ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRनोएडा: थार में स्टंट करना पड़ा महंगा, पुलिस ने किया गिरफ्तार, गाड़ी भी सीज

नोएडा: थार में स्टंट करना पड़ा महंगा, पुलिस ने किया गिरफ्तार, गाड़ी भी सीज

नोएडा में पिछले शनिवार से लगातार कई युवकों के कार और बाइक पर स्टंट करने के वीडियो वायरल हो रहे है। वायरल वीडियो का संज्ञान लेकर संबंधित थाना पुलिस अरोपियो के खिलाफ लगातार कार्यवाही भी कर रही है।

नोएडा: थार में स्टंट करना पड़ा महंगा, पुलिस ने किया गिरफ्तार, गाड़ी भी सीज
Shivendra Singh संवाददाता,नोएडाWed, 25 May 2022 08:34 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

नोएडा में पिछले शनिवार से लगातार कई युवकों के कार और बाइक पर स्टंट करने के वीडियो वायरल हो रहे है। वायरल वीडियो का संज्ञान लेकर संबंधित थाना पुलिस अरोपियो के खिलाफ लगातार कार्यवाही भी कर रही है। बुधवार को सेक्टर-24 थाना पुलिस ने थार में स्टंट करने वाले युवक को सिटी सेंटर से गिरफ्तार कर लिया और गाड़ी को  एमवी एक्ट के तहत सीज कर दिया है।

थार जीप में स्टंट करने के वीडियो की पुलिस ने जांच करनी शुरु की और आरोपी की तलाश शुरू की। पुलिस जांच में पता चला कि जीप गाजियाबाद में एक महिला के नाम रजिस्टर्ड थी। उन्होंने छह महीने पहले ही जीप को बेच दिया था। महिला से मिली जानकारी के बाद पुलिस को युवक के बारे में पता चला। इसके बाद पुलिस ने आरोपी आजाद को गिरफ्तार किया।

अब नही करुगां स्टंट मुझे माफ कर दो
बुधवार को स्टंट करने वाले युवक को पुलिस गिरफ्तार कर थाने पर ले आई। इस दौरान आरोपी युवक ने पुलिस से माफी मांगनी शुरु कर दी। पुलिस के अनुसार पकड़ा गया आरोपी आजाद बार-बार पुलिस से कह रहा था कि उसे माफ कर दो, आज के बाद वह कभी भी स्टंट नही करेगा। काफी देर तक युवक पुलिस से कार्यवाही ना करने की गुहार लगाता रहा और माफ करने की गुहार लगाता रहा।  

20 से 25 हजार लगेगा जुर्माना, थाने में खड़ी की गई थार
नोएडा जोन के एडीसीपी रणविजय सिंह के अनुसार पकड़े गए आरोपी के खिलाफ धारा 151 के तहत कार्यवाही कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। जहां से उसे 14 दिनो के लिए न्यायिक हिरासत में लिया गया है। इसके अलावा आरोपी की गाड़ी को भी धारा 207 एमवी एक्ट के तहत सीज किया गया है और गाड़ी घर से खींच कर थाने में खड़ा कर दिया गया है। गाड़ी अब कोर्ट के आदेश पर ही छूटेगी। गाड़ी पर न्यायालय द्दारा कम से कम  20 से 25 हजार रुपए जुर्माना लगाया जाएगा। इसके अलावा न्यायालय जुर्माने का घटा या बढ़ा भी सकते है।

epaper