DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के साथ केजरीवाल के घर पहुंचीं शीला, जानें क्या है मामला

               -                                                                                                                                                                                                         ani

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित के नेतृत्व में पार्टी नेताओं ने बुधवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर जाकर उनसे मुलाकात की और दिल्ली में बिजली बिल से जुड़े फिक्स्ड चार्ज में बढ़ोतरी, बिजली की कटौती और 'पानी की किल्लत की समस्या के समाधान के लिए तत्काल ठोस कदम उठाने की मांग की।

केजरीवाल के आवास पर उनसे मुलाकात के समय शीला दीक्षित के अलावा दिल्ली कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हारून यूसुफ और राजेश लिलौठिया भी मौजूद थे।मुलाकात के बाद हारून यूसुफ ने संवाददाताओं से कहा कि हमने फिक्स्ड चार्ज बढ़ाए जाने और दिल्ली के कई इलाकों में पानी की भारी किल्लत के मुद्दे उठाए हैं। केजरीवाल सरकार के मंत्री कहते हैं कि वे चुनाव आचार संहिता की वजह से फिक्स्ड चार्ज को कम नहीं कर पा रहे थे। हकीकत यह है कि यह पिछले एक साल से बढ़ा हुआ है जब लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लागू भी नहीं हुई थी।

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार की ओर से यह खोखला दावा किया जा रहा है कि 24 घंटे बिजली मुहैया कराई जा रही है, जबकि गरीब बस्तियों में बिजली की बेतहाशा कटौती हो रही है। शीला दीक्षित के दौर में बिजली कटौती की शिकायत पर तत्काल कदम उठाया जाता था। हमने मांग की है कि कटौती रोकी जाए और फिक्स्ड चार्ज कम किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह फिक्स्ड चार्ज में बढ़ोतरी वापस लेंगे।

यूसुफ ने कहा कि दिल्ली के कई इलाकों में पानी की किल्लत है। यह सरकार मुफ्त पानी की बात करती है लेकिन लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है। हमने कहा कि पानी की किल्लत को तत्काल दूर किया जाए।

भाजपा का दिल्ली जल बोर्ड का घेराव समाप्त, पुलिस ने सीईओ को बाहर निकाला

नई दिल्ली। दिल्ली में जल आपूर्ति में कथित कमी को लेकर दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी निखिल कुमार को 10 घंटे से अधिक समय तक बंधक बनाने वाले भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस बुलाए जाने के बाद बुधवार तड़के अपना विरोध प्रदर्शन समाप्त कर दिया। अधिकारी ने पुलिस बुलाई थी जिसके बाद उन्हें वहां से निकाला गया।

प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने बताया कि डीजेबी के सीईओ ने पुलिस को बुलाया, जिन्होंने उन्हें बाहर निकाला और घेराव बुधवार तड़के करीब 3:30 बजे समाप्त हुआ।

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष दिनेश मोहनिया ने कहा कि वे अपनी क्षमता से अधिक पानी की आपूर्ति कर रहे हैं और उन्होंने भाजपा पर इस मुद्दे का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया। मंगलवार शाम लगभग 5 बजे, भाजपा प्रतिनिधिमंडल डीजेबी के सीईओ कुमार से मिलने पहुंचे, जिन्होंने 6 जून को कार्यभार संभाला था। प्रतिनिधिमंडल में गोयल के अलावा विधायक ओ.पी. शर्मा और भाजपा शहर इकाई के उपाध्यक्ष जय प्रकाश शामिल थे। लेकिन कुछ ही देर में प्रतिनिधिमंडल ने आम आदमी पार्टी सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और डीजेबी मुख्यालय जल्द ही एक विरोध स्थल में तब्दील हो गया। भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता वाले बोर्ड के पास राष्ट्रीय राजधानी में ''जल संकट से निपटने के लिए कोई योजना नहीं है। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sheila Dikshit and Congress leaders meets Delhi CM Arvind Kejriwal to discuss power and water problems