DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर दो हजार लोगों से 3 करोड़ ठगे, चार ऐड एजेंसियों को भी लगाया चूना

 गिरफ्तार आरोपी राजिंदर (Photo Credit: Delhi Police)

क्राइम ब्रांच की नारकोटिक्स सेल ने प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर दो हजार गरीब लोगों से तीन करोड़ रुपये ठगने वाले आरोपी को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पहचान राजिंदर कुमार त्रिपाठी (57) निवासी फरीदाबाद के रूप में हुई है। एडिशनल कमिश्नर क्राइम डॉ.अजित कुमार ने बताया कि आरोपी ने दो हजार गरीब लोगों से तीन करोड़ रुपये की ठगी की है।  

नोटबंदी के दौरान 60 लाख की धोखाधड़ी में मशहूर हरियाणवी गायिका गिरफ्तार

वेबसाइट पर प्रधानमंत्री की फोटो लगा रखी थी

आरोपी ने नेहरू पैलेस में नेशनल हाउसिंग डेवलेपमेंट ऑर्गनाइजेशन नाम से अवैध एनजीओ खोल रखा था। उसने एक फर्जी वेबसाइट भी बना रखी थी, जिस पर प्रधानमंत्री की फोटो लगा रखी थी। वह लोगों को सस्ते मकान देने के बहाने जाल में फंसाता था, मगर गरीब लोगों से पैसे लेने के बाद उन्हें मकान नहीं देता था। आरोपी ने आवास योजना के नाम पर चार विज्ञापन कंपनियों से एक करोड़ भी ठगे थे। आरोपी के खिलाफ तीन मामले क्राइम ब्रांच ने दर्ज किए थे।

दिल्ली में एनजीओ खोला

आरोपी राजिंदर ने साल 1989 में गोरखपुर में निजी कंपनी में नौकरी की। वहां से लौटने के बाद उसने दिल्ली में एलआईसी पॉलिसी होल्डर्स वेलफेयर ऑर्गनाइजेशन नाम से एनजीओ खोला। उसने साल 2004 में पूरे भारत में एक माइक्रो क्रेडिट योजना पेश की। इस योजना के तहते ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को ऋण देने के बहाने ठगा। साल 2004 में उस पर थाना हौजखास में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया था। 

फर्जी ई-मेल से स्वास्थ्य मंत्रालय को लगाई 4 करोड़ रुपये की चपत

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:promising houses under Pradhan Mantri Awas Yojna 57 year old cheated 2000 buyers of rs 3 crore