DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  खुलासा : ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी-2 के फ्लैट नंबर-301 से चोरी हुआ था करोड़ों का सोना
एनसीआर

खुलासा : ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी-2 के फ्लैट नंबर-301 से चोरी हुआ था करोड़ों का सोना

नोएडा | वरिष्ठ संवाददाता Published By: Praveen Sharma
Fri, 18 Jun 2021 09:52 AM
खुलासा : ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी-2 के फ्लैट नंबर-301 से चोरी हुआ था करोड़ों का सोना

नोएडा की सबसे बड़ी चोरी ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिल्वर सिटी-2 सोसाइटी के फ्लैट नंबर-301 में हुई थी। पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि सोसाइटी के टावर नंबर-5 स्थित इसी फ्लैट से चोरों ने करोड़ों रुपये का सोना और नकदी चोरी किए थे। हालांकि, पुलिस फ्लैट से बरामदगी के मामले में चुप्पी साधे हुए है।

पुलिस के अनुसार ग्रेटर नोएडा के सिल्वर सिटी-2 सोसाइटी के फ्लैट से 23 सितंबर 2020 को चोरों ने 36 किलो सोना और छह करोड़ से ज्यादा रुपये चोरी किए थे। इस चोरी का मास्टर माइंड गोपाल को माना जा रहा है। गोपाल ने नोएडा और गाजियाबाद के साथियों की मदद से चोरी की साजिश रची। चोरों के बीच धन के बंटवारे को लेकर विवाद हो गया था। इसके बाद पुलिस ने 11 जून को छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से 13.9 किलो सोना, एक करोड़ की संपत्ति के कागजात और 57 लाख रुपये मिले थे।

आरोपी किशलय का दावा- झूठे मामले में फंसाना चाहती हैं कुछ कॉरपोरेट कंपनियां

पुलिस अभी तक संबंधित फ्लैट के बारे में जानकारी देने से बच रही थी। अब पुलिस सही फ्लैट तक पहुंच गई है। छानबीन के दौरान खुलासा हुआ है कि चोरों ने ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी-2 सोसाइटी के फ्लैट नंबर-301 से करोड़ों रुपये का सोना और कैश चोरी किया था। यह फ्लैट सोसाइटी के टावर नंबर 5 में है। हालांकि, पुलिस फ्लैट से बरामदगी के संबंध में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। जानकारी के अनुसार इस फ्लैट को अगस्त 2020 में चोरी होने के बाद जनवरी 2021 में खाली कर दिया गया था।

अभी तक दूसरे फ्लैट की छानबीन में जुटी थी पुलिस

इस मामले का खुलासा होने के बाद कालेधन के स्रोत का पता लगाने के लिए पुलिस उस फ्लैट की तलाश में जुटी थी, जहां से चोरी की गई थी। पुलिस की जांच के दौरान एक फ्लैट तक पुलिस पहुंच भी गई, लेकिन यहां से चोरी नहीं हुई थी। इसके बाद पुलिस ने सोसाइटी में और भी छानबीन की। इस दौरान सामने आया कि फ्लैट नंबर 301 से सोना और कैश चोरी किया गया था।

किशलय के करीबी ने वर्ष 2020 में किराए पर लिया था फ्लैट

पुलिस जांच में सामने आया कि फ्लैट नंबर-301 का मालिक सुभाष यादव नाम का व्यक्ति है। यह फ्लैट फरवरी 2020 में कृष्ण मुरारी नाम के योगा टीचर ने किराए पर लिया था। कृष्ण मुरारी किशलय पांडे का करीबी दोस्त है। उसका किशलय के परिवार में पिछले कई सालों से आना जाना है। अब पुलिस कृष्ण मुरारी की भी तलाश में जुट गई है ताकि उससे राममणि पांडे के बारे में पूछताछ की जा सके।

फ्लैट मालिक से पूछताछ की

पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि योगा टीचर कृष्ण मुरारी को फ्लैट के अंदर रखे सोने और कैश के बारे में जानकारी थी। इसके बारे में उसे काफी समय से पता था। हालांकि, उससे पूछताछ होने के बाद ही सच्चाई सामने आएगी इसलिए पुलिस उसके बारे में जानकारी जुटा रही है। सोसाइटी के लोगों से भी पूछताछ की गई है। साथ ही, फ्लैट मालिक से कृष्ण मुरारी के बारे में पूछताछ की गई है।

गोपाल और राममणि की तलाश में दिल्ली और गाजियाबाद में छापेमारी

क्राइम ब्रांच सहित पुलिस की 10 से ज्यादा टीम गोपाल और राममणि पांडे की तलाश में दिल्ली और गाजियाबाद में छापेमारी कर रही हैं। हालांकि, पुलिस को दोनों का सुराग नहीं लगा है। गोपाल के बारे में उसके रिश्तेदारों को भी जानकारी नहीं है। क्राइम ब्रांच की टीम को आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगा दिया। इसके अलावा मामले में फरार चल रहे आरोपियों का भी कोई पता नहीं चला है। उनके ठिकानों पर पुलिस ने दबिश भी दी है, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली।

चोरी के सूत्राधार बने कार चालक से तफ्तीश जारी

पुलिस सूत्रों के अनुसार इस मामले में किशलय पांडे के कार चालक का भी अहम रोल रहा है। उसने गोपाल को सोने और नकदी के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई थी। इस कार चालक से भी पुलिस पूछताछ कर रही है और साक्ष्य तलाशे जा रहे हैं। हालांकि, यह कार चालक वर्तमान में किशलय पांडेय के घर से नौकरी छोड़ चुका था।

''चोरों ने ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी-2 के टावर-5 स्थित फ्लैट नंबर-301 से सोना और कैश चोरी किया था। यह फ्लैट कृष्ण मुरारी नाम के व्यक्ति से किराये पर लिया था। अभी अन्य जानकारी भी जुटाई जा रही है।'' -रणविजय सिंह, एडीसीपी

चोरी हुआ सोना विदेश से तस्करी करके लाए थे बाप-बेटे? दोनों के खिलाफ कई शहरों में 12 से ज्यादा मुकदमे दर्ज

संबंधित खबरें