ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR'प्रेग्नेंट बीवी को बाहर कर दूंगी', RML में धमका कर घूस लेने वाली नर्स भी पकड़ाई; डॉक्टर के 'यूरोप' वाले प्लान का भी खुलासा

'प्रेग्नेंट बीवी को बाहर कर दूंगी', RML में धमका कर घूस लेने वाली नर्स भी पकड़ाई; डॉक्टर के 'यूरोप' वाले प्लान का भी खुलासा

सीबीआई (CBI) की तरफ से दर्ज FIR के मुताबिक, शालू पर आरोप है कि उनसे यह भी धमकी दी थी कि अगर पैसे नहीं मिले तो वो उनकी पत्नी का इलाज रुकवा देगी और अस्पताल से उन्हें डिस्चार्ज करवा देगी।

'प्रेग्नेंट बीवी को बाहर कर दूंगी', RML में धमका कर घूस लेने वाली नर्स भी पकड़ाई; डॉक्टर के 'यूरोप' वाले प्लान का भी खुलासा
Nishant Nandanपीटीआई,नई दिल्लीThu, 09 May 2024 03:14 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली स्थित राम मनोहर लोहिया Ram Manohar Lohia (RML) अस्पताल में घूसकांड ने सबको हिला कर रख दिया है और देश के एक प्रतिष्ठित अस्पताल की साख को धूमिल कर दिया है। इस मामले में सीबीआई का ताबड़तोड़ ऐक्शन ले रही है। RML अस्पताल में मरीजों को धमका कर घूस, चिकित्सीय उपकरणों के बदले में घूस और कई अन्य तरीकों से घूस लिए जा रहे थे। इस खेल में डॉक्टर से लेकर अस्पताल की नर्स और स्टाफ सब शामिल थे। सीबीआई की जांच में यह भी पता चला है कि घूस की बकाया रकम मांगने वाला एक डॉक्टर तो यूरोप जाने का प्लान कर रहा था।

जांच एजेंसी ने अब इस रिश्वतकांड के दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक चिकित्सीय उपकरण सप्लायर और एक नर्स शामिल हैं। Biotroniks के सेल्स मैनेजर आकर्षण गुलाटी और नर्स शाहू शर्मा की गिऱफ्तारी के बाद अब इस घूसकांड में पकड़े गए कुल आरोपियों की संख्या 11 हो गई है। जिन लोगों को अब तक पकड़ा गया है उनमें दो कार्डियोलॉजिस्ट और अस्पताल के तीन सहायक स्टाफ शामिल हैं। इन सभी को बुधवार को हिरासत में लिया गदया था। आरोप है कि आरएमएल अस्पताल की नर्स शालू और कर्मचारी भुवल जैसवाल ने एक शख्स को धमकी दी थी कि अगर उन्होंने घूस के तौर पर 20,000 रुपये नहीं दिए तो वो उनकी प्रेग्नेंट बीवी को अस्पताल से बाहर कर देंगे। 

सीबीआई की तरफ से दर्ज FIR के मुताबिक, शालू पर आरोप है कि उनसे यह भी धमकी दी थी कि अगर पैसे नहीं मिले तो वो उनकी पत्नी का इलाज रुकवा देगी और अस्पताल से उन्हें डिस्चार्ज करवा देगी। इसके बाद घबराए शख्स ने UPI के जरिए पेमेंट किया था। एफआईआर में इस बात का भी जिक्र है कि एक चिकित्सक ने 1.95 लाख रुपये की घूस एक सप्लायर अबरार अहमद से मांगी। यह पैसे डॉक्टर के पिता के अकाउंट में ट्रांसफर किए गए थे। इसके बाद इस डॉक्टर ने दोबारा सप्लायर से संपर्क कर कहा कि वो घूस की बकाया रकम दे। यह डॉक्टर पैसे मिलने के बाद पर्सनल ट्रिप के लिए यूरोप जाने की प्लानिंग कर रहा था।

इन सभी पर FIR है दर्ज

इससे पहले बुधवार को सीबीआई ने जिन 9 आरोपियों को पकड़ा था उन्हें दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने 5 दिनों के लिए सीबीआई की रिमांड पर भेजा है। विशेष जज प्रशांसत कुमार ने आदेश जारी करते हुए कहा, 'मुझे लगता है कि अभी यह मामला शुरुआती जांच वाले स्टेज में है और इसलिए आरोपियों से पूछताछ की जरुरत है। ताकि ना सिर्फ विभिन्न कागजातों का पता चला सके बल्कि अन्य आरोपियों के बारे में भी पता चल सके। इसलिए इनकी रिमांड दी जाती है। अब इन सभी को 14 मई को अदालत में पेश किया जाए।' सीबीआई ने हाल ही में RML के कई चिकित्सकों और कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है। इन सभी पर मरीजों और सप्लायर्स से घूस लेने का आरोप है।

सीबीआई ने बताया है कि जिन नौ आरोपियों को पकड़ा गया था उनमें कार्डियोलॉजी विभाग के दो प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर भी शामिल हैं। इसके अलावा एक वरिष्ट टेक्निकल इंचार्ज, एक नर्स, अस्पताल के दो कर्मचारी, पांच निजी चिकित्सीय उपकरण सप्लाई करने वाली कंपनियों के प्रतिनिधियों का नाम भी एफआईआर में है। इन सभी पर भ्रष्टाचार के तहत केस दर्ज किया गया है।