Pensioners and Haryana Govt employees will get free treatment in Faridabad Heart Centre - सुविधा : पेंशनर और सरकारी कर्मियों के लिए आई एक बड़ी अच्छी खबर DA Image
14 नबम्बर, 2019|5:53|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुविधा : पेंशनर और सरकारी कर्मियों के लिए आई एक बड़ी अच्छी खबर

                                                       file photo   ht

 

हरियाणा में कार्यरत सरकारी कर्मचारी और पेंशनरों के लिए अच्छी खबर है। अब बादशाह खान राजकीय अस्पताल के हार्ट सेंटर में दिल के रोगियों का कैशलेस इलाज हो सकेगा। इलाज के दौरान आने वाला खर्च निदेशालय की ओर से संबंधित हार्ट सेंटर को नियमानुसार (30 से 90 दिनों) में वापस किया जाएगा। 

हरियाणा सरकार ने यह फैसला किया है। अभी तक यहां आयुष्मान भारत और गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले मरीजों को मुफ्त इलाज किया जाता है। ऐसे मरीजों का इलाज के दौरान आने वाला खर्च प्रधान चिकित्सा कार्यालय की ओर से मुहैया कराया जाता है।

राजकीय अस्पताल में हृदय रोगियों को सस्ता इलाज शुरू करने के लिए 22 फरवरी 2018 में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप में हार्ट सेंटर शुरू किया गया है। इसमें निजी अस्पतालों से आधी दर पर हृदय रोगियों का इलाज किया जाता है। वहीं, आयुष्मान भारत योजना और गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले हृदय रोगियों का मुफ्त इलाज किया जाता है। इलाज के दौरान आने वाला खर्च प्रदेश सरकार वहन करती है। जबकि सामान्य अन्य वर्ग के लोगों को हृदय में रुकावट का इलाज मात्र 3519 रुपये में किया जाता है। इसके अलावा एकल स्टेंटिग 48 हजार 299 रुपये में किया जाता है, जबकि निजी अस्पताल में इसके लिए न्यूनतम डेढ़ लाख रुपये लिए जाते हैं। 

हार्ट सेंटर से प्राप्त जानकारी के अनुसार फरवरी 2018 से अभीतक करीब 12 सौ से अधिक हृदय रोगियों के नसों में आई रुकावट को खोला जा चुका है, जबकि साढ़े छह सौ से अधिक मरीजों का स्टेंटिग (छल्ला) डाला जा चुका है। वहीं, रोजाना 35 से 40 मरीजों का रोजाना ओपीडी होता है। 

दो दिन पहले आया है दिशा निर्देश : हार्ट सेंटर के मुख्य डॉ. मान सिंह का कहना है कि इस संबंध में दो दिन पहले ही निदेशालय से पत्र आया है। अभीतक इसमें यह साफ नहीं किया गया है कि इलाज के दौरान आने वाला खर्च स्थानीय स्तर पर मुहैया कराया जाएगा या मुख्यालय से मिलेगा। इस संबंध में प्रधान चिकित्सा अधिकारी से जानकारी मांगी गई है। इस संबंध में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगा।

''पेशनरों और प्रदेश सरकार के गंभीर रोगियों का उपचार हो सकेग, लेकिन इसके लिए कुछ नियम निर्धारित किए गए हैं। इसके तहत ही उन्हें कैशलेस सेवा का लाभ मिलेगा। प्राथमिक उपचार में योजना का लाभ नहीं मिलेगा।'' -डॉ. सविता यादव, प्रधान चिकित्सा अधिकारी

हृदय सेंटर में यह मिलता है लाभ

  • एंजियोग्राफी (हृदय में रुकावट) : 3519 रुपये
  • एकल स्टेंटिंग (छल्ला) : 48 हजार 289 रुपये
  • पेसमेकर (दो चैंबर में) : 89 हजार 769 रुपये
  • ईको : 982 रुपये ’ टीएमटी : 326 रुपये
  • ईसीजी  : 16 रुपये
  • होल्टर : 264 रुपये
  • ओपीडी :116 रुपये
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pensioners and Haryana Govt employees will get free treatment in Faridabad Heart Centre