ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRबिल्डर-खरीदारों के विवाद जल्द सुलझाएं, सीएम योगी का आदेश; तीन लाख फ्लैट मालिकों को मिलेगा फायदा

बिल्डर-खरीदारों के विवाद जल्द सुलझाएं, सीएम योगी का आदेश; तीन लाख फ्लैट मालिकों को मिलेगा फायदा

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने तीनों प्राधिकरणों को आदेश दिया है कि वह बिल्डरों और खरीदारों के विवादों को प्राथमिकता के आधार पर हल करें। इससे तीन लाख को फायदा मिलेगा।

बिल्डर-खरीदारों के विवाद जल्द सुलझाएं, सीएम योगी का आदेश; तीन लाख फ्लैट मालिकों को मिलेगा फायदा
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,ग्रेटर नोएडा गाजियाबादSat, 09 Dec 2023 06:46 AM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना प्राधिकरण से बिल्डरों और खरीदारों के मुद्दे की स्थिति जानी। उन्होंने कहा कि इन विवादों को सुलझाएं। कानूनी प्रक्रिया में मसलों को उलझाने की जरूरत नहीं है। उन रास्तों पर काम किया जाए, जिससे समस्याएं सुलझ सकें। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में नोएडा, ग्रेटर नोएडा, यमुना प्राधिकरण व मेरठ मंडल की कानून व्यवस्था और विकास कार्यों की समीक्षा की। 

करीब दो घंटे तक चली बैठक में मुख्यमंत्री ने तीनों प्राधिकरणों को आदेश दिया है कि वह बिल्डरों और खरीदारों के विवादों को प्राथमिकता के आधार पर हल करें। खरीदार परेशान हैं और लगातार सरकार से संपर्क कर रहे हैं। गौरतलब है कि नोएडा-ग्रेनो में करीब तीन लाख फ्लैट खरीदार फंसे हुए हैं। इनमें करीब सवा दो लाख लोगों को फ्लैट पर कब्जा मिलना है और करीब 75 हजार लोग रजिस्ट्री के इंतजार में है। बिल्डरों पर बकाया होने के कारण प्राधिकरण रजिस्ट्री की अनुमति नहीं दे रहा है, जिसका खामियाजा फ्लैट खरीदारों को भुगतना पड़ रहा है।

यहां पर खरीदार करीब 10 साल से फ्लैट पाने के इंतजार में हैं। खरीदार प्राधिकरण अफसर, जनप्रतिनिधि और शासन स्तर पर भी अधिकारियों से मिलकर गुहार लगा चुके हैं, लेकिन कोई राहत नहीं मिली। इसके अलावा पांच-छह साल से लोग फ्लैट की रजिस्ट्री का इंतजार भी कर रहे हैं। बिल्डरों पर बकाया होने के कारण प्राधिकरण रजिस्ट्री की अनुमति नहीं दे रहा है, जिसका खामियाजा फ्लैट खरीदारों को भुगतना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि बकाया देने की जिम्मेदारी बिल्डर की है, लेकिन प्राधिकरण फ्लैट खरीदारों को मोहरा बनाकर पैसा वसूलना चाहता है, जो कि पूरी तरह गलत है। मेरठ की मंडलायुक्त से कहा कि सभी जिलाधिकारी थानों और तहसीलों में आने वाली समस्याओं पर नजर रखें।

अवैध कॉलोनियों को हटाया जाए 

योगी ने अधिकारियों से अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा। अवैध कॉलोनियों को हटाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने तीन जिलों में निवेश की स्थिति की समीक्षा की। अधिकारियों को कंपनियों को समय पर भूमि आवंटन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उन्होंने अधिकारियों से परियोजनाओं के उद्घाटन में विधायकों और सांसदों को शामिल करने को कहा। योगी ने प्रदूषण की रोकथाम के लिए हिंडन के किनारे अतिक्रमण को रोकने और वृहद पौधरोपण करने के निर्देश दिए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें