ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदफ्तर से देर रात लौटने वाली महिलाओं के लिए गुड न्यूज, घर पहुंचने तक ट्रैक करेगी पुलिस

दफ्तर से देर रात लौटने वाली महिलाओं के लिए गुड न्यूज, घर पहुंचने तक ट्रैक करेगी पुलिस

दफ्तर से देर रात कैब या ऑटो से घर लौटने वाली महिलाओं को अब डरने की जरूरत नहीं है। महिलाएं डायल 112 ऐप पर पंजीकरण करा अपनी जानकारी देंगी। इसके बाद पुलिस के जवान उनकी निगरानी करेंगे।

दफ्तर से देर रात लौटने वाली महिलाओं के लिए गुड न्यूज, घर पहुंचने तक ट्रैक करेगी पुलिस
Praveen Sharmaगुरुग्राम। हिन्दुस्तानSat, 02 Dec 2023 02:02 PM
ऐप पर पढ़ें

महिलाओं को सुरक्षित माहौल देने के लिए हरियाणा पुलिस ने नई मुहिम शुरू की है। दफ्तर से देर रात घर लौटने वाली महिलाओं को अब डरने की जरूरत नहीं है। कैब या ऑटो से लौटने वाली महिलाएं डायल 112 ऐप पर पंजीकृत करवाने के बाद देर रात घर लौटने की जानकारी देंगी। इसके बाद हरियाणा पुलिस के जवान संबंधित महिला के ट्रिप की निगरानी करेंगे। बीच में फोन कर उनका कुशलक्षेम भी पूछेंगे। उनके घर पहुंचने पर फोन कर जानकारी हासिल करेंगे। रास्ते में गर कैब और ऑटो चालक गलत हरकत करते हैं, तो पुलिस तुंरत सात से आठ मिनट में महिला के पास पहुंच कर मदद करेगी। हरियाणा पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने शुक्रवार को गुरुग्राम दौरे के दौरान प्रेसवार्ता करते हुए जानकारी दी।

असुरक्षित हॉटस्पॉट को सुरक्षित बनाएगी पुलिस : डीजीपी शत्रुजीत कपूर ने बताया कि प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षित माहौल देने के लिए हरियाणा पुलिस ने काम करना शुरू कर दिया है। प्रदेश के 22 जिलो में महिलाओं को असुरक्षित लगने वाले हॉटस्पॉट की पहचान कर चुके है। उन हॉट-स्पॉट को सुरक्षित बनाने के लिए हरियाणा पुलिस प्रदेश स्तर पर काम कर रही है। हॉटस्पॉट पर सादी वर्दी में महिला पुलिसकर्मियों को तैनात करने के साथ-साथ सीसीटीवी कैमरों को लगाया जाएगा। वहीं रात में अगर अंधेरा है तो वहां पर लाइट की व्यवस्था की भी जाएगी। महिलाओं से भी अपील की गई हैं कि वह डायल-112 को सेव करें।

बच्चियों से दुष्कर्म की जांच दो माह में पूरी करनी होगी

डीजीपी शत्रुजीत कपूर ने कहा कि स्मार्ट सिटी फरीदाबाद में महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों की जांच में तेजी लाई जाएगी। पुलिस को 12 वर्ष से कम उम्र की बच्चियों के साथ हुए दुष्कर्म के मामले की जांच दो महीने में हर हाल में पूरी करनी होगी। अदालत में चार्जशीट पेशकर आरोपी को कड़ी सजा दिलाने की तैयारी की जाएगी।

यह आदेश पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने शुक्रवार को पुलिस अधिकारियों को दिए हैं। उनका कहना है कि महिला विरुद्ध अपराध का प्रयास पुलिस जोरशोर से कर रही है। गौरतलब है कि पहले जांच पूरी होने में चार महीने तक का समय लग जाता था। औद्योगिक नगरी फरीदाबाद में 25 हजार के आसपास औद्योगिक इकाई है। यहां आठ लाख के आसपास कामगार है। इनमें से काफी संख्या में महिलाएं भी है। उन्हें किसी न किसी अपराध की आशंका रहती है। उन्हें घरेलू हिंसा का भी शिकार होना पड़ता है।

संस्थानों में अभियान चलाया जा रहा : अधिकारियों का कहना है कि जिले में महिला की सुरक्षा पुख्ता करने के लिए प्रयास तेज किए गए हैं। स्कूल-कॉलेज से लेकर सरकारी-गैर सरकारी संस्थान, कार्यालय, कंपनियों आदि में लगातार अभियान चलाया जा रहा है। महिलाओं को डायल-112 की जानकारी देने के साथ उनका डायल-112 पर रजिस्ट्रेशन भी किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि महिलाओं की सुरक्षा को मजबूत बनाने के लिए जिले में परिचालित ऑटो का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। साथ ही ऑटो चालकों को युनिक आईडी-नंबर दिया रहा है। महिलाओं के साथ किसी प्रकार की अभद्रता,छेड़छाड़ आदि अपराध करने वाले ऑटो चालकों की आसानी से पहचान हो सकेगी।

डीएसपी-एसीपी स्तर के अधिकारी नजर रखेंगे

महिला सुरक्षा की डीआईजी नाजनीन भसीन ने बताया कि महिला विरुद्ध अपराधों की मॉनिटरिंग को लेकर प्रदेश के प्रत्येक जिले में एसीपी-डीएसपी स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। इसके अलावा, महिला पुलिस थानों में ऐसे मामलों की सुनवाई के लिए महिला पुलिस अधिकारियों की नियुक्ति की गई है, ताकि महिलाएं बिना किसी झिझक और संकोच के सुरक्षित वातावरण में अपनी समस्याओं के बारे में बता सके।

नए सीसीटीवी कैमरे लगने से निगरानी में आसानी

डीआईजी नाजनीन भसीन बताया कि प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने तथा उनमें आत्मविश्वास बढ़ाने को लेकर विभिन्न विभागों के सहयोग से दो लाख से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। फरीदाबाद में भी आठ सौ सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इन सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से आपराधिक गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है, ताकि किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना होने पर पुलिसकर्मियों द्वारा तुरंत कार्रवाई की जा सके।

लैब का लिया जा रहा सहारा

पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने बताया कि महिलाओं संबंधी अपराध जैसे दुष्कर्म, छेड़छाड़ आदि के मामलों को गंभीरता से लेते हुए एफएसएल द्वारा जल्द से जल्द लैब के परिणाम उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इस दौरान सभी कानूनी मानदंडों तथा औपचारिकताओं को प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जाता है ताकि महिला को जल्द से जल्द न्याय मिल सके।

जांच अधिकारियों को कराया जा रहा रिफ्रेशर कोर्स

महिलाओं के विरुद्ध अपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए हरियाणा पुलिस अकादमी में महिला जांच अधिकारियों के लिए नियमित तौर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम तथा रिफ्रेशर कोर्सेज कराए जा रहे हैं। इससे वह कानूनी प्रावधानों में हुए नए संशोधन के बारे में अपडेटेड रह सकेंगे। इससे वह समयबद्ध तरीके से जांच कर सकेंगे।

नशे की गिरफ्त में फंसे युवाओं की मदद होगी

डीजीपी ने बताया कि पुलिस नशा करने वालों की नशा छुड़वाने में मदद करेगी। पुलिस कर्मचारी ऐसे लोगों से बात करेंगे, उनको नशा छुड़वाने के लिए प्रेरित भी किया जाएगा। साथ ही नशा करने वालों को सही माध्यम से नशा छुड़वाने का काम पूरा भी करेंगे। इसके अलावा नशे का कारोबार करने वालों के खिलाफ भी पुलिस सख्त कार्रवाई कर रही है। पुलिस क्राइम पर अंकुश लगाने के लिए काम कर रही है। आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी।

पुराने दफ्तर में पुलिस प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ

शत्रुजीत कपूर ने शुक्रवार को मानेसर के सेक्टर-8 स्थित आईकैट संस्थान में गुरुग्राम जिला के समस्त पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों की बैठक लेते हुए उन्हें पुलिस की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाने संबंधी आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने पुराने पुलिस आयुक्त दफ्तर में तैयार किए गए पुलिस प्रशिक्षण स्कूल का शुभारंभ किया। डीजीपी ने कहा कि पुलिस विभाग अच्छा काम करने व लोगों की सेवा करने का एक माध्यम है।

ट्रांसपोर्टर के साथ बैठक कर निर्देश दिए

डीजीपी ने जिले के सभी ट्रांसपोर्ट यूनियन के पदाधिकारी के साथ बैठक करते हुए उनकी समस्याओं सहित कई अन्य महत्वपूर्ण विषयों के बारे में चर्चा की। ट्रांसपोर्ट यूनियन पदाधिकारी को रोड सेफ्टी के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने ट्रांसपोर्टरो से कहा कि वे अपने यहां कार्यरत चालकों को गाड़ी जल्दी पहुंचने के लिए अनावश्यक रूप से बाधित न करें। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वे चालकों को प्रेरित करें कि वह गाड़ी को निर्धारित गतिसीमा में ही चलाएं और गलत तरीके से ओवरटेक न करे। इसके साथ ही उन्होंने बैठक में लेन ड्राइविंग की आवश्यकता पर बल दिया।

 

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें