ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRसाबित हुआ मालीवाल भाजपा का मोहरा, LG की चिट्ठी पर आप का पलटवार; AK की चुप्पी पर सक्सेना ने उठाए थे सवाल

साबित हुआ मालीवाल भाजपा का मोहरा, LG की चिट्ठी पर आप का पलटवार; AK की चुप्पी पर सक्सेना ने उठाए थे सवाल

Swati Maliwal Assault Case: दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने मालीवाल की सीएम हाउस में पिटाई को लेकर केजरीवाल की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं। आप ने इसपर पलटवार करते हुए स्वाति को बीजेपी का मोहरा बताया।

साबित हुआ मालीवाल भाजपा का मोहरा, LG की चिट्ठी पर आप का पलटवार; AK की चुप्पी पर सक्सेना ने उठाए थे सवाल
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 22 May 2024 05:50 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने स्वाति मालीवाल के साथ हुई कथित मारपीट मामले पर मंगलवार को कहा कि मुख्यमंत्री आवास पर हुई इस तरह की घटना दुनियाभर में भारत की छवि को खराब करती है। इस पर आप ने पलटवार करते हुए कहा, एलजी की चिट्ठी से साफ है कि स्वाति मालीवाल भाजपा के लिए काम कर रही हैं।

उपराज्यपाल ने अपने बयान में कहा कि मालीवाल पर कथित हमले की खबरों से वे आहत हैं। एक दिन पहले मालिवाल ने दुखी मन से उन्हें फोन किया था और अपने दर्दनाक अनुभव के साथ अपने ही लोगों द्वारा उन्हें दी गई धमकी और अपमान के बारे में विस्तार से बताया। मालीवाल ने सबूतों से कथित छेड़छाड़ और जबरदस्ती किए जाने पर भी चिंता व्यक्त की। एलजी ने कहा, मुझे उम्मीद थी कि मुख्यमंत्री इस मुद्दे पर रुख स्पष्ट करेंगे, लेकिन उनकी चुप्पी काफी कुछ स्पष्ट करती है।

इस पर पलटवार करते हुए आम आदमी पार्टी के नेता एवं कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली में 25 और पंजाब में एक जून को चुनाव होने हैं, तब तक भाजपा ऐसे ही रोज नए हथकंडे अपनाएगी। उपराज्यपाल शायद भूल गए हैं कि देश के लिए मेडल जीतने वाली पहलवान बेटियां, इसी दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरने पर बैठी थीं। धूप और बरसात में भी बैठी थी। भाजपा सांसद के खिलाफ एफआईआर करानी थी। एलजी ये बताएं कि आप के अधीन दिल्ली पुलिस ने एफआईआर क्यों नहीं दर्ज की। एफआईआर भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुई थी। मगर मुकदमे के बाद भी भाजपा सांसद उस समय क्यों गिरफ्तार नहीं हुआ।

दिल्ली के कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, 'स्वाति मालीवाल को चुनाव से ठीक पहले इस षडयंत्र का मोहरा बनाया गया है। यह उनसे दिल्ली महिला आयोग में हुए भर्ती घोटाले की जांच के चलते कराया जा रहा है।'

उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने कहा, 'महिला सुरक्षा के मुद्दे पर इस तरह की शर्मनाक घटनाएं और सरकार की तरफ से असंवेदनशील व षड्यंत्रकारी अवमाननापूर्ण प्रतिक्रिया देश की छवि खराब करती है।'