ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRवीडियो कॉल पर दिखाने लगा पिस्टल, फिर दिल्ली के कारोबारी से मांगी 25 लाख रुपए की रंगदारी

वीडियो कॉल पर दिखाने लगा पिस्टल, फिर दिल्ली के कारोबारी से मांगी 25 लाख रुपए की रंगदारी

जिला पुलिस उपायुक्त डॉक्टर जॉय टिर्की ने बताया 25 नवंबर को रंगदारी की एक शिकायत मिली। मौके पर पहुंची पुलिस को पीड़ित नासिर अली ने बताया‌ कि उन्हें एक अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल आई।

वीडियो कॉल पर दिखाने लगा पिस्टल, फिर दिल्ली के कारोबारी से मांगी 25 लाख रुपए की रंगदारी
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 07 Dec 2023 09:36 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले के जाफराबाद इलाके में कपड़ा कारोबारी से 25 लाख रुपए रंगदारी मांगने के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों की पहचान मौजपुर के 30 वर्षीय सादाब और 36 वर्षीय अश्फाक के रूप में हुई है। वहीं, गिरोह के सरगना विकास उर्फ विक्की को हरियाणा पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। वह डकैती के एक मामले में एक लाख ईनामी घोषित था। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर उनके चौथे साथी की तलाश कर रही है।

जिला पुलिस उपायुक्त डॉक्टर जॉय टिर्की ने बताया 25 नवंबर को रंगदारी की एक शिकायत मिली। मौके पर पहुंची पुलिस को पीड़ित नासिर अली ने बताया‌ कि उन्हें एक अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल आई। आरोपियों ने उन्हें पिस्टल दिखाकर 25 लाख की रंगदारी मांगी और पैसे न देने पर जान से मारने की धमकी दी। इस पर मामला दर्ज कर स्थानीय पुलिस समेत एएटीएस स्टाफ भी जांच में जुट गया। जांच में पुलिस टीम को कॉल की लोकेशन कनाडा मिली। इस पर तकनीकी विशेषज्ञ ने बताया कि कॉल किसी रिमोट मोबाइल एप की मदद से किया गया है।

टीम ने पीड़ित नासिर अली की दुकान के आसपास लगी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच की। कॉल के दौरान पुलिस को दुकान के पास एक संदिग्ध कार दिखाई दी। टीम ने फुटेज में कार के रूट का पीछा किया तो घोंडा चौक, मौजपुर के पास कार से दो आरोपी उतरते दिखाई दिए। इसके बाद पुलिस ने आरोपियों की पहचान कर दबोच लिया। पूछताछ के दौरान पता चला कि आरोपी सादाब कपड़ों पर प्रेस करने की फैक्ट्री चलाता है और अश्फाक उसका कर्मचारी है।

लोकेशन बदलने के लिए रिमोट मोबाइल एप का किया था इस्तेमाल
पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपियों ने रिमोट मोबाइल ऐप के जरिये कारोबारी से रंगदारी मांगी थी। ऐप का इस्तेमाल करने पर कॉलर का नंबर और उसकी लोकेशन बदल जाती है। आरोपियों ने कारोबारी की दुकान के पास ही कॉल करके रंगदारी मांगी थी। उस वक्त गिरफ्तार आरोपियों समेत उनका एक एक अन्य साथी यानी कुल चार आरोपी कार में मौजूद थे। गिरोह का सरगना विकास उर्फ विक्की है और वारदात की पूरी साजिश उसने ही रची थी।   

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें