Quota for the dependents of the army personnel in DU - डीयू में सैन्यकर्मियों के आश्रितों के लिए कोटा, ऐसे उठा सकते हैं लाभ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीयू में सैन्यकर्मियों के आश्रितों के लिए कोटा, ऐसे उठा सकते हैं लाभ

डीयू ने देश की सुरक्षा के लिए सेवारत व सेवानिवृत्त कर्मियों के लिए सीडब्ल्यू कोटे का प्रावधान किया है। इसके तहत सेना व अर्धसैनिक बलों के कर्मचारियों के आश्रित इसका लाभ ले सकते हैं।

                                                       file photo   ht

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) ने देश की सुरक्षा के लिए सेवारत व सेवानिवृत्त कर्मियों के लिए सीडब्ल्यू कोटे का प्रावधान किया है। इसके तहत सेना व अर्धसैनिक बलों के कर्मचारियों के आश्रित स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिला के लिए आरक्षण का लाभ ले सकते हैं। 

डीयू प्राथमिकता के आधार पर इस कोटे के छात्रों को आरक्षण का लाभ देता है। छात्रों को एक प्रमाणपत्र जमा कराना होता है। इसका प्रारूप डीयू की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं।

पांच फीसदी सीट आरक्षित : डीयू के दाखिला प्रावधानों के तहत सेना, अर्धसैनिक बलों में सेवारत व सेवानिवृत कर्मियों के लिए आश्रितों के लिए पांच फीसदी सीटें आरक्षित हैं। 

नौ श्रेणियों में सीडब्ल्यू कोटे का लाभ

पहली श्रेणी : युद्ध में शहीद हुए रक्षा कर्मियों की विधवा या बच्चे

दूसरी : युद्ध में दिव्यांगता की वजह से सेवामुक्त कर्मियों के बच्चे

तीसरी : शांति काल के दौरान शहीद हुए सैन्य कर्मियों के आश्रित

चौथी : सेवा काल में दिव्यांगता की वजह से सेवामुक्त कर्मियों के बच्चे

पांचवी : परमवीर चक्र, अशोक चक्र, महावीर चक्र, क्रीर्ती चक्र, वीर च्रक, शौर्य चक्र, राष्ट्रपति पुलिस पदक, सेना- वायु-नौ सेना मेडल, पुलिस मेडल विजेता पूर्व और वर्तमान कर्मियों के आश्रित

छठी : सेवानिवृत्त कर्मियों के बच्चे

सातवीं : युद्ध में दिव्यांगता की वजह से सेवा मुक्त सैन्य कर्मियों की पत्नी, शांति काल में हुई दिव्यांगता की वजह से सेवामुक्त कर्मियों की पत्नी और शौर्य चक्र विजेता सेवारत व पूर्व सैन्य कर्मियों की पत्नियां

आठवीं : सैन्य कर्मियों के बच्चे

नौंवी : सेवानिवृत सैन्य कर्मचारियों की पत्नियां

इन अधिकारियों से प्रमाणपत्र चाहिए 

  • सचिव, केंद्रीय सैनिक बोर्ड, दिल्ली
  • सचिव, राज्य जिला सैनिक बोर्ड
  • प्रभारी अधिकारी, रिकार्ड कार्यालय
  • प्रथम श्रेणी वैतनिक अधिकारी
  • गृह मंत्रालय (वीरता पुरस्कार प्राप्त करने वाले पुलिस कर्मियों के आश्रितों के लिए) 

''डीयू ने रक्षाबलों के सम्मान में इस कोटे का प्रावधान किया है। उनके त्याग, शौर्य, समर्पण और योगदान को देखते हुए सीटों के आरक्षण की व्यवस्था की गई है।'' -डॉ रसाल सिंह, सदस्य, अकादमिक परिषद

डीयू के स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिला नियम क्यों बदले : दिल्ली हाईकोर्ट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Quota for the dependents of the army personnel in DU