DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › गाजियाबाद में परिवार को बंधक बनाकर लूटा, विरोध करने पर बच्चे के मुंह में भर दी एलफी
एनसीआर

गाजियाबाद में परिवार को बंधक बनाकर लूटा, विरोध करने पर बच्चे के मुंह में भर दी एलफी

गाजियाबाद | वरिष्ठ संवाददाताPublished By: Praveen Sharma
Thu, 25 Mar 2021 12:57 PM
गाजियाबाद में परिवार को बंधक बनाकर लूटा, विरोध करने पर बच्चे के मुंह में भर दी एलफी

गाजियाबाद शहर में बेखौफ बदमाशों ने बुधवार देर शाम शास्त्री नगर स्थित कारोबारी के मकान में घुसकर मां बेटे को बंधक बना लिया और करीब चार लाख की नकदी और जेवर लूटकर फरार हो गए। इस दौरान बच्चे ने विरोध किया तो बदमाशों ने उसके मुंह में एलफी (सामान चिपकाने वाला पदार्थ) भर दिया। लूट की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

शास्त्री नगर के बी-ब्लॉक में रहने वाले कारोबारी प्रवीन सिंघल ने बताया कि उनकी पटेल नगर में इलेक्ट्रानिक्स की दुकान है। बुधवार की शाम को वह अपनी दुकान पर थे। वहीं उनके घर में उनकी पत्नी और 12 साल का बेटा प्रभव थे। शाम करीब सवा सात बजे बदमाशों ने उनके घर की डोरबेल बजाई। उनकी पत्नी ने जैसे ही दरवाजा खोला, बदमाश उन्हें धक्का देते हुए घर के अंदर घुस गए। इसके बाद बदमाशों ने उन्हें चाकू की नोंक पर लेते हुए दरवाजा बंद कर दिया और उन्हें धमकाने लगे।

इतने में अंदर के कमरे में पढ़ाई कर रहा उनका बेटा प्रभव बाहर निकला और हालात को देखकर वाइपर से एक बदमाश को मारा। इस हमले से बदमाश एक बार तो तिलमिला गए, लेकिन बदमाशों ने तुरंत प्रभव को काबू किया और उसके मुंह में एलफी भर दिया। गले तक एलफी उतर जाने से प्रभाव की उसकी हालत खराब हो गई।

महिला से खुलवाई अलमारी

पीड़ित ने बताया कि बदमाशों ने पूरा घर खंगाल लिया। इस दौरान एक अलमारी नहीं खुली तो बदमाशों ने उनकी पत्नी को बाहर निकालकर उनसे ही अलमारी खुलवाई और उसमें रखी ढाई लाख की नकदी और करीब डेढ़ लाख रुपये मूल्य के जेवर लेकर फरार हो गए। जाते-जाते बदमाश उनकी पत्नी का मोबाइल फोन, घर में लगे सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर भी उठाकर ले गए हैं। बदमाश करीब आधे घंटे तक घर में रहे। 

हेलमेट पहनकर आए थे बदमाश

पीड़ित की पत्नी शालिनी ने बताया कि दोनों बदमाश हेलमेट पहनकर आए थे। उनके चेहरे पर मास्क भी लगा था। बदमाश बार-बार गोली मारने की धमकी दे रहे थे। हालांकि, उन्होंने तमंचा नहीं निकाला। शायद बदमाशों के पास तमंचा था ही नहीं। पीड़िता ने बताया कि उसने आखिरी दम तक संघर्ष किया, लेकिन बेटे को एलफी पिलाने से हालत बिगड़ते देखकर उसने संघर्ष करना छोड़ दिया।  

''बदमाशों ने बंधक बनाकर ढाई लाख रुपये की लूट को अंजाम दिया है। पुलिस सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा।'' -अवनीश कुमार, सीओ द्वितीय

संबंधित खबरें