ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRतुमने ही किए होंगे इशारे; जब बच्ची ने अफसर की पत्नी को बताई थी रेप की बात, सीमा रानी ने उसी को दिया दोष

तुमने ही किए होंगे इशारे; जब बच्ची ने अफसर की पत्नी को बताई थी रेप की बात, सीमा रानी ने उसी को दिया दोष

दिल्ली सरकार के अधिकारी प्रेमोदय खाका को पुलिस ने अपने दोस्त की नाबालिग बेटी के साथ कई बार रेप करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। निलंबित अधिकारी ने नवंबर 2020 से जनवरी 2021 के बीच दरिंदगी की।

तुमने ही किए होंगे इशारे; जब बच्ची ने अफसर की पत्नी को बताई थी रेप की बात, सीमा रानी ने उसी को दिया दोष
20230821-dli-ht-mn-rape-01-0 jpg
Sneha Baluniहिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीWed, 23 Aug 2023 11:07 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली सरकार के अधिकारी प्रेमोदय खाका को पुलिस ने अपने दोस्त की नाबालिग बेटी के साथ कई बार रेप करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। निलंबित अधिकारी ने नवंबर 2020 से जनवरी 2021 के बीच नाबालिग के साथ दरिंदगी की। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि पहली बार जब खाका ने उससे रेप किया तो इसकी जानकारी उसने अधिकारी की पत्नी सीमा रानी को दी। मदद की बजाय सीमा ने नाबालिग को ही दोषी ठहरा दिया। उसने पीड़िता से कहा कि तुमने ही कुछ ऐसा किया होगा जिसने उसे ऐसा करने के लिए मजबूर किया।

घटना के वक्त 14 साल की थी पीड़िता

जांचकर्ताओं से मिली जानकारी पीड़िता के साथ दुर्व्यवहार और मिलीभगत की एक भयावह तस्वीर पेश करती है। जिसमें न केवल अधिकारी, उसकी पत्नी के अलावा दंपति के बच्चे भी शामिल हैं। खाखा और उसकी पत्नी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि पीड़िता, जो वर्तमान में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (एनआईओएस) से 10वीं कर रही है, 1 अक्टूबर, 2020 को अपने पिता की मृत्यु के बाद बुराड़ी में प्रेमोदय खाखा के घर रहने चली गई। उस समय वह 14 साल की थी।

मां ने क्यों भेजा खाखा के घर

खाखा उसी तरह के पंथ का सदस्य है जिसका हिस्सा पीड़िता का परिवार है। हालांकि इस पूरे घटनाक्रम में पूजा स्थल की भूमिका स्पष्ट नहीं है, जहां दोनों परिवारों की पहली मुलाकात हुई थी। यह भी साफ नहीं है कि पीड़िता की मां, जो एक शिक्षित महिला है ने अपने पति की मृत्यु के बाद अपनी किशोर बेटी को खाखा परिवार के साथ रहने के लिए क्यों भेजा। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वह अपने पिता की मृत्यु के कारण डिप्रेशन से उबरने के लिए उस्मानपुर स्थित अपने माता-पिता के घर से बुराड़ी स्थित खाखा के घर चली गई थी।

तुमने ही कुछ किया होगा

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि कोविड-19 के कारण स्कूल बंद था, इसलिए वह खाखा के घर से अपनी ऑनलाइन क्लास ले रही थी। खाखा ने जब पहली बार उसका यौन शोषण किया तो पीड़िता ने इसकी जानकारी उसकी पत्नी को दी। लेकिन महिला ने अपने पति पर नजर रखने के बजाय पीड़िता पर ही आरोप लगाते हुए कहा- 'तुमने ही कुछ किया होगा, तुमने ही कोई इशारे किए होंगे।' इसके अलावा खाखा की पत्नी उसे पीटती थी।

बच्चों ने नहीं किया विश्वास

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पीड़िता ने पुलिस को बताया कि जनवरी 2021 में रेप की वजह से वह गर्भवती हो गई। अपनी प्रेग्नेंसी के बारे में जब पीड़िता ने रानी को बताया तो उसने अपने बेटे को फार्मेसी से प्रेग्नेंसी टेस्ट किट लाने के लिए कहा। जब रिजल्ट पॉजिटिव आया तो उसने पीड़िता को गर्भपात की गोलियां दे दीं। पीड़िता ने खाखा के बच्चों को भी उनके पिता द्वारा उसका रेप किए जाने की जानकारी दी थी। लेकिन उन्होंने इस पर विश्वास करने से इनकार कर दिया।

पोटेंसी टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार

अधिकारी ने कहा, 'खाखा के पोटेंसी टेस्ट की रिपोर्ट का इंतजार है। मामले से जुड़े सभी तथ्यों की जांच की जाएगी। चूंकि आरोपी के दोनों बच्चे- बेटा अब 21 साल का है, उनकी एक बेटी भी है, जो 22 साल की है, को मामले की जानकारी थी। उनसे भी जल्द पूछताछ की जाएगी। घटना के समय उनमें से कोई भी नाबालिग नहीं था। उनसे पूछताछ करने में कोई कानूनी परेशानी नहीं है।'

चर्च में करता था छेड़छाड़

एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 16 जनवरी 2021 को पीड़िता के जन्मदिन पर उसकी मां खाखा के घर आई तो लड़की ने मां से उसे वापस घर ले जाने के लिए कहा। अधिकारी ने कहा, 'हालांकि, उसने कभी भी अपनी मां को अपने यौन शोषण के बारे में नहीं बताया। फरवरी 2021 में पीड़िता की मां उसे खाखा के घर से ले गई। लेकिन जब भी वह चर्च में उससे मिलता तो उसका यौन शोषण करता था। ऐसे में पीड़िता ने इस साल जुलाई के बाद चर्च जाना बंद कर दिया। उसे सात अगस्त को पैनिक अटैक आया जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां उसने एक डॉक्टर को अपने साथ घटित हुई पूरी घटना बताई।'