलिन उपलब्ध कराने को लेकर जारी सियासत के बीच तिहाड़ जेल प्रशासन का एक ताजा बयान सामने आया है। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने रविवार को बताया कि जेल प्रशासन ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की एम्स के वरिष्ठ विशेषज्ञों के बीच एक वीडियो कॉन्फ्रेंस की व्यवस्था कराई। इस दौरान ना तो अरविंद केजरीवाल ने इंसुलिन का मुद्दा उठाया और ना ही डॉक्टरों ने सीएम को इंसुलिन देने का सुझाव दिया। यह घटनाक्रम ऐसे वक्त में सामने आया है जब AAP ने तिहाड़ प्रशासन पर शुगर से पीड़ित केजरीवाल को इंसुलिन देने से इनकार करने का आरोप लगाया है।

तिहाड़ प्रशासन ने रविवार को अपने बयान में कहा कि एम्स के वरिष्ठ विशेषज्ञों ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए केजरीवाल को डॉक्टरी सलाह मुहैया कराई। इस घटनाक्रम से अवगत एक जेल अधिकारी ने बताया कि अरविंद केजरीवाल और एम्स के विशेषज्ञों के बीच डॉक्टरी सलाह लगभग 40 मिनट तक चली। डॉक्टरों ने केजरीवाल को बताया कि कोई गंभीर चिंता की बात नहीं है। डॉक्टरों की ओर से केजरीवाल को निर्धारित दवाएं जारी रखने की सलाह दी गई। इसका मूल्यांकन और समीक्षा नियमित रूप से की जाएगी।

पीटीआई भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल के अनुरोध पर तिहाड़ जेल प्रशासन द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंस की यह व्यवस्था की गई थी। एम्स विशेषज्ञ को सीजीएम (ग्लूकोज मॉनिटरिंग सेंसर) का पूरा रिकॉर्ड और केजरीवाल की ओर से लिए जा रहे आहार और दवाओं का विवरण साझा किया गया। तिहाड़ जेल के एक अधिकारी ने बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान ना तो केजरीवाल ने इंसुलिन का मसला उठाया और ना ही डॉक्टरों ने इंसुलिन का सुझाव ही दिया। 

सनद रहे एक दिन पहले तिहाड़ जेल प्रशासन ने उपराज्यपाल वीके सक्सेना को सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि केजरीवाल काफी पहले से इंसुलिन नहीं ले रहे हैं। दिल्ली सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने इस रिपोर्ट को झूठ का पुलिंदा बताते हुए रविवार को तिहाड़ जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि सीएम की बढ़ी शुगर रिपोर्ट को छिपाकर उन्हें इंसुलिन और डॉक्टर उपलब्ध नहीं कराने की साजिश रची जा रही है। जेल में केजरीवाल को मारने की कोशिश की जा रही है।