DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  स्वास्थ्य कर्मियों के लिए परेशानी बने तबलीगी जमात के लोग, 5 अस्पतालों और 12 क्वारंटाइन केंद्रों में पुलिस बल तैनात

एनसीआरस्वास्थ्य कर्मियों के लिए परेशानी बने तबलीगी जमात के लोग, 5 अस्पतालों और 12 क्वारंटाइन केंद्रों में पुलिस बल तैनात

नई दिल्ली। वरिष्ठ संवाददाताPublished By: Praveen
Fri, 03 Apr 2020 12:06 PM
स्वास्थ्य कर्मियों के लिए परेशानी बने तबलीगी जमात के लोग, 5 अस्पतालों और 12 क्वारंटाइन केंद्रों में पुलिस बल तैनात

तबलीगी जमात में शामिल लोग स्वास्थ्य कर्मियों और प्रशासन के लिए मुश्किल का सबब बनते जा रहे हैं। दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों के डॉक्टरों ने शिकायत कर कहा कि तबलीगी जमात के लिए डॉक्टरों को धमकी दे रहे हैं और जरूरी काम में बाधा डाल रहे हैं।

डॉक्टरों का कहना है कि ये लोग कोरोना वायरस का टेस्ट करने की प्रक्रिया में भी बाधा डाल रहे हैं। ये लोग टेस्ट नहीं करने दे रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि उन्हें भर्ती करने की जरूरत नहीं है। इसकी वजह से हमारे स्टाफ की सुरक्षा खतरे में हैं। अस्पतालों में सुरक्षा के लिए दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस को लिखा।

अस्पतालों के डॉक्टर की शिकायत के बाद दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर अस्पतालों में और क्वारंटाइन सेंटर्स में सुरक्षा बढ़ाने का अनुरोध किया। इसके बाद दिल्ली पुलिस की ओर से सभी जगह अतिरिक्त पुलिस कर्मियों को तैनात कर दिया गया है। स्वास्थ्य सचिव की ओर से पुलिस कमिश्नर को लिखे गए पत्र में बताया गया कि निजामुद्दीन क्षेत्र से केंद्रों और अस्पतालों में लाए गए संदिग्ध मरीज डॉक्टरों से दुर्व्यवहार कर रहे हैं। पत्र में इसका भी जिक्र किया गया है कि राजीव गांधी अस्पताल में एक मरीज ने आत्महत्या की कोशिश की। दूसरी घटना के बारे में बताया गया कि नरेला के पास बने क्वारंटाइन केंद्र से एक संदिग्ध भाग गया।

इन अस्पतालों में सुरक्षा बढ़ाई

लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल, राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, जीटीबी अस्पताल, दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल, एम्स झज्जर,

इलाज में मदद नहीं, बाहर निकलकर देखने की धमकी

लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि निजामुद्दीन स्थित मरकज से लाए गए तबलीगी जमात के लोग इलाज में सहयोग नहीं कर रहे हैं। यही नहीं वे बाहर निकलकर डॉक्टरों को देख लेने की धमकी दे रहें हैं। वहीं, कुछ लोगों ने डॉक्टरों पर हमला करने का भी प्रयास किया। अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. जेसी पासी का कहना है कि हमारी तरफ से हरसंभव सुविधा देने के बाद भी ये लोग इलाज में सहयोग नहीं कर रहे। कुछ लोगों का व्यवहार काफी खराब है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के लिए तीनों ब्लॉक जहां इन्हें रखा गया है वहां पुलिस के अलावा अस्पताल के सुरक्षा गार्ड को नियुक्त किया है।

नर्सों के साथ अश्लील हरकत करने वाले जमातियों पर बोले सीएम योगी- इन्हें कानून का पालन कराना सिखाओ

संबंधित खबरें