ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRDDA के बुलडोजर ऐक्शन पर रैट माइनर वकील हसन फैमिली का रिएक्शन, क्या बोली सिलक्यारा टनल के 'हीरो' की पत्नी?

DDA के बुलडोजर ऐक्शन पर रैट माइनर वकील हसन फैमिली का रिएक्शन, क्या बोली सिलक्यारा टनल के 'हीरो' की पत्नी?

दिल्ली के खजूरी खास इलाके में डीडीए के बुलडोजर ऐक्शन पर विवाद खड़ा हो गया है। सिलक्यारा टनल हादसे के 'हीरो' रहे रैट माइनर वकील हसन का घर तोड़ने पर पत्नी का रिएक्शन भी सामने आया है।

DDA के बुलडोजर ऐक्शन पर रैट माइनर वकील हसन फैमिली का रिएक्शन, क्या बोली सिलक्यारा टनल के 'हीरो' की पत्नी?
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,दिल्लीThu, 29 Feb 2024 03:08 PM
ऐप पर पढ़ें

बुधवार को दिल्ली के खजूरी खास इलाके में दिल्ली विकास प्राधिकरण का बुलडोजर ऐक्शन जारी था। इस बुलडोजर ऐक्शन के दौरान वकील हसन का भी घर डीडीए ने बुलडोजर चलाकर तोड़ दिया था। वकील हसन बीते साल उत्तरकाशी की सिलक्यारा टनल में मजदूरों की जान बचाने वाले रैट माइनर्स में से एक थे। अब इस मामले पर सिलक्यारा टनल राहत बचाव कार्य के हीरो रहे वकील हसन की फैमिली का भी रिएक्शन सामने आया है। वकील की पत्नी ने उन्हें हीरो बताते हुए अपना घर तोड़े जाने पर दुख जताया है। आइये जानते हैं 'रैट माइनर' वकील हसन की पत्नी ने डीडीए के बुलडोजर ऐक्शन पर क्या कहा है।

पति को हीरो बता कह दी यह बात
सिलक्यारा टनल हादसे में मजदूरों को बचाने वाले वकील हसन की पत्नी ने कहा, "मेरे हसबैंड ने सिलक्यारा टनल में फंसे 41 लोगों की जान बचाई थी। उसके बदले सब उन्हें सम्मान दे रहे थे। आज उस सम्मान के बदले मेरा घर ले लिया।" इस मामले पर पत्नी ने दुख जताया है। पत्नी के साथ ही वकील हसन ने डीडीए पर बिना नोटिस दिए ही घर पर बुलडोजर चलाने का आरोप लगाया है। इस मामले में वकील हसन के साथी रहे मुन्ना कुरैशी ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस वकील के नाबालिग बच्चों को थाने ले गई और वहां बच्चों से मारपीट की गई है।

AAP और कांग्रेस ने घेरा
रैट माइनर वकील हसन के घर पर बुलडोजर ऐक्शन के बाद आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने बीजेपी को घेरा। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने इस घटना को बीजेपी का 'आन्यायकाल' बताया। इसके साथ ही आम आदमी पार्टी सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने इस घटना पर रिएक्शन देते हुए कहा कि एजेंसियां दिल्ली को बर्बाद कर रही हैं। इस मामले पर कांग्रेस के राज्यसभा सांसद इमरान प्रतापगढ़ी का भी रिएक्शन आया है। इमरान प्रतापगढ़ी ने सोशल मीडिया पर लिखते हुए कहा, "जिस वकील हसन ने पिछले साल उत्तरकाशी में फंसे 41 लोगों की जान बचाई, उसे ईनाम देने के बजाय उसका घर बुलडोज़र लगाकर गिरा दिया गया।" सोशल मीडिया पर डीडीए को टैग करते हुए कांग्रेस सांसद ने आगे लिखा, "क्या आपके अधिकारी किसी विशेष साम्प्रदायिक मानसिकता के शिकार हैं?

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें