ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRकांग्रेस से गठबंधन किया तो 3-4 दिन में केजरीवाल की गिरफ्तारी, AAP ने कर दिया नया दावा

कांग्रेस से गठबंधन किया तो 3-4 दिन में केजरीवाल की गिरफ्तारी, AAP ने कर दिया नया दावा

आम आदमी पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर एक और बड़ा आरोप जड़ दिया है। दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी की ओर से कहा गया है कि उन्हें कांग्रेस से गठबंधन तोड़ने के लिए कहा जा रहा है।

कांग्रेस से गठबंधन किया तो 3-4 दिन में केजरीवाल की गिरफ्तारी, AAP ने कर दिया नया दावा
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 22 Feb 2024 05:30 PM
ऐप पर पढ़ें

आम आदमी पार्टी (आप) ने भारतीय जनता पार्टी पर एक और बड़ा आरोप जड़ दिया है। दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी की ओर से कहा गया है कि उन्हें कांग्रेस से गठबंधन तोड़ने के लिए कहा जा रहा है। दिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी ने गुरुवार को दावा किया कि कांग्रेस से गठबंधन नहीं तोड़ने पर केजरीवाल को गिरफ्तार कर लेने की धमकी दी गई है। आतिशी ने यह भी साफ किया कि उनके पास इस बात का सबूत नहीं है, क्योंकि अलग-अलग तरीकों और लोगों के जरिए उन तक संदेश पहुंचाया जा रहा है।

आप की नेता आतिशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सनसनीखेज आरोप लगााते हुए कहा, 'इंडिया गठबंध की सीट शेयरिंग तकरीबन फाइनल है। जब से ऐसी खबरें चल रही हैं तब से आम आदमी पार्टी के नेताओं के पास मैसेज आया है कि यदि आप ने इंडिया अलायंस नहीं छोड़ी तो आने वाले दो दिनों में केजरीवाल को नोटिस आएगा। शनिवार या सोमवार को सीआरपीसी की धारा 41A में नोटिस आएगा और दोनों एजेंसियां उन्हें गिरफ्तार कर लेगी। आम आदमी पार्टी को धमकी दे रही है कि यदि इंडिया अलायंस मिलकर चुनाव लड़ेगा तो आने वाले 3-4 दिन में अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार किया जाएगा।'

आतिशी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी यदि सोचती है कि इन धमकियों से आम आदमी पार्टी अरविंद केजरीवाल को डरा सकती है कि तो यह उनकी गलती है। उन्होंने कहा,  'केजरीवाल जेल की धकमियों से डरने वाले नहीं हैं। आप चाहे जितनी धकमी दी जीए, जेल में डालिए या फांसी पर चढ़ा दीजिए, अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी डरने वाले नहीं।' उन्होंने कहा कि भाजपा और इनके लोग कभी किसी को भेजते हैं तो कभी किसी को। कभी आपके रिश्तेदार तो कभी पार्टी कार्यकर्ता से मैसेज भिजवाते हैं।  

सबूत संभव नहीं: आतिशी
आतिशी से जब पूछा गया कि आरोपों को लेकर क्या उनके पास कोई साक्ष्य भी है तो उन्होंने कहा कि यह संभव नहीं है, क्योंकि नेता सबकी बात टेप नहीं करते। उन्होंने कहा, 'जहां तक सबूत की बात है कोई भी इंसान जब मॉर्निंग वॉक पर जाता है या उसके घर या ऑफिस में कोई मिलने आता है तो वह टेबल पर रिकॉर्डर लगाकर नहीं रखता है। हम जन प्रतिनिधि हैं। हम सुबह से शाम तक सैकड़ों लोगों से मिलते हैं, हम दिनभर बैठकर हर व्यक्ति की बात को टेप नहीं करते हैं। तो बार-बार यदि यह सवाल उठेगा कि साक्ष्य दिखाइए तो मैं बता दूं कि यह संभव नहीं है कि अगर आपके जानकार लोगों से संदेश आएं तो आप रिकॉर्ड कर लें।' 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें