ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRछात्राओं के साथ बढ़ रही यौन उत्पीड़न की घटनाओं पर हाई कोर्ट ने जताई चिंता, कहा- ये गंभीर अपराध...

छात्राओं के साथ बढ़ रही यौन उत्पीड़न की घटनाओं पर हाई कोर्ट ने जताई चिंता, कहा- ये गंभीर अपराध...

अदालत ने कहा कि एक छात्र और शिक्षक के बीच का रिश्ता सबसे पवित्र रिश्तों में से एक है और माता-पिता अपने बच्चों को इस उम्मीद में घर से दूर भेजते हैं कि वे अपने शिक्षकों के मार्गदर्शन में सुरक्षित होंगे

छात्राओं के साथ बढ़ रही यौन उत्पीड़न की घटनाओं पर हाई कोर्ट ने जताई चिंता, कहा- ये गंभीर अपराध...
Aditi Sharmaपीटीआई,नई दिल्लीSat, 17 Feb 2024 04:43 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली हाई कोर्ट ने छात्राओं के साथ बढ़ती यौन उत्पीड़न की घटनाओं पर सख्त टिप्पणी  की है। 
दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा है कि शिक्षकों द्वारा छात्रों का यौन उत्पीड़न पद की स्थिति का दुरुपयोग और एक गंभीर अपराध है जो "व्यापक" हो गया है। अदालत ने कहा कि एक छात्र और शिक्षक के बीच का रिश्ता सबसे पवित्र रिश्तों में से एक है और माता-पिता अपने बच्चों को इस उम्मीद में घर से दूर भेजते हैं कि वे अपने शिक्षकों के मार्गदर्शन में सुरक्षित और अनुकूल वातावरण में रहेंगे।

एक मामले की सुनवाई के दौरान जस्टिस चंद्र धारी सिंहने कहा कि एक शिक्षक न केवल वह व्यक्ति है जो कक्षा में पढ़ाता है, बल्कि वह है जो छात्रों को एक समग्र व्यक्ति बनने के लिए प्रोत्साहित और प्रेरित करता है। शिक्षकों को ज्ञान देने और बच्चों के दिमाग को आकार देने की शक्ति का उपहार दिया जाता है, और यह जरूरी है कि ऐसी शक्ति का दुरुपयोग नहीं किया जाए।

 अदालत ने यह भी कहा कि छात्रों और शिक्षकों के बीच का रिश्ता वेदों से चला आ रहा है और यह "हर महाकाव्य में चलता है जिसने बुराई पर काबू पाया है"। अदालत की यह टिप्पणी दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक पूर्व प्रोफेसर की याचिका पर आई, जिन्हें यौन उत्पीड़न के आरोपों के बाद अनिवार्य रूप से रिटायर कर दिया गया था।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें