DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिता का धूम्रपान बच्चों में कैंसर की वजह, शोध में हुआ खुलासा

aiims delhi research on cancer

धूम्रपान करने से न सिर्फ उस व्यक्ति को कैंसर का खतरा होता है बल्कि उसके होने वाले बच्चे में भी यह कैंसर की वजह बन सकता है। यह जानकारी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स के एनोटॉमी विभाग की प्रोफेसर रीमा दादा के शोध में सामने आई है।

शोध के मुताबिक, धूम्रपान करने वाले पुरुषों के शुक्राणुओं को ऑक्सीडेटिव डीएनए क्षति पहुंचती है। इस वजह से उनके बच्चों को कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। शोध में डॉक्टर ने 131 पिता और आरबी कैंसर जीन वाले बच्चों के नमूने एकत्र किए। इसके अलावा 50 स्वस्थ जोड़ों के भी नमूने एकत्र किए। इसमें सामने आया कि पिता के शुक्राणु में ऑक्सीडेटिव डीएनए क्षति की वजह से उनके बच्चों को कैंसर की संभावनाएं अधिक थीं। यह शोध एशिया पैसिफिक जर्नल ऑफ कैंसर प्रिवेंशन में प्रकाशित हुआ है।

योग से मिल सकता है फायदा : प्रोफेसर रीमा दादा के मुताबिक, शोध में धूम्रपान छोड़कर योग और ध्यान करने से पिता के डीएनए में कम क्षति देखी गई। साथ ही, इससे स्पर्म के डीएनए में सुधार होता है। जोड़ों की योग और ध्यान अनुपालन के साथ फॉलोअप पर बार-बार जांच की गई।

धूम्रपान छोड़ने के साथ-साथ जिन लोगों ने योग किया, उनमें छह महीने की अवधि में डीएनए क्षति कम देखने को मिली है। इससे उनके बच्चों में कैंसर की संभावनाएं कम हो जाती हैं। योग चिकित्सकों ने भी एम्स में किए गए शोध पर सहमत जताई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:smoking habit of father may cause cancer in children says a research of AIIMS Delhi