ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRआतंकी अर्श डाला के शूटरों ने दिल्ली के नेब सराय और नोएडा में बनाए थे ठिकाने

आतंकी अर्श डाला के शूटरों ने दिल्ली के नेब सराय और नोएडा में बनाए थे ठिकाने

दिल्ली में मुठभेड़ के बाद स्पेशल सेल के हत्थे चढ़े कनाडा में छुपे आतंकी अर्श डाला के दोनों शार्प शूटरों ने दिल्ली के नेब सराय और नोएडा में वेव सिटी सेंटर में अपने ठिकाने बनाए थे।

आतंकी अर्श डाला के शूटरों ने दिल्ली के नेब सराय और नोएडा में बनाए थे ठिकाने
Praveen Sharmaनई दिल्ली। रमेश त्रिपाठीWed, 29 Nov 2023 05:34 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के मयूर विहार में मुठभेड़ के बाद स्पेशल सेल के हत्थे चढ़े कनाडा में रहने वाले आतंकी अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डाला के दोनों शार्प शूटरों ने दिल्ली के नेब सराय और नोएडा में वेव सिटी सेंटर में अपने ठिकाने बनाए थे। दिल्ली-एनसीआर में ये करीब पांच बार आ चुके हैं। दोनों शूटरों ने दिल्ली और नोएडा के अपने ठिकाने गिरफ्तार आरोपियों सचिन और अर्पित के जरिये किराये पर कमरा लेकर बनाए थे।

जांच से जुड़े दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के अधिकारियों के मुताबिक, शूटर और इनके साथियों के पास से बरामद ग्रेनेड यूपी के मेरठ के पास डिलीवर कराया गया था। खास बात यह है कि ग्रेनेड की डिलीवरी भी आतंकी अर्शदीप ने अपने नेटवर्क से कराई थी। पुलिस अब इन गुर्गों की तलाश कर रही है। पुलिस गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ कर यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि ग्रेनेड की डिलीवरी कराने वाले वो संदिग्ध कौन थे? दरअसल दो संदिग्धों द्वारा मेरठ के आसपास राजप्रीत सिंह उर्फ राजा उर्फ बम और इसे ठिकाना बनाने के लिए किराये पर कमरा दिलाने वाले सचिन भाटी को ग्रेनेड सहित अन्य हथियारों की डिलीवरी की गई थी।

दिल्ली-NCR को दहलाने की तैयारी में थे आतंकी अर्श डाला के शूटर

दस दिन के लिए लिया था कमरा : गिरफ्तार शूटर राजप्रीत सिंह उर्फ राजा उर्फ बम और वीरेंद्र सिंह उर्फ विम्मी ने नेब सराय में 15 दिन और नोएडा वेव सिटी सेंटर में दस दिन के लिए किराये पर कमरा लिया था। यह कमरा इन दोनों शूटर के साथ गिरफ्तार हुए आरोपी सचिन भाटी और अर्पित ने अपना करीबी दोस्त बताकर दिलवाया था। सचिन डीजे का काम करता है, जबकि अर्पित कहीं नौकरी करता था। दोनों शूटरों से इन्हें भी अर्श डाला के नेटवर्क ने ही मिलवाया था।

तीन महीने से लगा था एनसीआर आना-जाना

स्पेशल सेल सूत्रों की मानें तो एनसीआर में बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए दोनों शूटरों ने अपने इन तीनों सहयोगियों की मदद से यहां अपना ठिकाना बनाया था। इसके लिए ये बीते तीन महीने में कई बार दिल्ली-एनसीआर का आ चुके हैं, जबकि करीब एक महीने से ज्यादा समय अपने दोनों ठिकाने पर भी गुजारा था।

स्लीपर सेल से जुड़े कई संदिग्धों पर कड़ी नजर

आरोपी पुलिस से बचने को जल्दी-जल्दी अपने ठिकाने बदल रहे थे। इस पूरे नेटवर्क में आतंकी संगठनों के संदिग्धों के अलावा अंडरग्राउंड चल रहे स्लीपर सेल के करीब दर्जनभर संदिग्धों पर पुलिस ने पैनी नजर गड़ा रखी है। दरअसल, जांच के दौरान यह साफ हो गया है कि अर्श डाला के शार्प शूटर उससे सीधे निर्देश ले रहे थे।

ऐसे दबोचे गए शूटर

रविवार रात करीब 11 बजे स्पेशल सेल को पता चला कि अर्श डाला के दो शूटरों मयूर विहार इलाके में नोएडा लिंक रोड पर अक्षरधाम मंदिर की ओर आने वाले हैं। मुठभेड़ के बाद उन्हें दबोच लिया गया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें