ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRBJP के प्रदर्शन में पुलिस के सामने हुआ पथराव, दिल्ली जल बोर्ड दफ्तर के खिड़की-शीशे चकनाचूर

BJP के प्रदर्शन में पुलिस के सामने हुआ पथराव, दिल्ली जल बोर्ड दफ्तर के खिड़की-शीशे चकनाचूर

दिल्ली में जल संकट के बीच रविवार को भाजपा के मटका फोड़ प्रदर्शन के दौरान हंगामा हो गया। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारी महिलाओं ने छतरपुर स्थित दिल्ली जल बोर्ड दफ्तर में कथित तौर पर पथराव कर तोड़फोड़ कर दी।

BJP के प्रदर्शन में पुलिस के सामने हुआ पथराव, दिल्ली जल बोर्ड दफ्तर के खिड़की-शीशे चकनाचूर
Praveen Sharmaनई दिल्ली। राजन शर्माSun, 16 Jun 2024 02:21 PM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी दिल्ली में जल संकट पर मचे सियासी घमासान के बीच रविवार को भाजपा के मटका फोड़ प्रदर्शन के दौरान हंगामा हो गया। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारी महिलाओं ने छतरपुर स्थित दिल्ली जल बोर्ड दफ्तर में कथित तौर पर पथराव कर तोड़फोड़ कर दी। आरोप है कि पुलिस की मौजूदगी में किए गए इस पथराव के चलते जल बोर्ड दफ्तर के शीशे और खिड़कियां चकनाचूर हो गए। पथराव के बाद अब पुलिस मामले की जांच में जुटी है। बताया जा रहा है कि इस पथराव के समय दक्षिणी दिल्ली से भाजपा के पूर्व सांसद रमेश बिधूड़ी भी मौके पर मौजूद थे। 

राजधानी में जल संकट को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को पूरी दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के खिलाफ जगह-जगह जोरदार प्रदर्शन किया। 'आप' पर तीखा हमला करते हुए दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि जब अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री बने थे तो दिल्ली जल बोर्ड करोड़ों रुपये के मुनाफे में था।

उन्होंने कहा कि केजरीवाल के पास एक वर्ष से ज्यादा समय तक दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष पद का प्रभार रहा। यह अजीब और आश्चर्यजनक है कि एक वर्ष से अधिक समय की ऑडिट रिपोर्ट गायब है और जल बोर्ड भारी कर्ज में डूबा है। सचदेवा ने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी के सभी मंत्री पानी चोरी कर रहे हैं और दिल्ली में टैंकर माफिया चला रहे हैं।

आतिशी ने दिल्ली पुलिस से लगाई पानी की पाइपलाइन की सुरक्षा की गुहार

भाषा की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में गहराए जल संकट के मद्देनजर दिल्ली सरकार की जल मंत्री आतिशी ने रविवार को दिल्ली पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा को पत्र लिखा है। पत्र में आतिशी ने पुलिस कमिश्नर से अगले 15 दिन तक दिल्ली की प्रमुख पाइपलाइनों की सुरक्षा करने और शरारती तत्वों को इनमें किसी भी तरह की छेड़छाड़ करने से रोकने के लिए पुलिसकर्मियों को तैनात करने का अनुरोध किया है। मंत्री ने पत्र में कहा कि दिल्ली भीषण गर्मी और जल संकट से जूझ रही है। 

आतिशी ने कहा कि यमुना नदी में कम पानी छोड़े जाने के कारण पानी की मात्रा में 70 एमजीडी की गिरावट आई है, जिससे दिल्ली के कई इलाके जल संकट से जूझ रहे हैं। ऐसे में पानी की एक-एक बूंद कीमती है।

उन्होंने पुलिस कमिश्नर को लिखे पत्र में कहा कि दिल्ली जल बोर्ड ने मुख्य जल वितरण नेटवर्क के लिए गश्ती दल तैनात किए हैं। जल वितरण नेटवर्क नदी में छोड़े गए पानी को वाटर ट्रीटमेंट प्लांट तक पहुंचाता है और फिर वहां से शहर के विभिन्न हिस्सों के भूमिगत जलाशयों तक आपूर्ति की जाती है। आतिशी ने कहा कि हमने इस काम में मदद लेने के लिए अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट की देखरेख में कई टीम भी तैनात की हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड के गश्ती दल ने शनिवार को दक्षिण दिल्ली पाइपलान में रिसाव की जानकारी दी थी जो सोनिया विहार वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से दक्षिणी दिल्ली के इलाकों तक पानी पहुंचाने वाली मुख्य पाइपलाइन है।

आतिशी ने कहा कि गढ़ी मेंढू में डी.टी.एल. सबस्टेशन के पास पाइपलाइन में रिसाव हुआ था। हमारे गश्ती दल को पता चला कि पाइपलाइन में 375 एम.एम. के कई बड़े बोल्ट और 12 इंच का एक बोल्ट कटा हुआ था, जिससे रिसाव हो रहा था। उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि पाइपलाइन में कुछ गड़बड़ी की गई है या उसमें जानबूझकर तोड़फोड़ की गई है। उन्होंने कहा कि इस स्थिति में पानी की प्रमुख पाइपलाइन में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी या तोड़फोड़ दिल्ली के लोगों के समक्ष पहले से ही मौजूद जल संकट को और अधिक चुनौतीपूर्ण बना देगी।