ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRस्वाति मालीवाल की FIR के बाद ऐक्शन में पुलिस,जा सकती है CM आवास, बिभव को थमाएगी नोटिस

स्वाति मालीवाल की FIR के बाद ऐक्शन में पुलिस,जा सकती है CM आवास, बिभव को थमाएगी नोटिस

स्वाति मालीवाल की शिकायत के बाद अब दिल्ली पुलिस आज पुलिस आज सीएम आवास पर जा सकती है और घटना के समय वहां मौजूद पुलिसकर्मियों और कर्मचारियों के बयान दर्ज कर सकती है। 

स्वाति मालीवाल की FIR के बाद ऐक्शन में पुलिस,जा सकती है CM आवास, बिभव को थमाएगी नोटिस
Aditi SharmaANI,नई दिल्लीFri, 17 May 2024 10:18 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में मुख्यमंत्री के आवास पर आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ हुई बदसलूकी की शिकायत पुलिस ने दर्ज कर ली है। स्वाति मालीवाल ने गुरुवार को अपने आवास दिल्ली पुलिस को शिकायत दी जिसके आधार पर पुलिस ने एफआईआऱ दर्ज की है। एफआईआर दर्ज करने के बाद पुलिस अब ऐक्शन में नजर आ रही है। मामले की जांच आगे बढ़ाते हुए दिल्ली पुलिस आज सीएम आवास पर जा सकती है और घटना के समय वहां मौजूद पुलिसकर्मियों और कर्मचारियों के बयान दर्ज कर सकती है। 

स्वाति मालीवाल ने अपनी शिकायत में कहा है कि अरविंद केजरीवाल के पीए बिभव कुमार ने बिना उकसावे के उन पर हमला किया। उन्हें कई बार थप्पेड़ मारे और पेट पर लात भी मारी। दिल्ली पुलिस ने एफआईआर में बिभव को नामजद आरोपी बनाया है।  पुलिस अब आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने उसका बयान दर्ज कराएगी। 

बिभव कुमार को भेजेगी नोटिस

बताया जा रहा है कि पुलिस बिभव कुमार को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भी भेज सकती है। एफआईआर आईपीसी की धारा 354, 506, 509 और 323 के अलावा अन्य धाराओं के तहत दर्ज की गई है। उधर  राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी मामले को लेकर कुमार को शुक्रवार को तलब किया है।

4 घंटे स्वाति मालीवाल के आवास पर रही पुलिस

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त पी.एस. कुशवाह के नेतृत्व में दो सदस्यीय टीमों ने मालीवाल का बयान दर्ज करने के बाद एफआईआर दर्ज की। टीम ने मध्य दिल्ली स्थित मालीवाल के आवास पर उनका बयान दर्ज किया। टीम चार घंटे से अधिक समय तक मालीवाल के आवास पर रही।

अधिकारियों ने बताया कि कुमार के खिलाफ सिविल लाइंस पुलिस थाने में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 354 (किसी महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाने के इरादे से उस पर हमला या आपराधिक बल), धारा 506 (आपराधिक धमकी), धारा 509 (किसी महिला की गरिमा का अपमान करने के इरादे से कोई शब्द बोलना या कोई इशारा करना) और धारा 323 (हमला करना) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

इससे पहले मालीवाल ने सोमवार को सिविल लाइंस पुलिस थाने पहुंचकर आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल के निजी स्टाफ के एक सदस्य ने मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास पर उनके साथ ‘‘मारपीट’’ की। मालीवाल द्वारा पुलिस को दिए गए बयान के अनुसार, वह ड्राइंग रूम में बैठी थीं, जब कुमार आए और कथित तौर पर उन्हें कई बार थप्पड़ मारे।

 मालीवाल ने अपनी शिकायत में कहा है कि वह मुख्यमंत्री आवास से बाहर भागीं और पुलिस को फोन किया। सूत्रों ने बताया कि मालीवाल ने यह भी दावा किया कि घटना के समय केजरीवाल अपने आवास पर मौजूद थे। एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस मालीवाल को चिकित्सीय जांच के लिए यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ले गई। मालीवाल ने अपने साथ हुई कथित मारपीट के मामले को लेकर गुरुवार को चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि उन्होंने दिल्ली पुलिस के समक्ष अपना बयान दर्ज करा दिया है और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को इस घटना पर राजनीति नहीं करनी चाहिए।

स्वाति मालीवाल ने बीजेपी से किया खास अनुरोध

मालीवाल ने ‘एक्स’ पर कहा, ‘‘मेरे साथ जो हुआ, वह बहुत बुरा था। मेरे साथ हुई घटना पर मैंने पुलिस को अपना बयान दिया है। मुझे आशा है कि उचित कार्रवाई होगी। पिछले दिन मेरे लिए बहुत कठिन रहे हैं। जिन लोगों ने प्रार्थना की, उनका धन्यवाद करती हूं। जिन लोगों ने मेरा चरित्र हनन करने की कोशिश की और कहा कि मैं दूसरे पक्ष के कहने पर ऐसा कर रही हूं, भगवान उन्हें भी खुश रखे।’’

उन्होंने कहा कि देश में अहम चुनाव चल रहा है और स्वाति मालीवाल जरूरी नहीं है, देश के मुद्दे जरूरी हैं। मालीवाल ने कहा, ‘‘भाजपा के लोगों से विशेष आग्रह है कि इस घटना पर राजनीति न करें।’’

एजेंसी से इनपुट