DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी वोट मामले में पूर्व मंत्री और गुरुग्राम के डीसीपी वेस्ट को नोटिस

voting  file photo   ht

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने फर्जी वोट मामले में हरियाणा के पूर्व खेल राज्यमंत्री सुखबीर कटारिया समेत गुरुग्राम वेस्ट डीसीपी को नोटिस जारी किया है। पुलिस ने जांच के बाद पूर्व मंत्री, चुनाव विभाग के एक ब्लॉक स्तर के अधिकारी सहित 4 आरोपियों के खिलाफ चालान पेश किया था।

याचिकाकर्ता ओम प्रकाश कटारिया ने कहा कि इस मामले में जांच के दौरान सुखबीर कटारिया ने खुद चुनाव अधिकारी बनकर फर्जी दस्तावेज तैयार किया था। जिसमें शपथ पत्र दिया था कि वह नाबालिग हैं, लेकिन सुखबीर कटारिया ने अपनी उम्र 18 वर्ष से अधिक दिखाने के लिए मार्कशीट में जन्म तिथि के साथ छेड़छाड़ की थी। यहां तक कि वोट बनाने के लिए फॉर्म 6 भरा था। यह सब सुखबीर कटारिया द्वारा किया गया था। इस मामले में पुलिस जवाब नहीं देने पर उसे भी नोटिस जारी हुआ है। अब मामले की 27 नवंबर 19 को उच्च न्यायालय सुनवाई होगी। 

खुलासा : गुरुग्राम के ही एक नेता का भाई करता था गैंगस्टर कौशल की मदद

गुरुग्राम निवासी और मतदाता जागरूक मंच के अध्यक्ष ओम प्रकाश कटारिया की तरफ से कोर्ट में वकील प्रदीप रापडिया ने कहा कि पूर्व मंत्री के खिलाफ 32000 से ज्यादा फर्जी वोट बनाने के आरोपों पर वर्ष 2013 में एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। कई साल से बीत जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं होने पर याची ने सूचना के अधिकार के तहत गुरुग्राम की एसआईटी से जांच में हुई कार्यवाही की स्टेटस रिपोर्ट मांगी थी। तो गुरुग्राम पुलिस ने जवाब दिया था कि सूचना देने से जांच बाधित होगी लिहाजा जानकारी नहीं दी जा सकती।

शिकायतकर्ता को जांच की प्रगति से संबंधित सूचना देने से जांच बाधित होने का सवाल ही पैदा नहीं होता। ओम प्रकाश कटारिया ने पुलिस को दी शिकायत में राज्यमंत्री सुखबीर कटारिया व उसके सहयोगियों पर फर्जी वोट बनवाने का आरोप लगाया था। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Notice issued to ex Haryana minister and DCP West of Gurugram in fake vote case