ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRउस दिन थाने से क्यों लौट गईं स्वाति मालीवाल, फिर बाद में क्यों FIR का लिया फैसला; खुद बताया

उस दिन थाने से क्यों लौट गईं स्वाति मालीवाल, फिर बाद में क्यों FIR का लिया फैसला; खुद बताया

दिल्ली के मुख्यमंत्री आवास पर हुई मारपीट के बाद पहली बार इंटरव्यू में स्वाति मालीवाल ने बताया कि वह घटना वाले दिन थाने गई थी, लेकिन बिना एफआईआर दर्ज कराए ही वापस लौट गईं। उन्होंने इसकी वजह भी बताई।

उस दिन थाने से क्यों लौट गईं स्वाति मालीवाल, फिर बाद में क्यों FIR का लिया फैसला; खुद बताया
Subodh Mishraएएनआई,नई दिल्लीThu, 23 May 2024 05:46 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई मारपीट के बाद पहली बार इंटरव्यू में स्वाति मालीवाल ने बताया कि वह घटना वाले दिन थाने गई थी, लेकिन बिना एफआईआर दर्ज कराए ही वापस लौट गईं। उन्होंने इसका कारण भी बताया।

मालीवाल ने कहा, 'मैं जब केजरीवाल के घर से निकलकर जब सिविल लाइन थाने पहुंची तो एसएचओ के सामने बुरी तरह रोने लगी। मैं फूट-फूटकर रो रही थी और उन्हें सब बताया कि मेरे साथ क्या-क्या हुआ। उसी वक्त मेरे पास मीडिया के बहुत सारे कॉल आने लगे। जैसे ही मैंने मीडिया के कॉल देखे मैं घबरा गई। क्योंकि मुझे इस बात का डर लगा कि चुनाव का टाइम है। कहीं यह राजनीतिक मुद्दा ना बन जाए। उसी वक्त मैं वहां से घर वापस आ गई। उसी वक्त पार्टी वरिष्ठ के नेता मेरे घर आए। मुझसे बोला गया कि पार्टी इस पर ऐक्शन लेगी।'  

न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में मालीवाल ने बताया कि उनसे कहा गया कि अगर तुमने बोला तो यह बहुत बड़ी मशीनरी है, तुम्हें झूठा साबित कर दिया जाएगा। सबकुछ होगा। गलत वीडियो जारी किया जाएगा। मैं तब भी नहीं डरी और मैं आगे भी नहीं डरूंगी। मैंने जो अपने एफआईआर में बोला है, उसका एक-एक शब्द बिल्कुल सच है। इन्हें लगता है कि हर इंसान सत्ता के आगे झुक जाएगा। किसी को भी मार दो, पीट दो, कुछ भी करवा दो, उसके परिवार को बुरी तरह से प्रताड़ित करो। सोचिए इस सब में मेरे परिवार का क्या हो रहा होगा। 
 
सांसद स्वाति मालीवाल ने कहा, 'मुझे ट्रोल किया गया है और मेरे चरित्र हनन के लिए हर दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस की जा रही हैं जिससे मैं दबाव में आकर मामला खत्म कर दूं। उस एफआईआऱ में मेरा हर शब्द बिल्कुल सच है। मैं पॉलीग्राफ, नार्को टेस्ट के लिए तैयार हूं। मैं इतनी सस्ती नहीं हूं, मुझे पता है इस लड़ाई में मैं अकेली हूं। मैं अकेली लड़ूंगी, लेकिन मैं जरूर लड़ूंगी।'

मालीवाल ने कहा, 'उस घर में मेरा चीरहरण हुआ। रोज मेरा चरित्र हरण किया जा रहा है। मैं इस समय बहुत ठगा हुआ महसूस कर रही हूं। मैं इस वक्त जो महसूस कर रही हूं, भगवान न करे कि कोई भी ऐसा महसूस करे। मेरा सब कुछ खत्म हो गया।'

अपॉइंटमेंट न लेने के आप के आरोपों पर मालीवाल ने कहा, 'मैं जब भी उनके (अरविंद केजरीवाल) घर गई हूं, मैंने कभी अपॉइंटमेंट नहीं लिया। ये कह रहे हैं कि मेरे पास कोई अपॉइंटमेंट नहीं थी। मैं हमेशा ऐसे ही गई हूं। मुझे उसी वक्त बोल देते कि बाहर चले जाओ, मैं बाहर चली जाती। अगर कोई अपॉइंटमेंट लेकर नहीं आया तो आप उसे पीट देंगे। मालीवाल ने कहा, अगर मेरी राज्यसभा की सीट उन्हें चाहिए थी, वो प्यार से मांगते तो मैं जान दे देती, सांसद तो बहुत छोटी बात है। लेकिन जिस तरीके से इन्होंने मुझे मारा है, अब चाहे दुनिया की कोई भी शक्ति लग जाए मैं इस्तीफा नहीं दूंगी।'