ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्लीवालों का खत्म होगा इंतजार, 21 हजार को रामलला के दर्शन कराएगी BJP; कब जाएगा पहला जत्था

दिल्लीवालों का खत्म होगा इंतजार, 21 हजार को रामलला के दर्शन कराएगी BJP; कब जाएगा पहला जत्था

दिल्ली बीजेपी लोगों को आने वाले हफ्तों में रामलला के दर्शन करवाएगी। पार्टी ने इसे लेकर तैयारियां कर ली हैं। बीजेपी दिल्ली के 21,000 लोगों को अयोध्या के मंदिर लेकर जाएगी।

दिल्लीवालों का खत्म होगा इंतजार, 21 हजार को रामलला के दर्शन कराएगी BJP; कब जाएगा पहला जत्था
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 31 Jan 2024 11:43 AM
ऐप पर पढ़ें

अयोध्या के मंदिर में रामलला विराजमान हो चुके हैं। करोड़ों भक्त ऐसे हैं जो उनके दर्शनों के लिए ललायित हैं। ऐसे कुछ भक्तों को भगवान से मिलाने का काम बीजेपी करने वाली है। पार्टी दिल्ली के 21,000 लोगों को अगले कुछ हफ्तों में अयोध्या लेकर जाएगी। दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि पहला जत्था पांच फरवरी को चांदनी चौक से 1,500 लोगों के साथ रवाना होगा। इसके अगले दिन यानी 6 फरवरी को केशवपुरम से दूसरा जत्थे को ले जाया जाएगा।

बीजेपी दिल्ली के सात लोकसभा क्षेत्रों- नई दिल्ली, दक्षिण, उत्तर पश्चिम, चांदनी चौक, उत्तर पूर्व, पश्चिम और पूर्व, हर सीट से 3,000 लोगों को अयोध्या लेकर जाएगी। कपूर ने कहा कि पहले चरण में 21,000 लोगों को ट्रेन के जरिए अयोध्या ले जाया जाएगा। लोगों को दर्शन कराने का सिलसिला जारी रहेगा। बता दें कि आप ने बताया था कि मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत दिल्ली सरकार ने रामलला के दर्शन के लिए अतिरिक्त जत्था अयोध्या भेजने की योजना बनाई है।

लोकसभा चुनाव करीब हैं, ऐसे में दिल्ली बीजेपी ने भी कई आउटरीच कार्यक्रमों की योजना बनाई है। लोकसभा के 543 सदस्यों को चुनने के लिए अप्रैल और मई के बीच देश भर में आम चुनाव होने की उम्मीद है। दिल्ली में लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टियों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिल सकती है। पिछले दो आम चुनावों में भाजपा ने दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं इस बार आप और कांग्रेस इंडिया गठबंधन के तहत मिलकर चुनाव लड़ सकते हैं।

भाजपा के सूत्रों ने कहा कि उम्मीदवार चयन प्रक्रिया शुरू करने से पहले प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में सर्वे किया जा रहा है। एक नेता ने कहा, 'हम सालों सर्वे करते रहते हैं। वर्तमान में काफी सरल सर्वे किए जा रहे हैं, जिसके परिणाम उम्मीदवारों पर आखिरी फैसला लेने के लिए पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के साथ साझा किए जाएंगे।' पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति उम्मीदवारों के चयन पर अंतिम फैसला लेती है। जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करते हैं। इसमें कमेटी में 15 सदस्य होते हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें