DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › तिहाड़ के डिप्टी सुपरिटेंडेंट को थप्पड़ मारने के बाद सुरक्षा कर्मियों ने की थी गैंगस्टर अंकित की पिटाई : अधिकारी
एनसीआर

तिहाड़ के डिप्टी सुपरिटेंडेंट को थप्पड़ मारने के बाद सुरक्षा कर्मियों ने की थी गैंगस्टर अंकित की पिटाई : अधिकारी

नई दिल्ली। पीटीआई Published By: Praveen Sharma
Tue, 31 Aug 2021 11:49 AM
तिहाड़ के डिप्टी सुपरिटेंडेंट को थप्पड़ मारने के बाद सुरक्षा कर्मियों ने की थी गैंगस्टर अंकित की पिटाई : अधिकारी

तिहाड़ जेल के अंदर गैंगस्टर अंकित गुर्जर की संदिग्ध मौत की प्रारंभिक पुलिस जांच में पता चला है कि उसने डिप्टी सुपरिटेंडेंट को थप्पड़ मारा था, जिसके बाद सुरक्षा कर्मियों ने उसकी कथित तौर पर पिटाई की थी। यह जानकारी सोमवार को अधिकारियों ने दी। पुलिस ने कहा कि उसने जांच के दौरान कई कैदियों एवं जेल के कर्मचारियों के बयान दर्ज किए।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि जेल के अधिकारी 29 वर्षीय अंकित गुर्जर को वहां से शिफ्ट करने का प्रयास कर रहे थे। वह वहां से जाने के लिए तैयार नहीं था और कथित तौर पर उसने डिप्टी सुपरिटेंडेंट को थप्पड़ मार दिया, जिसके बाद सुरक्षा कर्मियों ने उसकी पिटाई की थी।

गुर्जर तिहाड़ जेल के अंदर अपनी सेल में चार अगस्त को मृत पाया गया था, जबकि उसकी सेल में बंद दो अन्य कैदी साथ के लॉक-अप में जख्मी हालत में पाए गए थे।

अंकित गुर्जर एक भाजपा नेता की हत्या सहित कई आपराधिक मामलों में संलिप्त था। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने पहले कहा था कि तीन अगस्त की रात तक तीन कैदी एक ही सेल में बंद थे और उनकी सेल के बाहर मोबाइल फोन मिलने के बाद जेल कर्मियों से उनकी लड़ाई हुई थी।

उन्होंने कहा था कि जेल कर्मियों ने गुर्जर को दूसरी सेल में भेज दिया, जहां से अगली सुबह उसका शव बरामद हुआ। घटना के बाद लापरवाही के आरोप में डिप्टी सुपरिटेंडेंट सहित जेल के चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने सतेंद्र उर्फ ​​सत्ते नाम के एक 28 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया था, जो अंकित गुर्जर की मौत का बदला लेने के लिए जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी को नुकसान पहुंचाने की योजना बना रहा था। सत्ते ने अपने सहयोगी से तिहाड़ जेल के उपाधीक्षक को मारने के लिए एके-47 राइफल खरीदने को कहा था, जिसका ऑडियो बाद में वायरल हो गया।

सत्ते को 17 अगस्त को आउटर रिंग रोड से गिरफ्तार किया गया था और उसके पास से .32 बोर की एक सेमी-ऑटोमैटिक पिस्टल और छह जिंदा कारतूस बरामद किए गए थे। कथित ऑडियो में आरोपी को अपने सहयोगी से यह कहते हुए सुना गया था कि एके-47 राइफल रखने से अपराध की दुनिया में उन्हें अधिक पब्लिसिटी और वर्चस्व मिलेगा।

सुंदर भाटी गैंग से ताल्लुक रखने वाले गुर्जर को 2014 में भाजपा नेता विजय पंडित की हत्या के सिलसिले में उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा से तीन अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया गया था। 7 जून 2014 की रात डाबरी में पंडित की गुर्जर समेत चार लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। 

संबंधित खबरें