ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRमकान-जेवर की जिद, शादीशुदा प्रेमिका के ब्लैकमेल से परेशान; टैक्सी चालक ने मौत के घाट उतारा 

मकान-जेवर की जिद, शादीशुदा प्रेमिका के ब्लैकमेल से परेशान; टैक्सी चालक ने मौत के घाट उतारा 

गाजियाबाद में एक टैक्सी चालक ने अफनी शादीशुदा गर्लफ्रेंड की हत्या कर दी। आरोपी का कहना है कि वह उसे ब्लैकमेल कर रही थी। प्रेमिका उससे मकान और गहने बनवाने की भी जिद कर रही थी।

मकान-जेवर की जिद, शादीशुदा प्रेमिका के ब्लैकमेल से परेशान; टैक्सी चालक ने मौत के घाट उतारा 
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,गाजियाबादWed, 31 Jan 2024 08:33 AM
ऐप पर पढ़ें

गाजियाबाद में शादीशुदा प्रेमिका द्वारा ब्लैकमेल करने पर टैक्सी चालक ने उसे मौत के घाट उतार दिया। सिहानी गेट पुलिस ने हत्यारोपी टैक्सी चालक को गिरफ्तार कर लिया। डीसीपी सिटी कुंवर ज्ञानंजय सिंह ने बताया कि थाना धौलाना जिला हापुड़ के गांव ककराना निवासी प्रताप सिंह ने सोमवार को अपनी बहन सता उर्फ संजना के लापता होने पर सिहानी गेट थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। प्रताप सिंह के मुताबिक संजना की शादी करीब 18 साल पहले मोरटा निवासी रामकिशन के साथ हुई थी। उनके चार बच्चे हैं।

पति रामकिशन आए दिन संजना के साथ मारपीट करता था। पति के उत्पीड़न से परेशान होकर संजना मसूरी थानाक्षेत्र के मिसलगढ़ी में किराए का कमरा लेकर रहने लगी थी। सोमवार को वह तुराबनगर में रहने वाली बहन के साथ शॉपिंग करने गई थी। वहां से वह ऑटो लेकर निकली, लेकिन घर नहीं पहुंची। डीसीपी ने बताया कि संजना के मोबाइल नंबर की सीडीआर में एक संदिग्ध नंबर मिला। यह नंबर गौतमबुद्धनगर के दादरी थानाक्षेत्र स्थित ग्राम लोहारली निवासी अरुण कुमार का था। इस पर पुलिस ने अरुण को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने संजना की हत्या करने की बात कबूल कर ली।

नगदी, मकान और जेवर मांगने का आरोप

एसीपी नंदग्राम रवि कुमार सिंह के मुताबिक अरुण ने शुरुआत में पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया, लेकिन सुबूतों के आधार पर सख्ती की तो जुर्म कबूल लिया। इसके बाद आरोपी अरूण की निशानदेही पर शव और हत्या में प्रयुक्त शॉल बरामद कर लिया। एसीपी का कहना है कि संजना आरोपी की पत्नी प्रीति से अपनी तुलना करने लगी थी। वह अरुण से मकान, 50 लाख और गहने बनवाने की जिद करती थी। ऐसा न करने पर उसे जेल भिजवाने की धमकी देकर ब्लैकमेल करती थी।

हत्या करने वाले दो लोगों को उम्रकैद

गैस से भरे कैंटर को लूटने के बाद ड्राइवर और क्लीनर की हत्या करने वाले दो दोषियों को अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही दोनों पर 90-90 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। 15 अक्तूबर 2013 को चालक दीपक और क्लीनर बिल्लू लोनी स्थित गैस के प्लांट से टैंकर लेकर सुल्तानपुर जा रहे थे। रास्ते में बदमाशों ने गैस से भरा टैंकर लूट लिया और दीपक और क्लीनर बिल्लू की हत्या कर दी। पुलिस ने नरेंद्र, सुभाष और राजकुमार को गिरफ्तार किया था। राजकुमार की मृत्यु हो चुकी है। नरेंद्र और सुभाष को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें