ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRजेसीबी से तोड़े शीशे, बचाई 70 मरीजों की जान, कैसे लगी सफदरजंग अस्पताल में आग?

जेसीबी से तोड़े शीशे, बचाई 70 मरीजों की जान, कैसे लगी सफदरजंग अस्पताल में आग?

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मंगलवार को आग लग गई। बचाव अभियान के दौरान जेसीबी से बि‍ल्डिंग के कई शीशे तोड़कर धुआं बाहर निकाला गया। बचावकर्मियों ने 70 मरीजों को सुरक्षित बाहर निकाला...

जेसीबी से तोड़े शीशे, बचाई 70 मरीजों की जान, कैसे लगी सफदरजंग अस्पताल में आग?
Krishna Singhहिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 25 Jun 2024 09:11 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मंगलवार को उस समय अफरातफरी मच गई जब अस्पताल की पुरानी इमरजेंसी में अचानक आग लग गई। यह आग भंडार कक्ष में लगी थी। आग लगने की वजह ग्राउंड फ्लोर पर बिजली यूनिट में शॉर्ट सर्किट होना बताया जा रहा है। पुरानी इमरजेंसी में एंटी रेबीज क्लीनिक और त्वचा रोग विभाग के वार्ड संचालित हैं। इस वजह से कम लोग यहां मौजूद थे। लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

मौके पर पहुंची थीं 10 गाड़ियां
आग लगने की सूचना पर दमकल की 10 गाड़ियां मौके पर पहुंची थीं, लेकिन इससे पहले ही अस्पताल की फायर सुरक्षा टीम ने इस पर काबू पा लिया था। घटना के समय अस्पताल में मौजूद डॉ. आयुष ने बताया कि उन्हें करीब साढ़े 10 बजे आग लगने के बारे में पता चला।

70 मरीजों को बाहर निकाला
बचाव अभियान के दौरान जेसीबी से बि‍ल्डिंग के कई शीशे तोड़कर यहां से धुआं बाहर निकालने में मदद की गई। इस दौरान करीब 70 मरीजों और तीन नर्स को सुरक्षित बाहर निकाला गया। इस इमारत के प्रथम तल पर एंटी रैबीज क्लीनिक चलाया जाता है। दूसरे तल पर लैब मौजूद है। तीसरे तल पर त्वचा रोग के मरीजों के लिए लैब की सुविधा है। स्किन वार्ड और डॉग बाइट क्लिनिक को नई इमरजेंसी की इमारत में स्थानांतरित कर दिया गया है। 

अस्पताल के ग्राउंडफ्लोर के सामने वाले हिस्से में लगी थी आग
सफदरजंग अस्पताल प्रशासन ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि भवन के भूतल के सामने वाले हिस्से में आग लगी थी। स्थानीय सुरक्षा गार्ड ने आग बुझाने के लिए तुरंत कार्रवाई शुरू की। कुछ ही देर में सफदरजंग अस्पताल की अग्निशमन टीम और सीपीडब्ल्यूडी के कर्मचारी मौके पर पहुंच गए। अस्पताल की अग्नि सुरक्षा प्रणाली काम कर रही थी और आग पर काबू पाने के लिए उसे सक्रिय कर दिया गया। आग बुझाने में अस्पताल के कर्मियों ने मदद की।

Advertisement