ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRअरोड़ा ने संजय सिंह के आवास पर पहुंचाए थे ₹2 करोड़; चार्जशीट में ईडी के आरोप

अरोड़ा ने संजय सिंह के आवास पर पहुंचाए थे ₹2 करोड़; चार्जशीट में ईडी के आरोप

ईडी ने दिल्ली के कथित शराब घोटाला मामले में शनिवार को संजय सिंह के खिलाफ अदालत में पूरक आरोप-पत्र दायर किया। इसमें ईडी ने बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं। जानें ईडी ने संजय सिंह पर क्या लगाए आरोप...

अरोड़ा ने संजय सिंह के आवास पर पहुंचाए थे ₹2 करोड़; चार्जशीट में ईडी के आरोप
Krishna Singhहिंदुस्तान,नई दिल्लीSat, 02 Dec 2023 10:55 PM
ऐप पर पढ़ें

आबकारी नीति घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के खिलाफ अदालत में पूरक आरोप-पत्र दायर किया। इस आरोपपत्र में ईडी ने आप नेता संजय सिंह पर धनशोधन निवारण अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत आरोप लगाए हैं। राउज एवेन्यू अदालत में ईडी संजय सिंह को लेकर हुई जांच के तहत 60 पन्नों का आरोपपत्र दाखिल किया है। इन पन्नों में ईडी ने संजय सिंह पर आरोप लगाने को लेकर चश्मदीद गवाह दिनेश अरोड़ा को अहम गवाह के तौर पर पेश किया है। दिनेश अरोड़ा ने आबकारी नीति घोटाले में संजय सिंह की संलिप्तता को लेकर बयान दिया है।

ईडी को नोटिस जारी कर मांगा जवाब
मालूम हो कि आप नेता संजय सिंह को इस मामले में उनकी कथित संलिप्तता के सिलसिले में चार अक्टूबर को ईडी ने हिरासत में ले लिया था। संजय सिंह फिलहाल तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में है। वहीं संजय सिंह की जमानत याचिका पर बीते 28 नवंबर को अदालत ने ईडी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। विशेष न्यायाधीश एम के नागपाल की अदालत ने ईडी को छह दिसंबर को जवाब दाखिल करने को कहा है।

दो करोड़ रुपये सिंह के आवास पर पहुंचाने का दावा
आप सांसद संजय सिंह के खिलाफ दाखिल आरोपपत्र में कहा गया है कि आरोपी से सरकारी गवाह बने दिनेश अरोड़ा ने अपने बयानों में कहा है कि उसने राज्यसभा सांसद के आवास पर दो किस्तों में दो करोड़ रुपये पहुंचाए थे। ईडी का कहना है कि इस रकम को लेकर उन्होंने दस्तावेज जुटाए हैं। जिन्हें आरोपपत्र के साथ संलग्न किया गया है। हालांकि संजय सिंह ने दिनेश अरोड़ा के इस दावे का खंडन किया है।

उच्च न्यायालय ने सिंह की याचिका हाल की में की खारिज
हाल ही में दिल्ली उच्च न्यायालय ने आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह को कथित आबकारी नीति घोटाला मामले में उनकी रिमांड और गिरफ्तारी को चुनौती देने संबंधी याचिका को खारिज कर दिया था। ईडी ने दावा किया है कि सिंह और उनके सहयोगियों ने वर्ष 2020 में शराब की दुकानों और व्यापारियों को लाइसेंस देने के दिल्ली सरकार के फैसले में भूमिका निभाई। इससे राज्य के खजाने को नुकसान हुआ। इस बाबत सीबीआई ने भ्रष्टाचार विरोधी कानून के तहत पहले मुकदमा दर्ज किया था।

तलाशी के बाद संजय की कि गिरफ्तारी
ईडी ने पहले कई स्थानों की तलाशी ली है, जिसमें संजय सिंह के करीबी सहयोगी अजीत त्यागी अन्य ठेकेदारों और व्यापारियों के घर और कार्यालय शामिल हैं। ये सभी इस घोटाले में लाभ पाने वाले व्यक्ति हैं। ईडी ने पूर्व में अपने करीब 270 पेज के पूरक आरोपपत्र में इस मामले में सिसोदिया को मुख्य साजिशकर्ता बताया है। ईडी ने अब तक छह आरोपपत्र दायर किएईडी ने इस मामले में अपनी पहला आरोपपत्र पिछले साल दाखिल किया था। 

200 से ज्यादा छापेमारी
जांच एजेंसी ने कहा कि दिल्ली के उपराज्यपाल की सिफारिश पर दर्ज किए गए सीबीआई मामले का संज्ञान लेने के बाद प्राथमिकी दर्ज करने के बाद उसने अब तक इस मामले में 200 से अधिक तलाशी अभियान चलाए हैं। तफ्तीश के दौरान सामने आए नामों व दस्तावेजों के आधार पर ईडी ने शनिवार को छठा आरोपपत्र शनिवार को अदालत में दाखिल किया है। इस मामले में सिसौदिया इसी साल फरवरी से न्यायिक हिरासत में जेल में हैं।

केजरीवाल से मिला था आरोड़ा
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आरोपपत्र में इल्जाम लगाया है कि शराब घोटाले के आरोपी कारोबारी दिनेश अरोड़ा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनके आवास पर मुलाकात की थी। इस बैठक में संजय सिंह भी मौजूद थे। ईडी के सामने दिनेश अरोड़ा द्वारा दिए बयान के मुताबिक, वह सबसे पहले एक कार्यक्रम में संजय सिंह से मिला था। इसके बाद वह मनीष सिसोदिया के संपर्क में आया। यह दिल्ली चुनाव से पहले आप नेता द्वारा आयोजित एक फंड जुटाने का कार्यक्रम था। 

सिसोदिया को सौंपा था 32 लाख रुपये का चेक
आरोपपत्र के मुताबिक संजय सिंह के कहने पर दिनेश अरोड़ा ने दिल्ली में आगामी चुनावों के लिए पार्टी फंड इकट्ठा करने के लिए कई रेस्तरां मालिकों से बात की। इतना ही नहीं उसने 32 लाख रुपये का चेक भी सिसोदिया को सौंपा था। ईडी ने यह भी आरोप लगाया है कि संजय सिंह ने दिनेश अरोड़ा का एक मुद्दा सुलझाया जो आबकारी विभाग के पास लंबित था। बहरहाल इस आरोपपत्र पर राउज एवेन्यू स्थित विशेष न्यायाधीश एम के नागपाल की अदालत चार दिसंबर को सुनवाई करेगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें