DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएससी अफसर और छात्र भी पेपर लीक में शामिल

cbse paper lealks

सीबीआई ने एसएससी सीजीएल 2017 परीक्षा में गड़बड़ियों और कम्यूटर के माध्यम से हुई जालसाजी के संबंध में प्राइवेट टेक्नोलॉजी कंपनी के कंटेंट टीम हेड सहित 17 लोगों और एसएससी के अज्ञात अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इनमें सात छात्र भी शामिल हैं। इस सिलसिले में सीबीआई अधिकारियों ने दिल्ली सहित 12 स्थानों पर छापेमारी कर दस्तावेज बरामद किए हैं।

एफआईआर में जिन लोगों को आरोपी बनाया गया है उनमें संत प्रसाद गुप्ता सिफी टेक्नालॉजी कंपनी का अधिकारी है। सूत्रों कहना है कि एसएससी के चेयरमैन असीम खुराना की तरफ से 4 मार्च 2018 को शिकायत मिली थी कि 17 फरवरी 2018 से लेकर 22 फरवरी 2018 के बीच एसएससी सीजीएल परीक्षा में बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां हुईं। इन गड़बड़ियों में प्रश्न पत्र लीक होना भी शामिल पाया गया है। यह परीक्षा विभिन्न मंत्रालयों के पदो के लिए आयोजित की गई थी। तफ्तीश में यह बात भी सामने आई कि संत प्रसाद गुप्ता ने कंपनी की गाइडलाइंस का उल्लघंन किया। सूत्रों का कहना है कि संत प्रसाद गुप्ता प्रश्न पत्र का कोस्टोडियन था और तफ्तीश में इस बात का खुलासा हुआ है कि वह पेपर लीक अपराध में शामिल रहा है।  

इस साजिश में एसएससी के अधिकारियों ने भी अपने पद का दुरुपयोग किया और परिणाम में गड़बड़ियां कीं। बताया गया कि पहले स्तर की परीक्षा गत वर्ष अगस्त में तथा दूसरे स्तर की परीक्षा इस वर्ष फरवरी में हुई थी। फरवरी में परीक्षा सुबह दस बजकर 30 मिनट पर आयोजित हुई थी और सोशल मीडिया पर प्रश्न पत्र दस बजकर दस मिनट पर लीक हो चुका था।

दिल्ली-नोएडा में सीबीआई के छापे

सीबीआई ने बताया कि पेपरलीक मामले में बुधवार को प्राथमिकी दर्ज करने के बाद दिल्ली, नोएडा, शिमला, पटना, चेन्नई और मुंबई सहित करीब 12 स्थानों पर छापेमारी की गई। दिल्ली में ओखला में सिफी टेक्नोलॉजिज के कार्यालय और उसके अधिकारी के शेख सराय आवास पर भी छापा मारा गया। पेपर लीक मामले में छात्रों ने कईदिनों तक एसएससी मुख्यालय पर प्रदर्शन किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:SSC officers and students involved in paper leaks