ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRसफदरजंग अस्पताल पर भी जल संकट की मार, स्पोर्ट्स इंजुरी सेंटर में 5 सर्जरियां रद

सफदरजंग अस्पताल पर भी जल संकट की मार, स्पोर्ट्स इंजुरी सेंटर में 5 सर्जरियां रद

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के स्पोर्ट्स इंजरी सेंटर पर भी जल संकट का असर पड़ा है। स्पोर्ट्स इंजरी सेंटर में बुधवार को पानी की कमी से ऑपरेशन थिएटर का काम प्रभावित हुआ है। पढ़ें यह रिपोर्ट...

सफदरजंग अस्पताल पर भी जल संकट की मार, स्पोर्ट्स इंजुरी सेंटर में 5 सर्जरियां रद
delhi water crisis
Krishna Singhहेमंत राजौरा,नई दिल्लीWed, 19 Jun 2024 08:56 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में गहराए जल संकट से अस्पताल भी प्रभावित होने लगे हैं। दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के स्पोर्ट्स इंजरी केंद्र में बुधवार को पानी की कमी से ऑपरेशन थिएटर का काम प्रभावित हुआ है। बताया जाता है कि अस्पताल में पर्याप्त पानी न होने से एसी पूरी तरह काम नहीं कर पाया। इस वजह से ऑपरेशन थिएटर का तापमान सही न होने की वजह से बुधवार को पांच सर्जरी स्थगित हो गई हैं। बुधवार को पानी न होने से एचवीएसी चिलर प्लांट कुछ देर के लिए बंद हो गया। 

टैंकर से मंगाया जा रहा पानी
दरअसल, अस्पताल में केंद्रीयकृत एसी संचालित करने के लिए पानी की जरूरत होती है। पिछले कुछ समय से पानी की समस्या के कारण वॉटर टैंकर से पानी मंगाया जा रहा है। बुधवार को पानी के प्लांट पर रेड की वजह से समय पर टैंकर अस्पताल नहीं पहुंच सका। इससे परेशानी का सामना करना पड़ा।

ऑपरेशन थिएटर में संक्रमण का खतरा
अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि ऑपरेशन थिएटर में मरीज की सर्जरी करते समय तापमान 22 डिग्री सेल्सियस से अधिक नहीं होना चाहिए। बुधवार को एसी से तापमान 26 डिग्री तक पहुंच गया था। ऐसे में सर्जरी के दौरान मरीजों को संक्रमण का खतरा होता है। इस वजह से कुछ सर्जरी रद्द करनी पड़ी।

तीन दिन से नहीं चल रहा एसी
इससे पहले खबर आई कि सफदरजंग अस्पताल के सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में बीते तीन दिन से एसी नहीं चल रहा है। सूत्रों ने बताया कि एसी नहीं चलने से मरीजों की डायलिसिस जैसी सुविधाएं प्रभावित हो रही हैं। इस मसले जब तूल पकड़ा और बात मीडिया में आई तो अस्पताल प्रशासन ने कहा कि इमारत के केंद्रीयकृत एसी की डिस्केलिंग का काम चल रहा है। इससे परेशानी आई है। एसी एक से दो दिन में चलने लगेगा। फिलहाल मरीजों के लिए पंखे लगाए गए हैं।