DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › रोहिणी कोर्ट गोलीबारीः दिल्ली बार काउंसिल ने सुरक्षा में बड़ी चूक माना, सीपी से मिलेगा प्रतिनिधिमंडल
एनसीआर

रोहिणी कोर्ट गोलीबारीः दिल्ली बार काउंसिल ने सुरक्षा में बड़ी चूक माना, सीपी से मिलेगा प्रतिनिधिमंडल

नई दिल्ली लाइव हिन्दुस्तानPublished By: Yogesh Yadav
Fri, 24 Sep 2021 05:06 PM
रोहिणी कोर्ट गोलीबारीः दिल्ली बार काउंसिल ने सुरक्षा में बड़ी चूक माना, सीपी से मिलेगा प्रतिनिधिमंडल

राजधानी दिल्ली की हाई सिक्योरिटी वाली रोहिणी कोर्ट में फायरिंग से हर कोई सकते में है। फायरिंग में कुख्यात बदमाश गोगी मारा गया है। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दो बदमाशों को भी मार गिराया गया है। सबकुछ कोर्ट रूम में हुआ है। दो हथियारबंद बदमाश वकील के वेश में आए थे। सनसनीखेज वारदात से कोर्ट की सुरक्षा और जांच प्रक्रिया को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं। अदालत परिसर के भीतर इस तरह की घटना ने खौफनाक मंजर पेश किया है। वकीलों ने इसे लेकर इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है। पुलिस कमिश्नर से भी मुलाकात की तैयारी हो रही है। दिल्ली की जिला अदालतों की सुरक्षा को लेकर वकील शनिवार को हड़ताल पर रहेंगे। 

दिल्ली बार काउंसिल के चेयरमैन राकेश शेरावत ने कहा कि कोर्ट परिसर में इस तरह की घटना होगा सुरक्षा व्यवस्था पर बड़ा सवाल खड़ा करता है। ऐसा लगता है कि सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है। इस तरह की घटनाएं बार-बार हो रही हैं। कोर्ट की सुरक्षा दांव पर है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर तक इस मुद्दे को उठाने के बावजूद कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। शेरावत ने कहा कि सुरक्षाकर्मियों की लापरवाही के कारण ही इस तरह की घटनाएं बार-बार हो रही हैं। हम इस मुद्दे को एक जरूरी बैठक में उठाएंगे। आज या कल दिल्ली पुलिस कमिश्नर से मिलने की कोशिश करेंगे और जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे।

इस तरह हुई पूरी घटना

दिल्ली पुलिस गैंगस्टर जितेंद्र मान 'गोगी' को लेकर एक मामले की सुनवाई के लिए रोहिणी कोर्ट आई थी। इसी दौरान वकील की ड्रेस में आए दो बदमाशों ने फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दोनों बदमाशों को ढेर कर दिया। गोगी को तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। जितेंद्र गोगी के खिलाफ हत्या और लूट समेत कई संगीन आपराधिक मामले दर्ज थे। वह तिहाड़ जेल में बंद था, जहां से उसे एक मामले की सुनवाई के लिए कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था। उसे मारने वाले बदमाशों की पहचान टिल्लू ताजपुरिया गैंग के राहुल और मोरिष के रूप में हुई है।

संबंधित खबरें