ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR...तो बच सकती थी अधिकारी की जान, लेकिन इसपर नहीं गया ध्यान; एसी में शॉर्ट सर्किट से आयकर भवन में लगी आग

...तो बच सकती थी अधिकारी की जान, लेकिन इसपर नहीं गया ध्यान; एसी में शॉर्ट सर्किट से आयकर भवन में लगी आग

दिल्ली के आयकर भवन में आग लगने से एक की मौत हो गई। कई लोगों को बचाया गया। एसी में शॉर्ट सर्किट की वजह से भवन में आग लगना बताया जा रहा है। अधिकारी के कमरे से केवल 15 कदम पर सीढ़ियां थीं।

...तो बच सकती थी अधिकारी की जान, लेकिन इसपर नहीं गया ध्यान; एसी में शॉर्ट सर्किट से आयकर भवन में लगी आग
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 15 May 2024 05:46 AM
ऐप पर पढ़ें

आईटीओ स्थित आयकर भवन में आग लगने का कारण एसी में शॉर्ट सर्किट होना बताया जा रहा है। फिलहाल, पुलिस ने फॉरेंसिक और क्राइम टीम से घटनास्थल का मुआयना कराया है। पुलिस ने हादसे में जान गंवाने वाले आयकर अधिकारी के शव को पोस्टमार्टम के लिए एलएनजेपी अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आयकर भवन की तीसरी मंजिल पर एसी में शॉर्ट सर्किट होने से आग लगी थी। धीरे-धीरे आग तीन कमरों में फैल गई। एसी को कब्जे में ले लिया है। जांच फॉरेंसिक टीम से कराई जाएगी।

15 कदम पर थी सीढ़ी, बच सकती थी जान 

कार्यालय अधीक्षक सत्येंद्र कुमार काफी समय से इस कार्यालय में तैनात थे। सरकारी कार्यालय में डेढ़ बजे से दो बजे के बीच में लंच का समय होता है। इसलिए भीड़ नहीं थी। सहकर्मियों ने बताया कि सत्येंद्र भी लंच करने के बाद 2.15 बजे अपनी कुर्सी पर बैठे थे। इस दौरान आग लगने की सूचना से भगदड़ मच गई। फ्लोर पर मौजूद लोग तितर बितर हो गए, लेकिन सत्येंद्र ने कमरे में जाकर दरवाजा बंद कर लिया। दमकल अधिकारी ने बताया कि इस कमरे से महज 15 कदम पर सीढ़ी थी। इसके अलावा कमरे में खिड़की थी, लेकिन घबराहट में उनका दोनों पर ध्यान नहीं गया।

दोस्त से फोन पर मांगता रहा मदद 

हरिकृष्णा ने बताया कि आग लगने के समय सभी साथ थे। अचानक धुआं फैलने पर अफरातफरी मचने पर वह नीचे की तरफ भागे। इस बीच दो महिला सहकर्मियों की चीख पुकार सुनाई दी। उन्होंने दमकल की सहायता से बाहर निकाला। हरिकृष्णा ने बताया कि अचानक उन्हें सत्येंद्र का ध्यान आया। सत्येंद्र को फोन किया तो वह बुरी तरह से खांस रहे थे। सत्येंद्र ने बताया था कि वह कमरे में है। वह बार-बार बचाने की गुहार लगा रहे थे।

सीआर बिल्डिंग असुरक्षित घोषित की जा चुकी

आईटीओ स्थित जिस सीआर बिल्डिंग में मंगलवार को भीषण आग लगी, उस पर कार्यालयों का भारी दबाव है। पहले भी पीडब्ल्यूडी और सीपीडब्ल्यूडी के अधिकारी रिपोर्ट दे चुके हैं। इन विभागों के विशेषज्ञों ने माना था कि सीआर बिल्डिंग से दबाव कम किया जाना चाहिए। हेरिटेज घोषित हो चुकी इस इमारत में बीते साल भी आग लगी थी, लेकिन गनीमत रही थी कि आग पर जल्द काबू पा लिया गया था। इसमें कोई हताहत नहीं हुआ था। बावजूद इसके एहतियातन कदम नहीं उठाए गए।

इस इमारत में आयकर विभाग और जीएसटी समेत कई अन्य विभागों के कार्यालय हैं। इन विभागों की कई-कई विंग के अधिकारियों के साथ-साथ पुराना रिकॉर्ड भी इसी इमारत में रखा हुआ है। हालात यह है कि इमारत के गलियारों में भी फाइलें और पुराना रिकॉर्ड रखा हुआ था। बिजली के तारों का जाल फैला हुआ है। मंगलवार को हुए अग्निकांड में रिकॉर्ड भी जलकर राख हो गया है।