ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRकाफी सबूत हैं, अशोक गहलोत पर चार्ज फ्रेम करें; मानहानि वाले मुकदमे में कोर्ट से बोले गजेंद्र सिंह शेखावत

काफी सबूत हैं, अशोक गहलोत पर चार्ज फ्रेम करें; मानहानि वाले मुकदमे में कोर्ट से बोले गजेंद्र सिंह शेखावत

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस नेता के खिलाफ चार्ज फ्रेम करने के लिए प्रथम दृष्टया काफी सबूत हैं। पाहवा ने कोर्ट में अपनी दलील पूरी कर ली है। अदालत में अब इस मामले की सुनवाई 5 दिसंबर को होगी।

काफी सबूत हैं, अशोक गहलोत पर चार्ज फ्रेम करें; मानहानि वाले मुकदमे में कोर्ट से बोले गजेंद्र सिंह शेखावत
Nishant Nandanपीटीआई,नई दिल्लीTue, 21 Nov 2023 08:50 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में 25 नवंबर को विधानसभा चुनाव होना है। उससे पहले दिल्ली की एक अदालत में मानहानि से जुड़े केस में राज्य के सीएम अशोक गहलोत के खिलाफ चार्ज फ्रेम करने की गुहार लगाई गई है। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने दिल्ली की एक अदालत से अपील की है कि उन्हें बदनाम करने के आरोप में गहलोत पर ट्रायल शुरू किया जाए। एडिशनल चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट हरजीत सिंह जसपाल ने सीनियर एडवोकेट विकास पाहवा की दलीलों को सुना। विकास पाहवा अदालत में गजेंद्र सिंह शेखावत की तरफ से अदालत में मौजूद थे।

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस नेता के खिलाफ चार्ज फ्रेम करने के लिए प्रथम दृष्टया काफी सबूत हैं। पाहवा ने अदालत में अपनी दलील पूरी कर ली है। अदालत में अब इस मामले की सुनवाई 5 दिसंबर को होगी। ऐसी उम्मीद है कि इस दिन अदालत कांग्रेस नेता की दलीलों को भी सुनेगा। इससे पहले अदालत ने 7 अगस्त को शेखावत की शिकायत पर अशोक गहलोत को समन जारी किया था। कांग्रेस नेता पर आरोप है कि उन्होंने संजीवनी घोटाले में शेखावत का नाम घसीटा था।  

इस स्कैम के बारे में बताया जाता है कि यह Sanjivani Credit Cooperative Society ने बेहतरीन रिर्टन का लालच देकर कई लोगों से पैसे लिए और फिर बाद में उन्हें धोखा दिया। कहा जाता है कि यह घोटाला 900 करोड़ रुपये का है। अदालत में कांग्रेस नेता की तरफ से मौजूद वकील रमेश गुप्ता ने समय की मांग की है। उन्होंने कहा कि वो गहलोत को समन करने के केस में वो सेशन कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। जज ने कहा, 'आरोपी की तरफ से दलील देते हुए वरिष्ठ वकील ने बताया है कि मामले में सेशन कोर्ट की तऱफ से फैसला आने के बाद वो अपनी दलील रखेंगे। इस मामले में अब 5 दिसंबर 2023 को सुनवाई होगी।'