DA Image
27 दिसंबर, 2020|1:56|IST

अगली स्टोरी

निकिता हत्याकांड : सीएम खट्टर से की तौसिफ की संपत्ति कुर्क करने की मांग, परिवार के लिए मांगा 20 लाख रुपये मुआवजा

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में हुए निकिता हत्याकांड के आरोपियों तौसिफ, रेहान की संपत्ति कुर्क कर इन्हें जल्द से जल्द फांसी देने और पीड़ित परिवार को कम से कम 20 लाख रुपये मुआवजा देने की मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मांग की गई है।

पुलिस ने इस मामले में इस हत्याकांड में एक और आरोपी सहित अब तक कुल तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। तीसरे आरोपी अजरुद्दीन को बुधवार रात नूंह से गिरफ्तार किया गया था। अजरुद्दीन ने ही इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी तौसिफ को हथियार मुहैया कराए थे। पुलिस ने मुख्य आरोपी तौसीफ की दो दिन की रिमांड पूरी होने पर गुरुवार को अदालत में पेश किया था, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। वहीं, अजरुद्दीन को भी अदालत में पेश किया गया और उसे भी जेल भेज दिया गया। तौसिफ के साथी रेहान की रिमांड शुक्रवार को पूरी होगी और उसे कल अदालत में पेश किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार, निकिता हत्याकांड के आरोपियों को फांसी दिलाने की मांग को लेकर अखिल भारतीय हिन्दू क्रांति दल ने गुरुवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नाम गुरुग्राम जिला उपायुक्त अमित खत्री को ज्ञापन सौंपा। संगठन ने निकिता के हत्यारोपियों का केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर तत्काल फांसी की सजा देने और आरोपियों की चल-अचल संपत्ति को कुर्क किए जाने तथा मृतका के परिजनों को बीस लाख रुपये मुआवजा दिए जाने की मांग की गई। 

निकिता हत्याकांड को लेकर देश-प्रदेश में आक्रोश का माहौल है। हिन्दूवादी और सामाजिक संगठन अलग-अलग हिस्सों से निकिता के न्याय की मांग कर रहे हैं। इसके साथ ही आरोपियों के लिए जल्द से जल्द फांसी देने की मांग की जा रही है।

अखिल भारतीय हिन्दू क्रांति दल युवा मोर्चा हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप गौतम के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नाम ज्ञापन सौंपा। गत सोमवार को निकिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस में दर्ज परिजनों के बयान के मुताबिक, बीकॉम फाइनल ईयर की छात्रा निकिता दोपहर बाद करीब पौने 4 बजे पेपर देकर अग्रवाल कॉलेज के बाहर भाई का इंतजार कर रही थी। इसी दौरान कार सवार दो युवकों ने उसे जबर्दस्ती कार में बैठाकर अगवा करने की कोशिश की। अपहरण की कोशिश में नाकाम रहने के बाद बदमाश निकिता की गोली मारकर हत्या करने के बाद फरार हो गए थे।

निकिता की हत्या के लिए प्रशासन भी दोषी

वहीं, श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय चौहान ने कहा कि निकिता हत्याकांड मानवता को शर्मसार कर देनी वाली एक घटना है। फास्ट ट्रैक में केस चलाकर इसमें दोषियों को जल्द से जल्द सजा दी जाए। पीड़ित परिवार को पांच करोड़ रुपये मुआवजे के रूप में दिए जाएं और एक परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। चौहान ने आरोप लगाया कि इस हत्याकांड में कहीं न कहीं प्रशासन भी पूरी तरह से दोषी है। करणी सेना का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मिलेगा और निकिता हत्याकांड में इंसाफ की गुहार लगाएगा। 

कॉलेज ने लौटते वक्त हुई थी हत्या

गौरतलब है कि हरियाणा के फरीदाबाद में सोमवार को दिनदहाड़े कार सवार दो बदमाशों ने मिल्क प्लांट रोड पर अग्रवाल कॉलेज से परीक्षा देकर घर लौट रही बी.कॉम फाइनल ईयर की छात्रा निकिता तोमर (20 वर्षीय) की गोली मारकर हत्या कर दी थी। लहूलुहान हालत में छात्रा को पास के निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हत्या के बाद आरोपी भागने में सफल रहे। हत्या की यह वारदात घटनास्थल के पास लगे एक सीसीटीवी में कैद हो गई। घटना का वीडियो खूब वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो के अनुसार, दो लड़के छात्रा को जबरन कार में खींचने की कोशिश करते दिख रहे हैं, लेकिन जब वह कामयाब नहीं हो पाए तो उन्होंने रिवॉल्वर निकालकर छात्रा को गोली मार दी।

रसूखदार परिवार से संबंध रखता है तौसिफ

बता दें कि मुख्य आरोपी तौसिफ राजनीतिक रसूखदार परिवार से संबंध रखता है। तौसिफ के दादा कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं, जबकि चाचा खुर्शीद अहमद हरियाणा के पूर्व मंत्री रहे हैं। वहीं, एक अन्य रिश्तेदार (रिश्ते में भाई) आफताब अहमद वर्तमान में कांग्रेस के नूंह (मेवात) से विधायक हैं। 21 वर्षीय तौसिफ फिजियो थेरेपिस्ट का कोर्स कर रहा है जोकि थर्ड ईयर में है। वारदात में शामिल दूसरा आरोपी रेहान निवासी रेवासन जिला नूंह का रहने वाला है और वह तौसिफ का दोस्त है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Nikita Murder Case : Akhil Bhartiya Hindu Kranti Dal demands of Rs 20 lakh to victim s family by attaching the property of killers