DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी नौकरी के नाम पर 122 लोगों से 7 करोड़ रुपये ठगे, केंद्रीय मंत्री का करीबी बनकर दिया झांसा

नोएडा सेक्टर-8 में सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर 122 युवकों से 7 करोड़ रुपये से ज्यादा की धोखाधड़ी कर ली। पुलिस के मुताबिक, ठग ने खुद को केंद्रीय राज्य मंत्री गिरिराज सिंह का करीबी बताया था। सोमवार को आरोपी दफ्तर बंद कर फरार हो गया। ठगी के शिकार युवक हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों से हैं।

सेक्टर-8 में अगस्त 2018 माह में इंडिया राइजिंग कॉरपोरेशन लिमिटेड कंपनी के नाम से दफ्तर खुला था। इसका डायरेक्टर अभिषेक गुप्ता था। उसने बिल्डिंग के भूतल और प्रथम तल को किराए पर ले रखा था। वह खुद को आईएएस अफसर बताता था और दावा करता था कि उसकी कंपनी सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय की कंपनी है। उसने प्रारंभ में कुछ लड़कों को कंपनी में नौकरी पर रख लिया। फिर इन लड़कों के माध्यम से सरकारी नौकरी लगवाने का प्रचार किया। 

पांच लाख लेकर नौकरी दी : प्रारंभ में उसने 5-5 लाख रुपये लेकर पांच लड़कों को कंपनी में नौकरी दी। सभी युवकों को मैनेजिंग प्रबंधक के पद पर रखा गया। वह इनको प्रति माह 30 हजार रुपये देता था। समय पर तनख्वाह मिलने पर इन युवकों को भी उस पर भरोसा हो गया। इसके बाद इन युवकों ने अन्य युवकों को नौकरी के बारे में बताया। सरकारी नौकरी के लालच में आकर काफी संख्या में युवक झांसे में आते चले गए। इसके बाद डायरेक्टर ने युवकों से 5 लाख के स्थान पर 6 से 8 लाख रुपये लेने शुरू कर दिए। वर्तमान में उसके दफ्तर में 102 युवक काम कर रहे थे। 

एक माह से नहीं मिला वेतन

पिछले एक माह की युवकों को तनख्वाह नहीं मिली थी। इससे युवकों को डायरेक्टर पर शक होने लगा था। सोमवार सुबह जब युवक 8 बजे दफ्तर पहुंचे तो वहां ताला लगा हुआ था। डायरेक्टर को फोन किया तो उसका नंबर बंद था।

थाने में नहीं हुई सुनवाई

सभी युवकों ने सेक्टर-20 कोतवाली में पहुंचकर शिकायत की। मगर यहां उनकी सुनवाई नहीं हुई। सभी युवक सेक्टर-6 स्थित एसपी सिटी के दफ्तर पहुंचे कार्रवाई की मांग की। 

खुदकुशी करने को कहा

डायरेक्टर अभिषेक गुप्ता ने युवकों का व्हाट्सएप ग्रुप बना रखा था। सोमवार सुबह 4:21 बजे ग्रुप में लिखा कि कल से कंपनी बंद हो जाएगी। अब वह खुदकुशी करने जा रहा है। 

टूर-ट्रेवल के नाम पर करोड़ों हड़पे

नोएडा। एक नामी टूर-ट्रेवल पोर्टल के नाम पर सैकड़ों लोगों से करोड़ों रुपये का निवेश कराकर एक कंपनी के संचालक ऑफिस पर ताला जड़कर फरार हो गए। इस संबंध में पीड़ित निवेशकों ने सोमवार को सेक्टर-24 थाने में शिकायत दी है। 

एक नामी टूर-ट्रेवल पोर्टल के माध्यम से लोग ऑनलाइन रेलवे, हवाई टिकट, होटल बुक कराते हैं। इसी नामी कंपनी के नाम का प्रयोग करके टॉपइफ कंपनी सेवा मुहैया कराने का दावा करती है। इस कंपनी का ऑफिस सेक्टर-32 स्थित लॉजिक्स मॉल की दसवीं मंजिल पर है। पुलिस के मुताबिक टॉपइफ कंपनी ने निवेश के नाम पर लोगों को कुछ स्कीम बताई। इसके तहत निवेशक सात हजार से लेकर सवा लाख का प्लान ले सकते हैं। प्लान लेने के बाद निवेशक को प्रतिमाह व प्रति सप्ताह कंपनी की तरफ से हवाई टिकट, होटल के कूपन दिए जाने का दावा किया गया। साथ ही कंपनी की तरफ से दावा किया गया वह जो पैसा निवेश करेंगे, वह कंपनी के पास सुरक्षित रहेगा। जब निवेशक चाहेगा तो वह अपना सारा पैसा वापस ले सकेगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rupees 7 crore cheated from 122 people in the name of govt job