ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRसंगरूर सीट पर हुए उपचुनाव में क्यों हारी आम आदमी पार्टी? सांसद राघव चड्ढा ने बताई वजह

संगरूर सीट पर हुए उपचुनाव में क्यों हारी आम आदमी पार्टी? सांसद राघव चड्ढा ने बताई वजह

'आप' के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने संगरूर उपचुनाव में अपनी पार्टी की हार के लिए कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल और भाजपा सहित अन्य राजनीतिक दलों के वोट शेयर में आई गिरावट को जिम्मेदार ठहराया है।

संगरूर सीट पर हुए उपचुनाव में क्यों हारी आम आदमी पार्टी? सांसद राघव चड्ढा ने बताई वजह
Praveen Sharmaनई दिल्ली। एएनआईSun, 26 Jun 2022 11:24 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

संगरूर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) की करारी हार से 'आप' को बड़ा झटका लगा है। इस सीट पर शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) प्रत्याशी 77 वर्षीय सिमरनजीत सिंह मान को जीत मिली है। 'आप' ने संगरूर जिलाध्यक्ष गुरमेल सिंह को मैदान में उतारा था। 'आप' के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने हार के लिए कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल और भाजपा सहित अन्य राजनीतिक दलों के वोट शेयर में आई गिरावट को जिम्मेदार ठहराया है।

'आप' के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने संगरूर उपचुनाव में अपनी पार्टी की हार के लिए कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल और भाजपा सहित अन्य राजनीतिक दलों के वोट शेयर में आई गिरावट को जिम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है कि दूसरों की हार जीतने वाले प्रत्याशी सिमरनजीत मान के लिए लाभ बन गई।

इस साल की शुरुआत में हुए पंजाब विधानसभा चुनावों में 'आप' की शानदार जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले राघव चड्ढा ने ट्विटर पर कहा कि हालांकि, आप सीट हार गई है, लेकिन उसने अपना वोट शेयर 37 फीसदी से मामूली गिरावट के साथ 35 फीसदी पर बरकरार रखा है।

पंजाब के राज्यसभा सांसद चड्ढा ने ट्वीट कर कहा, ''पूरी विनम्रता के साथ हम संगरूर के जनादेश को स्वीकारते हैं। हम और मेहनत करेंगे। अकाली दल 24% से गिरकर 6%, कांग्रेस 27% से गिरकर 11%, 'आप' 37% से गिरकर 35% इससे जाहिर है कि 'आप' का वोट बना रहा। बाकी पार्टियों का वोट सिमरनजीत सिंह को गया। पंजाब ने दूसरी पार्टियों का सफाया कर दिया।''

'आप' को असहज करने वाली हार पंजाब विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली एकतरफा जीत के महज तीन महीने बाद मिली है। संगरूर सीट पंजाब के मुख्यमंत्री बनने के बाद भगंवत मान द्वारा खाली की गई थी। यह चुनाव पंजाब में सत्तारूढ़ पार्टी 'आप' और मुख्यमंत्री भगवंत मान दोनों के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई थी। भगवंत मान ने 2014 और 2019 में संगरूर लोकसभा सीट से जीत दर्ज की थी, लेकिन धुरी से विधायक और बाद में मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद उन्होंने लोकसभा से इस्तीफा दे दिया था। पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को 117 सदस्यीय विधानसभा में 92 सीटों पर जीत मिली थी।

बता दें कि, सिमरनजीत सिंह मान (77) की करीब दो दशक बाद संसद में वापसी हुई है और उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी व राज्य में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के उम्मीदवार गुरमेल सिंह को 5,822 मतों से हराया। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, सिमरनजीत सिंह मान को 2,53,154 मत मिले जबकि गुरमेल सिंह को 2,47,332 मत मिले। 

epaper