DA Image
13 जनवरी, 2021|7:24|IST

अगली स्टोरी

खुलासा : खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट ने रची थी हिन्दू नेता की हत्या की साजिश, NIA ने तीन लोगों के खिलाफ दायर की चार्जशीट

nia

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने लुधियाना में वर्ष 2017 में हिन्दू नेता अमित शर्मा की हत्या के मामले में तीन लोगों के खिलाफ अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया है। इस आरोपपत्र में एनआईए ने इस कृत्य को आतंकवादी गतिविधि करार दिया है। एनआईए का कहना है कि इस हत्या की साजिश खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट (केएलएफ) ने रची थी।

एनआईए ने इस मामले में कथित हथियार सप्लायर आशीष कुमार, जावेद एवं अरशद अली को आरोपी बनाया है। ये भी आरोपी उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले हैं। एनआईए द्वारा दाखिल आरोपपत्र के मुताबिक, जनवरी 2017 में दो अज्ञात मोटरसाइकिल सवार लोगों ने श्री हिन्दु तख्त के अध्यक्ष अमित शर्मा की हत्या कर दी थी। इस हत्या की साजिश आतंकी संगठन केएलएफ ने रची थी।

एनआईए का कहना है कि वर्ष 2016-2017 के बीच पंजाब में इस तरह लगातार आठ लोगों की हत्या की गई थी। इनका मकसद लोगों में दहशत फैलाना व साम्प्रदायिक उन्माद को बढ़ावा देना था। इस मामले की जांच एनआईए को सौंपी गई थी। साथ ही इस मामले को दिल्ली की अदालत में स्थानांतरित कर दिया गया था, क्योंकि यह मामला कथिततौर पर आतंकी गतिविधि से संबंधित था।

एनआईए ने इसी संबंध में बुधवार को एक विस्तृत आरोपपत्र पटियाला हाउस अदालत के समक्ष पेश किया। अदालत ने इस आरोपपत्र को बहरहाल स्वीकार कर लिया है। इस आरोपपत्र पर संज्ञान अगली तारीख पर लिया जाएगा। ज्ञात रहे कि इससे पहले एनआईए ने वर्ष 2018 में इसी मामले में 15 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया था। एनआईए का कहना है कि पंजाब में आतंकी संगठन द्वारा जो हत्याएं की गईं उनके लिए इन तीनों आरोपियों ने हथियारों की सप्लाई की थी। इनमें .32 बोर की पिस्तौल आदि हथियार शामिल थे।

ये लगे हैं आरोप

- आपराधिक साजिश
- गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कानून(यूएपीए)
- आतंकी गतिविधि में शामिल हाेने की धारा 16, 18 व 20
- आर्म्स एक्ट की विभिन्न धाराएं

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:NIA files charge sheet against three in murder case of Hindu Takht leader in Ludhiana in 2017