ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRकोर्ट राजनीतिक अखाड़ा नहीं, केजरीवाल के खिलाफ दाखिल याचिका पर क्यों भड़का SC

कोर्ट राजनीतिक अखाड़ा नहीं, केजरीवाल के खिलाफ दाखिल याचिका पर क्यों भड़का SC

याचिका में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के द्वारा अपने संबोधन के दौरान बैकग्राउंड में डॉ. बीआर अंबेडकर और भगत सिंह का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया था।

कोर्ट राजनीतिक अखाड़ा नहीं, केजरीवाल के खिलाफ दाखिल याचिका पर क्यों भड़का SC
Aditi Sharmaपीटीआई,नई दिल्लीTue, 14 May 2024 04:29 PM
ऐप पर पढ़ें

सुप्रीम कोर्ट ने निजी लाभ के लिए राष्ट्रीय प्रतीकों और स्वतंत्रता सेनानियों के नामों के दुरुपयोग को रोकने के लिए केंद्र को निर्देश देने की मांग वाली एक याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने याचिका को राजनीति से प्रेरित बताया और सवाल किया कि कोर्ट राजनीकि अखाड़ा क्यों बन रही है। इस याचिका में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के द्वारा अपने संबोधन के दौरान बैकग्राउंड में डॉ. बीआर अंबेडकर और भगत सिंह का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया था।

जस्टिस बी आर गवई और जस्टिस संदीप मेहता की पीठ ने सुनवाई करते हुए याचिकाकर्ता को फटकार लगाई औ पूछा कि यह कोर्ट राजनीतिक अखाड़ा क्यों बन गया है। कोर्ट ने कहा, इस याचिका किसी एक को खास तौर से टारगेट किया जा रहा है। मामले में कोर्ट के रुख को देखते हुए याचिकाकर्ता ने जनहित याचिका वापस ले ली। यह याचिका विनय पाठक नाम के शख्स ने दाखिल की थी। 

इस याचिका में कहा गया था कि भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मौलिक अधिकार इस हद तक नहीं बढ़ाया जा सकता कि किसी भी व्यक्ति को व्यक्तिगत लाभ के लिए राष्ट्रीय प्रतीकों और स्वतंत्रता संग्राम के नायकों की छवियों और नामों का दुरुपयोग करने की अनुमति दी जा सके। याचिका में केजरीवाल के भाषण के दौरान बैकग्राउंड में डॉ. बीआर अंबेडकर और भगत सिंह की तस्वीरों का इस्तेमाल करने का जिक्र करते हुए कहा गया था कि याचिकाकर्ता के लिए यह देखना बहुत परेशान करने वाला था कि एक राजनेता अपनी छवि की तुलना दो राष्ट्रीय नायकों से कर रहा है।