ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRफर्राटेदार इंग्लिश बोलने वाले 150 लड़के-लड़कियां पकड़े गए; नोएडा के फ्लैट-कोठियों में बड़ा खेल

फर्राटेदार इंग्लिश बोलने वाले 150 लड़के-लड़कियां पकड़े गए; नोएडा के फ्लैट-कोठियों में बड़ा खेल

नोएडा के फ्लैट और फार्म हाउस में एक बड़ा खेल चल रहा है। पुलिस ने एक साल में ताबड़तोड़ कार्रवाई करके फर्जी कॉल सेंटर में काम करने वाले 150 लड़के-लड़कियों को पकड़ा है। विदेशियों से की जाती है ठगी।

फर्राटेदार इंग्लिश बोलने वाले 150 लड़के-लड़कियां पकड़े गए; नोएडा के फ्लैट-कोठियों में बड़ा खेल
Sudhir Jhaहिन्दुस्तान,नोएडाThu, 23 Nov 2023 07:51 AM
ऐप पर पढ़ें

नोएडा के फ्लैट और फार्म हाउस में फर्जी कॉल सेंटर खोलकर ठग अमेरिका, कनाडा और यूरोप में बैठे लोगों से ठगी कर रहे हैं। पुलिस पिछले छह महीने में फ्लैट और फार्म हाउस में चल रहे 10 फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश कर चुकी है। उनके खिलाफ विदेशी एजेंसियों ने शिकायत की थी।

पुलिस की नजरों से बचने के लिए जालसाज शहर के फार्म हाउस और सोसाइटी के फ्लैट में भी बड़े स्तर पर फर्जी कॉल सेंटर खोल कर ठगी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। पिछले छह महीने में पुलिस ने 10 से अधिक फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा किया। आरोपियों ने मकान मलिक से रहने के लिए रेंट पर फ्लैट लिए और उसके अंदर पूरा कॉल सेंटर चलाने लगे। इसी प्रकार से चल रहे एक कॉल सेंटर का खुलासा एसटीएफ की टीम ने शनिवार को किया था। यह कॉल सेंटर महागुन मायवुड सोसाइटी के फ्लैट में चल रहा था। इसके साथ ही 17 नवंबर को पुलिस ने सेक्टर-2 के एक मकान में चल रहे कॉल सेंटर का खुलासा किया था। जालसाजों ने मकान को रहने के लिए किराये पर लिया था।

शहर में सक्रिय ठग अमेरिका, कनाडा और यूरोप में बैठे लोगों को बीमा पॉलिसी और हेल्थ पॉलिसी, बैंकिंग सुविधा दिलाने का झांसा देकर ठगी कर रहे हैं। इसके लिए जालसाज इंटरनेट कॉलिंग, ई-मेल ब्लॉस्टिंग, एसएमएस ब्लॉस्टिंग की तकनीकी का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसको लेकर लगातार एसटीएफ और अन्य सुरक्षा एजेंसियों को विदेशी जांच एजेंसियों की तरफ से शिकायत मिल रही हैं। पुलिस ने इस महीने अमेरिकी लोगों से ठगी करने वाले तीन कॉल सेंटरों का खुलासा किया है। ठगी के मामलों की जांच करने के लिए अक्तूबर 2018 में अमेरिका की जांच एजेंसी एफबीआई और कनाडा पुलिस नोएडा आ चुकी है। साइबर ठगी के मामले बढ़े गौतमबुद्ध नगर में साइबर ठगी रोजाना आठ से 10 मामले दर्ज हो रहे हैं। अधिकतर मामलों में लिंक भेजकर और मोबाइल हैक कर पीड़ित के खाते से रुपये निकाले जा रहे हैं।

पकड़े जा चुके 150 लड़के-लड़कियां
युवक-युवतियों को नौकरी के नाम पर फंसा रहे फर्जी कॉल सेंटर चलाने वाले जालसाज कॉलेज से पासआउट होने वाले युवक और युवतियों को एजेटों के जरिए नामी कंपनियों में नौकरी दिलाने की बात करके लाते हैं। आरोपी उनको रुपये का लालच देकर ठगी के धंधे में उतार देते हैं। पुलिस ने एक साल में इन कॉल सेंटर से 150 से अधिक युवक-युवतियों को पकड़ा।

पहले भी हुई सख्ती
19 नवंबर 2023
नोएडा एसटीएफ और पुलिस ने सेक्टर-3 में छापा मारकर अमेरिकी नागरिकों को ठगने वाले कॉल सेंटर का भंडाफोड़ कर 16 आरोपियों को गिरफ्तार किया।

18 नवंबर 2023 एसटीएफ ने ग्रेनो वेस्ट की महागुन मायवुड सोसाइटी के फ्लैट में फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश कर 24 आरोपियों को गिरफ्तार किया।

16 नवंबर 2023 फेज-1 पुलिस ने अमेरिकी नागरिकों को हेल्थ एंश्योरेंस पॉलिसी देने का झांसा देकर ठगी करने वाले फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा किया। पुलिस ने गिरोह में शामिल 14 लोगों को गिरफ्तार किया।

11 नवंबर 2023 पुलिस ने ऑनलाइन तकनीकी सहायता देने का झांसा देकर अमेरिका और कनाडा के नागरिकों से ठगी करने वाले गिरोह के सात आरोपियों को फार्म हाउस से दबोचा।

24 अगस्त 2023 पुलिस ने अमेरिकी नागरिकों को ठगने वाले कॉल सेंटर का पर्दाफाश कर 84 आरोपियों को पकड़ा।

पांच साल में ढाई हजार पर कार्रवाई
नोएडा पुलिस ने पिछले पांच साल में शहर में चल रहे 260 फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा किया। इसके बावजूद नोएडा फर्जी कॉल सेंटर का हब बना हुआ है। सूत्रों के मुताबिक यहां पर दो हजार के करीब फर्जी कॉल सेंटर हैं, जो रोजाना देश और दुनिया में बैठे लोगों के साथ साइबर फिशिंग के जरिए करोड़ों की ठगी कर रहे हैं। झारखंड का जामताड़ा साइबर ठगी का एक बड़ा और बहुचर्चित केंद्र है। यहां से ठग देशभर के लोगों को शिकार बनाते हैं। अब ऐसा ही हाल नोएडा का हो गया है। यहां सक्रिय ठग देश के विभिन्न राज्यों के साथ ही विदेश में बैठे लोगों से अलग-अलग तरीकों से जालसाजी कर रहे हैं।

सत्यापन अभियान चलाने की तैयारी
अपर पुलिस आयुक्त कानून और व्यवस्था आनंद कुलकर्णी ने बताया कि पुलिस की टीमें लगातार फर्जी कॉल सेंटर पर कार्रवाई कर रही है। इसके लिए पुलिस और इंटेलिजेंस की कई टीमें लगाई गई हैं। पुलिस की टीमें जल्द ही अभियान चलाकर शहर में चल रहे कॉल सेंटरों का सत्यापन करेंगी। इसके साथ ही पहले से पकड़े गए आरोपियों पर गैंगस्टर ऐक्ट के तहत कर्रवाई की जा रही है।

जालसाजी से बचने के लिए ये सावधानी बरतें
1.
एटीएम या बैंक अकाउंट से जुड़ी डिटेल किसी से शेयर न करें।
2. अपना एटीएम कार्ड किसी को न दें, लॉटरी के लालच में न फंसें।
3. फाइनेंस से संबंधित कोई सूचना फोन या ई-मेल पर न दें।
4. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अजनबी से दोस्ती न करें।
5. दूसरे देश के किसी भी नंबर से अंजान फोन आए तो न उठाएं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें