On the birth of daughter a sapling plant will be named on her in ghaziabad - अच्छी पहल : बेटी के जन्म पर घर के बाहर उसके नाम का पौधा लगेगा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अच्छी पहल : बेटी के जन्म पर घर के बाहर उसके नाम का पौधा लगेगा

sapling plant

महिला कल्याण विभाग ग्रामीण क्षेत्रों में बेटियों को लेकर नई पहल शुरू कर रहा है। बेटियों के प्रति गांवों के लोगों की सोच बदलने के लिए विभाग अनेक कार्यक्रम और अभियान चला रहा है। इसी के अंतर्गत महिला कल्याण विभाग ने बेटी के जन्म पर पौधरोपण करने की योजना बनाई है। जिस भी ग्राम पंचायत में बेटी का जन्म होगा उसके नाम से पौधा लगाया जाएगा। 

महिला कल्याण विभाग जिले की सभी 161 ग्राम पंचायतों में बेटियों के नाम से पौधरोपण करेगा। अधिकारियों का कहना है जिस भी परिवार में बेटी पैदा होगी उसके घर के बाहर उसकी बेटी के नाम से फल देने वाला पौधा रोपा जाएगा। लगाए गए पौधे के गार्ड और उसके आसपास की दीवारों पर सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों को लिखकर जागरूक किया जाएगा। जब लोगों को योजनाओं का लाभ मिलेगा तो बेटियां अपने परिवार पर बोझ नहीं बनेंगी। 

उनकी सोच को बदलना भी विभाग की प्राथमिकता है जो लोग जागरूकता की कमी के चलते बेटियों को शिक्षा ग्रहण नहीं करा पाते। वहीं, लोगों के जागरूक होने से कन्या भ्रूण हत्या में भी कमी आएगी और जिले में बालिकाओं का अनुपात बढ़ेगा। नेशनल फेमिली हेल्थ सर्वे के 2016-17 के आंकड़ों के अनुसार गाजियाबाद में 1000 लड़कों पर 899 लड़कियां हैं। पौधरोपण करते समय कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए भी लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके अलावा बेटी के जन्म के समय बेबी किट का भी वितरण किया जाएगा। 

प्रधान और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता करेंगी देखभाल : बेटी के जन्म के समय लगाए गए पौधे की देखभाल करने की जिम्मेदारी ग्राम प्रधान और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की होगी। पौधे में समय से पानी और खाद लगाना पड़ेगा। इसके लिए प्रत्येक दिन पौधे को जाकर देखना होगा। इसके अलावा ग्राम प्रधान प्रत्येक माह पौधे से संबंधित रिपोर्ट विभाग को सौंपेगा। पौधे की परवरिश में कोई कमी आने पर प्रधान को जवाब देना होगा। वहीं, सप्ताह के अंतिम दिन पौधे की फोटो विभाग के व्हॉट्सएप नंबर पर भेजनी होगी। फोटो के साथ बेटी का नाम और जन्म तिथि भी लिखनी होगी। 

ट्री-गार्ड पर लिखा जाएगा बेटी का नाम

रोपे गए पौधे की सुरक्षा के लिए लोहे का ट्री-गार्ड भी लगवाया जाएगा। पौधे की पहचान के लिए ट्री-गार्ड पर बेटी का नाम और जन्मतिथि का विवरण किया जाएगा। इससे विभाग और गांव के लोगों को उस पौधे की पहचान करने में आसानी होगी। इसके अलावा ट्री-गार्ड पर प्रदेश और केंद्र सरकार द्वारा बेटियों के लिए संचालित सभी योजनाओं का विवरण किया जाएगा। इससे सरकार की योजनाओं को लड़कियों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी। प्रत्येक बेटी के जन्म पर जागरूकता कार्यक्रम भी चलाएगा। 

''बेटियों के प्रति लोगों की सोच बदलने के लिए बेटी के जन्म पर उसके नाम से पौधा रोपा जाएगा। इससे पर्यावरण भी सुरक्षित रहेगा। पौधे के ट्री-गार्ड पर सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में लिखकर लोगों को जागरूक किया जाएगा।'' -विकास चंद्र, जिला प्रोबेशन अधिकारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:On the birth of daughter a sapling plant will be named on her in ghaziabad