ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRमहिला सिपाही से 60 लाख रुपये ठगने वाला ‘योग्य वर’ निकला नाइजीरियन, खुद को कनाडा का NRI बताकर दिया था शादी का झांसा

महिला सिपाही से 60 लाख रुपये ठगने वाला ‘योग्य वर’ निकला नाइजीरियन, खुद को कनाडा का NRI बताकर दिया था शादी का झांसा

पुलिस ने बताया कि आरोपी ठगी के पैसे को तुरंत नाइजीरिया ट्रांसफर कर देते थे। खुद के खर्चे के लिए ही अपने पास पैसा रखते थे। उन्होंने बताया कि आरोपी ने ठगी के पैसे से नाइजीरिया में आलीशान घर बनाया है।

महिला सिपाही से 60 लाख रुपये ठगने वाला ‘योग्य वर’ निकला नाइजीरियन, खुद को कनाडा का NRI बताकर दिया था शादी का झांसा
Praveen Sharmaनोएडा | हिन्दुस्तानSat, 28 May 2022 10:53 AM

नोएडा की साइबर क्राइम थाना पुलिस ने मैट्रिमोनियल साइट पर युवतियों से दोस्ती कर शादी करने का झांसा देकर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले गिरोह के नाइजीरियन ठग को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने असम राइफल में तैनात महिला सिपाही को शादी का झांसा देकर 60 लाख रुपये ठग लिए थे।

एसपी साइबर क्राइम त्रिवेणी सिंह ने बताया कि मेरठ के दौराला स्थित समौली रोड निवासी नेहा असम राइफल में सिपाही हैं। 3 मई 2021 को उनके पति का हार्टअटैक से देहांत हो गया था। परिजनों और रिश्तेदारों के कहने पर उन्होंने सितंबर 2021 में एक मैट्रिमोनियल साइट पर प्रोफाइल बनाई थी। प्रोफाइल देखकर संजय सिंह नाम के व्यक्ति ने उनसे संपर्क किया। आरोपी ने बताया कि वह कनाडा का एनआरआई है।

आरोपी ने शादी करने का झांसा देकर विभिन्न बहानों से उनसे 60 लाख रुपये ठग लिए थे। साइबर क्राइम थाना पुलिस ने केस दर्ज कर जांच के दौरान शुक्रवार को दिल्ली के वसंत कुंज किशनगढ़ से नाइजीरियाई के गरुबा गुलमजे को गिरफ्तार किया। गरुबा ने ही खुद को एनआरआई बताकर महिला सिपाही से 60 लाख रुपये ठगे थे। पुलिस ने उससे ठगी में इस्तेमाल लैपटॉप, सात मोबाइल, एक पासपोर्ट, अमेरिका की एफबीआई सहित 15 विदेशी एजेंसियों के फर्जी दस्तावेज बरामद किए हैं।

आरोपी का वीजा खत्म : गरुबा ने बताया कि वह बालों का व्यापार करने के लिए बिजनेस वीजा पर भारत आया था। उसने कहा कि वह भारतीयों के बाल नाइजीरिया ले जाकर बेचता था। नाइजीरिया में भारतीय के बालों को काफी पसंद किया जाता है। हालांकि, पुलिस आरोपी की बात पर भरोसा नहीं कर रही है। पुलिस का कहना है कि एक साल पहले आरोपी का वीजा खत्म हो गया था, तब से आरोपी अवैध रूप से भारत में रहता था। आरोपी पहली बार भारत में मेडिकल वीजा पर आया। उसके बाद बिजनेस वीजा पर भारत आया।

ठगी के पैसे से नाइजीरिया में बनाया शानदार घर : थाना प्रभारी रीता यादव ने बताया कि आरोपी ठगी के पैसे को तुरंत नाइजीरिया ट्रांसफर कर देते थे। सिर्फ खुद के खर्चे के लिए ही अपने पास पैसा रखते थे। उन्होंने बताया कि आरोपी ने ठगी के पैसे से नाइजीरिया में आलीशान घर बनाया है। यहां पर उसकी पत्नी व बच्चे रहते हैं।

फर्जी प्रोफाइल से फंसाया

पुलिस पूछताछ में ठग ने खुलासा किया कि उनके गिरोह के ठग विभिन्न मैट्रिमोनियल साइट पर फर्जी प्रोफाइल बनाते हैं। प्रोफाइल पर किसी भारतीय युवक की फोटो लगाकर युवतियों से संपर्क करते हैं। फिर खुद को एनआरआई व्यापारी बताकर युवती को झांसे में लेकर शादी करने की बात करते हैं। युवतियों को भरोसे में लेने के बाद आरोपी विभिन्न बहानों से उनसे लाखों रुपये ठग लेते थे।

500 युवतियों को ठगा

पुलिस के अनुसार, गिरोह पिछले तीन साल में देशभर की 500 से ज्यादा युवतियों को अपना शिकार बना चुका है। आरोपी 80 से 90 करोड़ रुपये की ठगी कर चुके हैं। पुलिस को ठग गरुबा के लैपटॉप व मोबाइल से करीब 366 युवतियों की जानकारी मिली है। आरोपी ने इन सभी के साथ ठगी की है। पुलिस उन बैंक खातों की भी जानकारी जुटा रही है, जिनमें आरोपी पैसे ट्रांसफर कराते थे।

इस तरह हड़पी रकम

पूछताछ में पता चला है कि युवतियों को अपने जाल में फंसाने के बाद आरोपी विभिन्न बहानों से ठगी करता था। आरोपी शादी करने का झांसा देकर, बीमारी के बहाने और विदेश से महंगे उपहार भेजने सहित अन्य तरीकों से पैसे ऐंठता था। आरोपी फर्जी बैंक खातों में पीड़ितों से पैसे ट्रांसफर कराते थे।

संपर्क करते वक्त इन बातों का ध्यान रखें

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि अगर आप अपने लिए या परिवार के किसी सदस्य की शादी के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन विज्ञापन देख रहे हैं या विदेश में कारोबार करना चाहते हैं तो सावधानी बरतें। हर प्रोफाइल पर भरोसा न करें, किसी से भी लेन-देन करने से पहले उसके परिवार से मिल लें। उसके बारे में जान लें तथा देख लें कि आप जिससे बात कर रहे हैं वह कौन है, कहीं कोई फर्जी प्रोफाइल डालकर तो आपसे बात नहीं कर रहा।

यहां शिकायत करें : अगर आपके साथ साइबर ठगी की घटना हो जाती है तो साइबर सेल के 1930 नंबर पर कॉल करके शिकायत दर्ज करा सकते हैं। www.cybercrime.gov.in पर जाकर ऑनलाइन रिपोर्ट भी दर्ज करवा सकते हैं। इसके अलावा अपने नजदीकी थाने में जाकर भी घटना की शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

epaper