ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRझटके पर झटका, मुश्किलों में घिरी AAP तो साथ छोड़ने लगे अपने; अब तक 4 टूटे

झटके पर झटका, मुश्किलों में घिरी AAP तो साथ छोड़ने लगे अपने; अब तक 4 टूटे

कथित शराब घोटाले को लेकर मुश्किलों में घिरी आम आदमी पार्टी (आप) को हाल के समय में कई बड़े झटके लगे हैं। पार्टी के निशान पर जीत हासिल करने वाले कम से कम चार नेता साथ छोड़ चुके हैं।

झटके पर झटका, मुश्किलों में घिरी AAP तो साथ छोड़ने लगे अपने; अब तक 4 टूटे
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 10 Jul 2024 05:01 PM
ऐप पर पढ़ें

कथित शराब घोटाले को लेकर मुश्किलों में घिरी आम आदमी पार्टी (आप) को हाल के समय में कई बड़े झटके लगे हैं। संकट के बीच पिछले चार महीने में कम से कम चार ऐसे नेता पार्टी का साथ छोड़ चुके हैं जो झाड़ू के निशान पर विधानसभा का चुनाव जीत चुके हैं। इनमें मंत्री, विधायक से पूर्व विधायक तक शामिल हैं। मंत्री पद पर रहते हुए राजकुमार आनंद के इस्तीफे से जो सिलसिला शुरू हुआ वह अब तेज होता दिख रहा है। एक ही दिन में पार्टी के विधायक और पूर्व विधायक ने साथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया है तो पिछले दिनों बागी बन चुके एक पूर्व विधायक को पार्टी बाहर निकालने पर मजबूर हो गई। 

मंत्री राजकुमार आनंद ने छोड़ा था साथ, अब पत्नी संग भाजपा में गए
लोकसभा चुनाव से ठीक पहले अप्रैल में सामाज कल्याण मंत्री राजकुमार आनंद ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। पटेल नगर सीट से विधायक आनंद ने यह कहते हुए पद छोड़ने का ऐलान किया कि पार्टी में दलितों का सम्मान नहीं बचा। लोकसभा चुनाव के दौरान वह पार्टी छोड़कर बसपा में शामिल हो गए और लोकसभा का चुनाव भी लड़ा। हालांकि, चुनाव में उन्हें बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा। अब बुधवार को उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया। पटेल नगर सीट से ही 2013 में आम आदमी पार्टी के टिकट पर विधायक बनीं राजकुमार आनंद की पत्नी वीणा आनंद ने भी अब भाजपा का दामन थाम लिया है। 

छतरपुर के विधायक करतार सिंह तंवर ने भी बदला पाला
तीन दिन पहले तक आम आदमी पार्टी के साथ दिख रहे छतरपुर के विधायक करतार सिंह तंवर ने अचानक पाला बदल लिया है। 7 जुलाई को भी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को निर्दोष बताने वाले पोस्ट को रीट्वीट करने वाले तंवर अब भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं। सदस्यता ग्रहण करने के बाद उन्होंने आम आदमी पार्टी पर भ्रष्टाचार में शामिल होने के आरोप लगाए और कहा कि पिछले कुछ समय में दिल्ली की हालत बहुत खराब हो गई है। करतार सिंह छतरपुर से दो बार के विधायक हैं। 2020 से पहले वह 2015 में भी जीत हासिल कर चुके हैं। आम में शामिल होने से पहले करतार भाजपा के ही सदस्य थे और पार्टी ने कहा कि वह घरवापसी कर रहे हैं। 

बागी हुए पूर्व विधायक को निकाला 
पिछले महीने आम आदमी पार्टी ने बागी बन चुके अपने एक पूर्व विधायक नितिन त्यागी को सस्पेंड कर दिया था। नितिन त्यागी लोकसभा चुनाव के बीच पार्टी की नीतियों पर सवाल उठाने लगे थे। उन्होंने पिटाईकांड के बाद स्वाति मालीवाल के पक्ष में भी आवाज उठाई थी। 

विधानसभा चुनाव से पहले झटके
बुधुवार को ही आम आदमी पार्टी के पार्षद उमेद सिंह फोगाट भी भाजपा में शामिल हो गए। आप सदस्य रत्नेश गुप्ता और सचिन राय ने भी पाला बदला है। पार्टी को ये झटके ऐसे समय पर लगे हैं जब कुछ ही महीनों बाद विधानसभा चुनाव होने जा रहा है। जनवरी-फरवरी 2025 में विधानसभा चुनाव हो सकता है। चुनाव के तक दलबदल और तेज होना लाजिमी है।

भाजपा पर AAP का जोरदार हमला
नेताओं के पालाबदल पर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भाजपा पर तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने राजकुमार आनंद समेत अन्य नेताओं के भाजपा दफ्तर में बैठे होने की तस्वीर साझा करते हुए लिखा, 'आपने साइकिल चोर, घड़ी चोर, बाइक चोर, कार चोर, सोना चोर सुना होगा लेकिन 'BJP'पार्षद चोर,  विधायक चोर, सांसद चोर, पार्टी चोर है सारे दाग चुटकियों में धुले 'मोदी वाशिंग पाउडर।' इससे पहले 10 अप्रैल को संजय सिंह ने कहा था कि राजकुमार आनंद पर 23 घंटे तक ईडी का छापा पड़ा था और पूरी भाजपा उन्हें भ्रष्ट कह रही थी। सांसद ने भविष्यवाणी की थी कि जल्द ही राजकुमार आनंद को भाजपा में शामिल कर लिया जाएगा।