ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRपार्षदों ने हवा में उछाल दिए कागज के टुकड़े, MCD सदन में क्यों हुआ खूब हंगामा; वीडियो

पार्षदों ने हवा में उछाल दिए कागज के टुकड़े, MCD सदन में क्यों हुआ खूब हंगामा; वीडियो

सदन के नेता मुकेश गोयल ने यह कटौती प्रस्ताव सदन में रखा था ताकि विभिन्न जोनल कमेटियों में राजस्व व्यय को मोडिफाइ किया जा सके। इस कट मोशन के जरिए मेयर की वित्तीय शक्तियां बढ़ाई जा सकती हैं।

पार्षदों ने हवा में उछाल दिए कागज के टुकड़े, MCD सदन में क्यों हुआ खूब हंगामा; वीडियो
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 06 Feb 2024 07:16 PM
ऐप पर पढ़ें

MCD सदन में दूसरे दिन यानी मंगलवार को एक बार फिर जमकर हंगामा हुआ है। सदन में कटौती प्रस्ताव (कट मोशन) पेश किया गया था। दिल्ली नगर निगम में सदन के नेता मुकेश गोयल के द्वारा यह प्रस्ताव पेश किया गया था। जिसके बाद बीजेपी पार्षद इस प्रस्ताव को वापस लेने की मांग करने लगे। इससे पहले हंगामे की वजह से ही मेयर शैली ओबेरॉय ने सोमवार की सदन की कार्यवाही मंगलवार 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी थी। लेकिन मंगलवार को सदन की कार्यवाही जैसे ही शुरू हुई इसके कुछ देर बाद ही फिर से सदन में हंगामा हुआ। 

आम आदमी पार्टी इस कट मोशन को एमसीडी सदन में लेकर आई है। बताया जा रहा है कि इसके जरिए मेयर की वित्तीय शक्तियां बढ़ेंगी। सदन के नेता मुकेश गोयल ने यह कटौती प्रस्ताव सदन में रखा था ताकि विभिन्न जोनल कमेटियों में राजस्व व्यय को मोडिफाइ किया जा सके। कहा जा रहा है कि इसके जरिए मेयर के हाथों में फंड का कंट्रोल देने की भी कोशिश है।

एमसीडी बजट 2023-2024 में संशोधन करना चाहती है और इसी के लिए कट मोशन के प्रस्ताव लाए गए हैं। जिसे लेकर कहा जा रहा है कि इससे मेयर शैली ओबेरॉय की वित्तीय शक्तियों में इजाफा होगा। विपक्षी पार्षद बजट में प्रस्तावित संशोधन का विरोध कर रहे थे। उनका कहना था कि इससे कमेटियों की शक्तियां बटेंगी और फंडों को जारी करने की सारी शक्ति मेयर के पास चली जाएगी। इसे लेकर सदन में हुए हंगामे का एक वीडियो सामने आया है।

इस वीडियो में नजर आ रहा है कि कई पार्षद सदन में लगातार नारे लगा रहे हैं। कुछ पार्षद मेयर के सामने खड़े होकर शोर करते नजर आ रहे हैं। एमसीडी सदन में इस हंगामे के दौरान पार्षद कागज के टुकड़े भी कई बार हवा में उछाल देते हैं। वीडियो में नजर आ रहा है कि मेयर शैली ओबेरॉय लगातार पार्षदों से अपील कर रही हैं कि वो सदन में शांति बनाए रखें और अपनी सीट पर बैठ जाएं। 

दिल्ली नगर निगम के संशोधित बजट अनुमान 2023-24 पर चर्चा के लिए यह बैठक सोमवार को भी बुलाई गई थी। भाजपा ने बजट में संशोधन (कट मोशन) के प्रस्तावों का विरोध किया और इसे वापस लेने की मांग की है। बताया जा रहा है कि सदन में भाजपा पार्षद योगेश वर्मा ने इस मुद्दे को उठाया था। कई विपक्षी पार्षद मेयर के आसन के करीब आकर बजट संशोधन को वापस लेने की मांग करते नजर आए। हंगामा शांत नहीं होने पर मेयर ने पहले सदन की बैठक को 10 मिनट के लिए स्थगति कर दिया। इसके बाद फिर बैठक शुरू होते ही हंगामा शुरू हो गया। जिसके बाद बैठक को आधे घंटे के लिए स्थगित करना पड़ा। 

भाजपा पार्षदों का कहना है कि कर्मचारियों के वेतन का मामला हो या वार्ड कमेटियों से लेकर स्थायी समित तक के फंड को मेयर के विवेकाधिकार वाले फंड में स्थानांतरित किया गया है। भाजपा पार्षद इसे जन विरोधी और कर्मचारी विरोधी बता रहे हैं। कांग्रेस के पार्षद भी इसका विरोध कर रहे हैं। बहरहाल विपक्षी पार्षदों के हंगामे को देखते हुए बाद में मेयर ने एमसीडी सदन की कार्यवाही 7 फरवरी को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। बता दें कि कट मोशन के तहत निगम के बजट को अलग-अलग मदों में बांटा जाता है। इन मदों के लेखा शीर्ष के मुताबिक बांटा जाता है। नियम के मुताबिक इन्हीं मदों में उल्लेख किया जाता है कि कितना खर्च किस मद में किया जा रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें