ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRNuh Violence: नूंह हिंसा के बाद प्रशासन ने तोड़ी 250 अवैध झुग्गियां, इसी बस्ती के थे ज्यादातर उपद्रवी

Nuh Violence: नूंह हिंसा के बाद प्रशासन ने तोड़ी 250 अवैध झुग्गियां, इसी बस्ती के थे ज्यादातर उपद्रवी

नूंह में स्थानीय प्रशासन ने हरियाणा के मुस्लिम बहुल जिले में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा में नामित लोगों की लगभग 250 झोपड़ियों को ध्वस्त कर दिया है। प्रशासन का कहना कि वे अवैध थीं।

Nuh Violence: नूंह हिंसा के बाद प्रशासन ने तोड़ी 250 अवैध झुग्गियां, इसी बस्ती के थे ज्यादातर उपद्रवी
Sneha Baluniहिन्दुस्तान टाइम्स,नूंहFri, 04 Aug 2023 01:01 PM
ऐप पर पढ़ें

नूंह में स्थानीय प्रशासन ने हरियाणा के मुस्लिम बहुल जिले में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा में नामित लोगों की लगभग 250 झोपड़ियों को ध्वस्त कर दिया है। प्रशासन का कहना कि वे अवैध थीं। कई रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने कहा कि ये झोपड़ियां बांग्लादेश से आए अवैध अप्रवासियों की थीं और इनका इस्तेमाल धार्मिक जुलूस पर पथराव करने के लिए किया जाता था, जिसके कारण एनसीआर के पड़ोसी जिले गुरुग्राम सहित क्षेत्र में सांप्रदायिक हिंसा भड़की थी।

द ट्रिब्यून ने पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया कि पथराव करने और दुकानों पर हमला करने वाले ज्यादातर उपद्रवी बस्ती से थे। रिपोर्ट के अनुसार, प्रशासन ने अन्य स्थानों पर भी इसी तरह का ध्वस्तीकरण अभियान चलाने की योजना बनाई है, जहां भीड़ ने राइट विंग संगठन विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) द्वारा निकाले गए जुलूस पर हमला किया था। एडीजीपी (कानून) ममता सिंह के ओएसडी नरेंद्र बिरजानिया ने कहा, 'हमने ध्वस्तीकरण किया है और मुख्य रूप से, ये संरचनाएं अवैध थीं। आप कोई अवैध ढांचा नहीं बना सकते और उसका इस्तेमाल कानून-व्यवस्था में बाधा डालने के लिए नहीं कर सकते।'

पुलिस ने कहा कि हरियाणा के नूंह जिले में एक मस्जिद में आग लगा दी गई और शॉर्ट सर्किट के कारण दूसरी मस्जिद में आग लग गई, जबकि बुधवार को लगभग 30 लोगों के एक समूह ने मुस्लिम समुदाय के दो भाइयों को गुरुग्राम में कथित तौर पर पीटा। नूंह और गुरुग्राम में अधिकारियों ने कहा कि गुरुवार को हिंसा का कोई ताजा मामला सामने नहीं आया, उन्होंने दावा किया कि स्थिति नियंत्रण में है। इसी बीच, नूंह के पुलिस अधीक्षक वरुण सिंगला, जो जिले में सांप्रदायिक झड़पें भड़कने के समय छुट्टी पर थे, का तबादला कर दिया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें