DA Image
25 फरवरी, 2020|9:46|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब थाना और चौकी प्रभारी बनने के लिए दरागाओं को पास करना होगा इंटरव्यू, इन बातों पर भी रहेगी नजर

एसएसपी ने बताया अब थाना प्रभारी हों या चौकी प्रभारी किसी को भी सिफारिश या जुगाड़ से तैनाती नहीं मिलेगी। तैनाती चाहने वाले सभी उपनिरीक्षक या निरीक्षकों को इंटरव्यू की प्रक्रिया से गुजरना होगा...

ghaziabad ssp kalanidhi naithani  file photo ht

गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) ने जुगाड़ वाली परम्परा पर विराम लगाते हुए तैनाती के लिए पारदर्शी व्यवस्था शुरू कर दी है। नई व्यवस्था के तहत शुक्रवार को चौकी इंचार्ज बनने की लाइन में खड़े उपनिरीक्षकों का इंटरव्यू कराया गया। इसमें उनकी योग्यता, कार्य कुशलता, जानकारी, क्राइम की समझ एवं पुराना सर्विस रिकॉर्ड देखने के बाद चार उपनिरीक्षकों को पोस्टिंग दी गई।

गाजियाबाद में क्राइम कंट्रोल को SSP ने उठाया ठोस कदम, शुरू की ये खास व्यवस्था

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया अब थाना प्रभारी हों या चौकी प्रभारी किसी को भी सिफारिश या जुगाड़ से तैनाती नहीं मिलेगी। तैनाती चाहने वाले सभी उपनिरीक्षक या निरीक्षकों को इंटरव्यू की प्रक्रिया से गुजरना होगा। उन्हें साबित करना होगा कि वह उस पद के लिए हैं भी या नहीं। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को हुए इंटरव्यू में अन्य जनपदों से पुलिस लाइन में आमद करने वाले 25 दरोगा शामिल हुए। सभी दरोगाओं का सामान्य ज्ञान देखा गया। उनका पुराना ट्रैक रिकॉर्ड देखा गया। उनसे सवाल पूछे गए। इसमें केवल चार दरोगा पास हो सके हैं। इन चारो दरोगाओं को मौके पर ही चौकी आवंटित कर दी गई है। चौकी आवंटन के साथ ही उन्हें कुछ टास्क भी दिए गए हैं।

इन दरोगाओं को मिला चौकी का चार्ज

एसएसपी ने बताया कि फिलहाल उन्हीं चौकियों के लिए इंटरव्यू हुए हैं जो पहले से खाली चल रही थीं। इंटरव्यू पास करने वाले दरोगाओं में शशि कुमार को साहिबाबाद की शालीमार गार्डन चौकी, प्रदीप सिंह को कविनगर थाना की शास्त्रीनगर चौकी, बृजेश कुमार को नगर कोतवाली की घंटाघर चौकी और राघवेंद्र सिंह को विजयनगर थाना की प्रताप विहार चौकी का प्रभारी बनाया गया है।

दो इंस्पेक्टर व नौ दारोगा नोएडा गए

जिले के दो इंस्पेक्टर व नौ दारोगा को रिक्तपूर्ति के सापेक्ष नोएडा स्थानांतरित किया गया है। नोएडा के पुलिस कमिश्नर बने एडीजी आलोक सिंह ने आइजी रेंज मेरठ रहते हुए 13 जनवरी को इनके ट्रांसफर रेंज पुलिस स्थापना बोर्ड के निर्णय पर किए थे। इंस्पेक्टर उमेश बहादुर सिंह व सुभाष सिंह के अलावा दारोगा भूपेंद्र सिंह, सलाउद्दीन, अरविंद चौधरी, शरदकांत, पवन कुमार, राजेंद्र सिंह, अभयेंद्र सिंह, राजेंद्र कुमार और दुष्यंत कुमार को नोएडा भेजा गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Now Policemen have to clear interview to become Chowki Incharge and SHO